वाहन चलाते समय बिल्कुल न करें ये काम, वरना भरना पड़ सकता है 15,000 का जुर्माना, ट्रैफिक पुलिस ने दी चेतावनी

वाहन चलाते समय बिल्कुल न करें ये काम, वरना भरना पड़ सकता है 15,000 का जुर्माना, ट्रैफिक पुलिस ने दी चेतावनी

ट्रैफिक पुलिस की चेतावनी की बात की जाए तो यह उत्तर प्रदेश यातायात पुलिस की ओर से दी गई है। उत्तर प्रदेश यातायात पुलिस ने चेतावनी भरे लहजे में कहा कि वाहन चलाते समय मादक पदार्थों का सेवन न करें और न ही अपने साथ बैठी सवारी को मादक पदार्थ का सेवन करने दें। यह घातक हो सकता है।

अगर आप भी यातायात के नियमों का पालन नहीं करते और उसे तोड़ते हैं तो ऐसी गलती अगली बार मत कीजिएगा। अब ऐसा करना आपको भारी पड़ने वाला है। हम अक्सर यातायात नियमों की अनदेखी करके उनको तोड़ते हैं लेकिन अगर अब आपने ऐसी गलती की तो यह आपको बहुत भारी पड़ेगी। यातायात नियमों को लेकर ट्रैफिक पुलिस ने लोगों को कड़ी चेतावनी दी है। वहीं पुलिस इस मामले में बहुत सख्त भी हो गई है। चालान की राशि भी बढ़ा दी गई है, और नियम तोड़ने के मामले में आप को जेल की हवा भी खानी पड़ सकती है।

ट्रैफिक पुलिस की चेतावनी की बात की जाए तो यह उत्तर प्रदेश यातायात पुलिस की ओर से दी गई है। उत्तर प्रदेश यातायात पुलिस ने चेतावनी भरे लहजे में कहा कि वाहन चलाते समय मादक पदार्थों का सेवन न करें और न ही अपने साथ बैठी सवारी को मादक पदार्थ का सेवन करने दें। यह घातक हो सकता है। शराब पीकर गाड़ी चलाने वालों को 2 साल की जेल और 15000 का भारी जुर्माना भरना पड़ सकता है। बात अगर मोटर वाहन अधिनियम की करें तो इसकी धारा 185 के मुताबिक पहली बार ऐसा करने पर आपको 10000 का जुर्माना और 6 महीने की जेल हो सकती है। और फिर अगर आपने दोबारा ऐसी गलती की तो आपको 2 साल की जेल और 15000 का जुर्माना भरना पड़ सकता है।

चालान स्टेटस इस तरह करें पता

कई बार हमारा ऑनलाइन चालान काट लिया जाता है और हमें पता नहीं होता। इसकी जानकारी हमें एसएमएस के जरिए मिलती है। अगर आपको भी कटे हुए ऑनलाइन चालान के बारे में पता करना है तो इस प्रोसेस को अपनाकर आप अपना ई- चालान पता कर सकते हैं।

सबसे पहले e challan.parivahan.gov.in की वेबसाइट पर जाएं।

इसके बाद वेबसाइट पर मौजूद चालान स्टेटस के ऑप्शन पर क्लिक करें।

इसके बाद आपको चालान नंबर, वाहन नंबर और ड्राइविंग लाइसेंस का ऑप्शन स्क्रीन पर नजर आएगा।

आप वाहन नंबर वाले ऑप्शन पर क्लिक करें।

फिर आप यहां पर अपना वाहन रजिस्ट्रेशन नंबर दर्ज करें करें।

इसके बाद कैप्चा कोड होगा जिसे भर दें।

फिर आप गेट डिटेल के ऑप्शन पर क्लिक करें।

उसके बाद आपको पता चल जाएगा कि आपका चालान काटा गया है या नहीं।






Prabhasakshi logoखबरें और भी हैं...

ट्रेंडिंग

झरोखे से...