• मोदी मंत्रिमंडल में महिला मंत्रियों का दबदबा, जानिए इनके बारे में

जहाँ मोदी कैबिनेट में पहले पांच महिलाएं शामिल थीं, वहीं अब मोदी कैबिनेट में कुल 11 महिला मंत्री हैं। हाल ही में नए मंत्रिपरिषद में सात महिला सांसदों ने राज्य मंत्री (MoS) के रूप में शपथ ली।

आज के समय में महिलाऐं हर क्षेत्र में पुरुषों के साथ कंधे से कंधा मिलाकर चल रही हैं। तमाम मुश्किलों का सामना करते हुए महिलाऐं हर क्षेत्र में नई बुलंदियों को छू रही हैं। हाल ही में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के मंत्रिमंडल में विस्तार हुआ है, जिसमें महिलाओं के प्रतिनिधित्व पर जोर दिया गया। जहाँ मोदी कैबिनेट में पहले पांच महिलाएं शामिल थीं, वहीं अब मोदी कैबिनेट में कुल 11 महिला मंत्री हैं। हाल ही में नए मंत्रिपरिषद में सात महिला सांसदों ने राज्य मंत्री (MoS) के रूप में शपथ ली। आइए जानते हैं इन महिला मंत्रियों के बारे में -

मीनाक्षी लेखी 

मीनाक्षी लेखी प्रमुख दिल्ली भाजपा नेता है। सांसद के रूप में अपना दूसरा कार्यकाल की सेवा करते हुए, मीनाक्षी, नई दिल्ली नगर निगम की सदस्य रही हैं। पेशे से वह सुप्रीम कोर्ट की वकील हैं। उन्होंने दिल्ली यूनिवर्सिटी से एलएलबी की पढ़ाई की है। मीनाक्षी को विदेश मंत्रालय (MEA) और संस्कृति मंत्रालय में MoS के रूप में प्रभार दिया गया है।

अनुप्रिया सिंह पटेल 

उत्तर प्रदेश के मिर्जापुर से लोकसभा सांसद, अनुप्रिया सिंह पटेल को वाणिज्य और उद्योग मंत्रालय में MoS नियुक्त किया गया है। अनुप्रिया सिंह पटेल, सांसद के रूप में अपना दूसरा कार्यकाल पूरा कर रही हैं। उन्होंने पीएम नरेंद्र मोदी के तहत केंद्रीय स्वास्थ्य राज्य मंत्री के रूप में कार्य किया है। वह उत्तर प्रदेश में विधायक भी रह चुकी हैं। उन्होंने छत्रपति शाहूजी महाराज विश्वविद्यालय से एमबीए की डिग्री हासिल की है। राजनीति में आने से पहले, उन्होंने एमिटी यूनिवर्सिटी में प्रोफेसर के रूप में काम किया।


सुश्री प्रतिमा भौमिक

सुश्री प्रतिमा भौमिक, त्रिपुरा पश्चिम से लोकसभा सांसद हैं और सांसद के रूप में अपना पहला कार्यकाल पूरा कर रही हैं। सुश्री प्रतिमा भौमिक एक किसान परिवार से आती हैं। उन्होंने त्रिपुरा विश्वविद्यालय के महिला कॉलेज से जैव-विज्ञान में स्नातक की डिग्री प्राप्त की है। उन्हें राज्य मंत्री (MoS) के रूप में सामाजिक न्याय और अधिकारिता मंत्रालय का प्रभार दिया गया है।

सुश्री शोभा करंदलाजे

सुश्री शोभा करंदलाजे, कर्नाटक के चिकमगलूर के उडुपी से लोकसभा सांसद है। पूर्व राज्य मंत्री अब सांसद के रूप में अपना दूसरा कार्यकाल पूरा कर रही हैं। मोदी कैबिनेट में करंदलाजे को कृषि और किसान कल्याण मंत्रालय में राज्य मंत्री के रूप में प्रभार दिया गया है। वह कर्नाटक में 1 बार विधायक और 1 बार एमएलसी भी रह चुकी हैं। वह पहले राज्य मंत्री थीं और उन्होंने खाद्य और नागरिक आपूर्ति, बिजली, ग्रामीण विकास और पंचायती राज प्रणाली सहित कई विभागों को संभाला। उन्होंने मैंगलोर विश्वविद्यालय से समाजशास्त्र में एमए की डिग्री प्राप्त की है।

अन्नपूर्णा देवी

चार बार विधायक रह चुकीं, अन्नपूर्णा देवी वर्तमान में झारखंड के कोडरमा से लोकसभा सांसद हैं। उन्होंने झारखंड सरकार में मंत्री के रूप में सिंचाई और महिला एवं बाल कल्याण जैसे विभागों को संभाला है। अन्नपूर्णा देवी को शिक्षा मंत्रालय में MoS नियुक्त किया गया है।

दर्शन जर्दोशो

गुजरात के सूरत से तीन बार की सांसद, दर्शन जरदोश को कपड़ा मंत्रालय और रेल मंत्रालय में MoS के रूप में नियुक्त किया गया है। लोकसभा के लिए अपने चुनाव से पहले, जरदोश सूरत नगर निगम की पार्षद थीं और गुजरात समाज कल्याण बोर्ड की सदस्य भी थीं।


डॉ भारती प्रवीण पवार

डॉ भारती पवार महाराष्ट्र के डिंडोरी से पहली बार लोकसभा सांसद हैं। एक सांसद के रूप में अपना पहला कार्यकाल देने वाली, भारती ने नासिक जिला परिषद के सदस्य के रूप में कार्य किया है। पेशे से वह एक डॉक्टर हैं और उन्होंने सर्जरी में एमबीबीएस की डिग्री हासिल की है। भारती पवार को स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्रालय में MoS नियुक्त किया गया है।