स्विट्जरलैंड ने दी ऐसी मशीन को मंजूरी जिससे बिना दर्द 1 मिनट में हो जाएगी मौत

स्विट्जरलैंड ने दी ऐसी मशीन को मंजूरी  जिससे बिना दर्द 1 मिनट में हो जाएगी मौत

इस मशीन को यूजर को अपनी पसंदीदा जगह पर ले जाना होगा। इसके बाद मशीन का नष्ट होने योग्य कैप्सूल अलग हो जाता है ताकि उसे ताबूत की तरह उपयोग किया जा सके। यह आत्महत्या की मशीन बनाने का विचार गैर लाभकारी संस्था एग्जिट इंटरनेशनल के निदेशक और डॉक्टर डेथ कहे जाने वाले फिलीप निटस्चके ने दिया है।

स्विट्जरलैंड  में ऐसी मशीन को कानूनी मान्यता दी गई है। जिसको बनाने वालों ने यह दावा किया है कि 1 मिनट में बिना दर्द के शांतिपूर्ण मौत दे सकती है। इस मशीन को एग्जिट इंटरनेशनल संस्था के द्वारा बनाया गया है।  स्विट्जरलैंड ने ताबूत के आकार वाली इस मशीन को मंजूरी दे दी है। 

बताया जा रहा है कि मशीन के अंदर ऑक्सीजन का स्तर बहुत कम हो जाता है जिससे इंसान हायपोक्सिया और हाइपोकेनिया  से मर जाता है। इस मशीन को अंदर बैठकर भी संचालित किया जा सकता है। यह मशीन ऐसे मरीजों के लिए मददगार है जो बीमारी के कारण बोल या हिल नहीं पाते।

इस मशीन को यूजर को अपनी पसंदीदा जगह पर ले जाना होगा। इसके बाद मशीन का नष्ट होने योग्य कैप्सूल अलग हो जाता है ताकि उसे ताबूत की तरह उपयोग किया जा सके। यह आत्महत्या की मशीन बनाने का विचार गैर लाभकारी संस्था एग्जिट इंटरनेशनल के निदेशक और डॉक्टर डेथ कहे जाने वाले फिलीप निटस्चके ने दिया है।

आपको बता दें कि स्विट्जरलैंड में मदद के साथ आत्महत्या करना कानूनी माना जाता है। पिछले साल दो लोगों ने इस सेवा का इस्तेमाल आत्महत्या करने के लिए किया। डॉक्टर डेथ का कहना है कि, अगर कोई कठिनाई नहीं हुए तो हम अगले साल तक   मशीन को देश में मुहैया करा देंगे।  दूसरी ओर डॉक्टर डेथ की बड़े पैमाने पर लोग आलोचना भी कर रहे हैं। लोग उनके मशीन में इस्तेमाल किए जाने वाले तरीके को गलत बता रहे हैं। लोगों का कहना है कि यह एक गैस चेंबर की तरह ही है। कुछ लोगों का कहना है कि यह आत्महत्या को बढ़ावा देती है। अभी सार्को प्रोटोटाइप बनकर तैयार हो गया है। अब तीसरी मशीन को बनाया जा रहा है जो अगले साल तक तैयार हो जाएगी।






Prabhasakshi logoखबरें और भी हैं...

ट्रेंडिंग

झरोखे से...