Unlock 3 के 28वें दिन स्वस्थ होने की दर बढ़कर 76.28 और मृत्यु दर गिरकर 1.82 फीसद पर

Unlock 3 के 28वें दिन स्वस्थ होने की दर बढ़कर 76.28 और मृत्यु दर गिरकर 1.82 फीसद पर

मध्य प्रदेश में कोविड-19 से सबसे ज्यादा प्रभावित इंदौर में सीरो-सर्वेक्षण से पता चला है कि इसमें शामिल 7.72 फीसद प्रतिभागियों के शरीर में कोरोना वायरस के खिलाफ एंटीबॉडी विकसित हुई हैं। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने सर्वेक्षण के नतीजों को सार्वजनिक किया।

केंद्रीय स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्री डॉ. हर्षवर्धन ने शुक्रवार को कहा कि देश में कोविड-19 से मरीजों के उबरने की दर बढ़कर 76.28 प्रतिशत पर पहुंच गयी है, लेकिन इस महामारी के खिलाफ जारी जंग हल्के में नहीं ली जानी चाहिए। वह इंदौर में केंद्र और राज्य सरकार के आपसी सहयोग से तैयार सुपर स्पेशलिटी अस्पताल के लोकार्पण समारोह को वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिये संबोधित कर रहे थे। राज्य में कोविड-19 से सबसे ज्यादा प्रभावित जिले में यह अस्पताल दो साल के भीतर करीब 237 करोड़ रुपये की लागत से बनकर तैयार हुआ है। इसे फिलहाल केवल महामारी के इलाज के लिए शुरू किया गया है। हर्षवर्धन ने लोकार्पण समारोह में कहा, "देश में कोविड-19 के मरीजों के ठीक होने की दर बढ़कर 76.28 प्रतिशत पर पहुंच गया गई है, जबकि मृत्यु दर 1.82 फीसद रह गई है। महामारी की यह मृत्यु दर दुनिया में सबसे कम है।" उन्होंने बताया कि देशवासियों में कोरोना वायरस संक्रमण का पता लगाने के लिए करीब चार करोड़ नमूनों की जांच की गयी है। इनमें से नौ लाख जांच अकेले बृहस्पतिवार को की गयीं। स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्री ने कहा, "भारत में कोविड-19 से निपटने के लिए पूरी दुनिया के मुकाबले बेहतर इंतजाम होने के बावजूद हमें इस महामारी के खिलाफ जारी जंग को अब भी हल्के में नहीं लेना है।" उन्होंने सियासी नेताओं से अपील की कि वे अपने-अपने क्षेत्रों में आम लोगों को महामारी के खिलाफ जागरूक करें और उन्हें सरकारी दिशा-निर्देशों के पालन के लिए प्रेरित करें। हर्षवर्धन ने कहा, "मुझे पूरा विश्वास है कि अगर हम सब लोग मिलकर प्रयास करेंगे, तो हमें प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में कोरोना वायरस के खिलाफ जारी युद्ध में आने वाले समय में सफलता मिलेगी।’’ उन्होंने बताया कि देशभर में 75 सुपर स्पेशलिटी अस्पताल बनाने की योजना पर तेजी से काम जारी है। मध्य प्रदेश में कोविड-19 की मौजूदा स्थिति का जिक्र करते हुए हर्षवर्धन ने कहा कि राज्य के चार-पांच स्थानों पर महामारी के अपेक्षाकृत ज्यादा मामले सामने आ रहे हैं। केंद्र सरकार इन स्थानों पर विशेष ध्यान देगी ताकि महामारी के खिलाफ जारी युद्ध में व्यापक सफलता मिल सके। उन्होंने यह भी बताया कि कोविड-19 के प्रकोप के मद्देनजर प्रदेश की राजधानी भोपाल में राष्ट्रीय रोग नियंत्रण केंद्र (एनसीडीसी) की शाखा इसी साल खोलने का प्रयास किया जा रहा है। इसके लिए राज्य सरकार ने केंद्र को 12,000 वर्ग फुट जगह प्रदान की है। केंद्रीय मंत्री ने बताया कि एनसीडीसी की प्रस्तावित शाखा अत्याधुनिक प्रयोगशाला से लैस होगी जिसके जरिये कोरोना वायरस संक्रमण और अन्य बीमारियों की जांच व अनुसंधान को बढ़ावा मिलेगा। उन्होंने बताया कि मोदी सरकार की मदद से मध्य प्रदेश में 14 नए मेडिकल कॉलेजों को विकसित किया जा रहा है। कार्यक्रम में केंद्रीय स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण राज्य मंत्री अश्विनी कुमार चौबे भी वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिये शामिल हुए। इस अवसर पर यहां कार्यक्रम स्थल पर राज्य के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान और अन्य वरिष्ठ जनप्रतिनिधि मौजूद थे।

कांग्रेस सांसद वसंतकुमार का कोरोना से निधन

कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी और पार्टी के कई अन्य वरिष्ठ नेताओं ने कन्याकुमारी से पार्टी के लोकसभा सदस्य एच वसंतकुमार के निधन पर शुक्रवार को दुख जताया एवं उनके प्रियजनों के प्रति संवेदना प्रकट की। वसंतकुमार का शुक्रवार को चेन्नई के एक अस्पताल में कोविड-19 से निधन हो गया। वह 70 साल के थे। राहुल गांधी ने उनके निधन पर दुख प्रकट करते हुए ट्वीट किया, ''कोविड-19 के कारण कन्याकुमारी से सांसद एच वसंतकुमार के निधन की खबर सुनकर स्तब्ध रह गया। लोगों की सेवा करने की कांग्रेस की विचारधारा के प्रति उनकी प्रतिबद्धता हमेशा हमारे दिलों में रहेगी। उनके परिजन और मित्रों के प्रति मेरी गहरी संवेदना है।’’ कांगेस के वरिष्ठ नेता अहमद पटेल, पार्टी के मुख्य प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला और कई अन्य नेताओं ने भी वसंतकुमार के निधन पर दुख प्रकट किया। वसंतकुमार दो बार विधायक भी रहे हैं और 2019 के लोकसभा चुनाव में निर्वाचित हुए थे।

गोवा में कोरोना वायरस के 523 नये मामले

गोवा में शुक्रवार को कोरोना वायरस के 523 नये मामले सामने आये, जिससे राज्य में कुल मामलों की संख्या 16,006 हो गयी। स्वास्थ्य विभाग ने यह जानकारी दी। विभाग ने बताया कि राज्य में कोविड-19 के चार और रोगियों की मौत के बाद मरने वालों की संख्या 175 हो गयी। उसने कहा कि एक दिन में 429 रोगियों को अस्पतालों से छुट्टी देने के बाद राज्य में स्वस्थ हुए संक्रमितों की संख्या 12,296 हो गयी है। एक अधिकारी ने बताया कि राज्य सरकार ने स्वस्थ हुए रोगियों को उनका प्लाज्मा दान करने के लिए प्रोत्साहित करने के लिहाज से विशेष अभियान चलाने का फैसला किया है।

बिहार में संक्रमण के कुल मामले 1.30 लाख के पार

बिहार में शुक्रवार को कोविड-19 संक्रमण के 1,998 नए मामले सामने आने के बाद कुल मामलों का आंकड़ा 1.30 लाख के पार चला गया। वहीं संक्रमण से ठीक होने की दर 85.94 प्रतिशत हो गई। स्वास्थ्य विभाग से यह जानकारी मिली। बुलेटिन के अनुसार पिछले 24 घंटों में राज्य में कुल 12 लोगों की इस संक्रमण के कारण मौत हो गई। राज्य में अब तक कुल 1,12,445 लोग इस संक्रमण से उबर चुके हैं और वर्तमान में राज्य में 17,728 मरीज उपचाराधीन हैं। पिछले 24 घंटों में राज्य में 1,05,766 नमूनों की जांच की गई है। अब तक कुल 28.82 लाख नमूनों की जांच की जा चुकी है। पटना में कोरोना वायरस के सर्वाधिक 296 नए मरीज मिले हैं जबकि भागलपुर में 121, पूर्वी चंपारण में 94, किसनगंज में 88 और पूर्णिया में 87 नए मरीज मिले हैं। पटना में अब तक संक्रमण के सर्वाधिक 20,317 मरीजों की पुष्टि हुई है जिनमें से 154 मरीजों की मौत हो चुकी है।

इसे भी पढ़ें: लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला ने मानसून सत्र से पहले कोरोना को लेकर तैयारियों का लिया जायजा

मेघालय में 111 नए मामले

मेघालय में 21 सुरक्षा कर्मियों समेत 111 और लोगों में कोरोना वायरस संक्रमण की पुष्टि होने के बाद शुक्रवार को कोविड-19 के कुल मामलों की संख्या बढ़कर 2,240 हो गई। एक स्वास्थ्य अधिकारी ने यह जानकारी दी। उन्होंने कहा कि संक्रमण के नए मामलों में सीमा सुरक्षा बल (बीएसफ) के 19 जवान और सशस्त्र सेनाओं के दो कर्मी शामिल हैं। स्वास्थ्य सेवा विभाग के निदेशक अमन वार ने कहा कि पूर्वी खासी हिल्स्स जिले में संक्रमण के 47 नए मामले सामने आए। उन्होंने कहा कि पूर्वी गारो हिल्स में 32, पश्चिमी गारो हिल्स में 23, उत्तरी गारो हिल्स और पूर्वी जयंतिया हिल्स में तीन-तीन, री भोई में दो और पश्चिमी खासी हिल्स जिले में एक मामला सामने आया। उन्होंने कहा कि कोविड-19 के 59 और मरीज ठीक हो गए। अब तक राज्य में कोविड-19 के 958 मरीज ठीक हो चुके हैं और दस की मौत हो चुकी है। अधिकारी ने कहा कि राज्य में अभी 1,272 मरीजों का इलाज चल रहा है।

आंध्र प्रदेश में कोविड-19 के मामले चार लाख के पार

आंध्र प्रदेश में शुक्रवार को लगातार तीसरे दिन कोविड-19 के 10,000 नये मामले सामने आने के बाद राज्य में कुल रोगियों की संख्या चार लाख के आंकड़े को पार कर गयी है। सरकार के ताजा बुलेटिन में बताया गया कि राज्य में अब तक कोरोना वायरस संक्रमण से उबर चुके लोगों की संख्या भी तीन लाख से अधिक हो चुकी है। आंध्र प्रदेश में जिस तेजी से कोविड-19 के मामले आ रहे हैं, अगर यह रफ्तार जारी रही तो माना जा रहा है कि वह संक्रमण के कुल मामलों के लिहाज से देश में महाराष्ट्र के बाद दूसरे स्थान पर पहुंच सकता है। अभी तमिलनाडु दूसरे नंबर पर है जहां बृहस्पतिवार को संक्रमितों की संख्या चार लाख से अधिक हो गयी थी। बुलेटिन के अनुसार आंध्र प्रदेश में शुक्रवार को कोविड-19 के 10,526 नये मामले सामने आने के साथ ही कुल मामलों की संख्या 4,03,616 हो गयी, वहीं अब तक स्वस्थ हुए लोगों की संख्या 3,03,711 पहुंच गयी। राज्य में संक्रमण से अब तक 3,714 लोगों की मृत्यु हो गयी है। बुलेटिन के मुताबिक राज्य में इस समय 96,191 रोगी हैं।

1,000 रुपये का जुर्माना लगाने पर विचार

महाराष्ट्र के उप मुख्यमंत्री अजीत पवार ने शुक्रवार को कहा कि सरकार मास्क नहीं पहनने वालों पर 1,000 रुपये का भारी जुर्माना लगाने के बारे में सोच रही है। वह पिंपरी-चिंचवाड़ क्षेत्र में एक कोविड-19 अस्पताल के उद्घाटन के अवसर पर बोल रहे थे। वर्तमान में, राज्य में मास्क नहीं पहनने पर जुर्माना 200 रुपये से 500 रुपये तक है। पवार ने कहा कि लोगों को कोरोना वायरस संक्रमण को फैलने से रोकने के लिए सामाजिक दूरी के नियम का पालन करना चाहिए और मास्क का उपयोग करना चाहिए। उन्होंने कहा, ‘‘राज्य में कई ऐसे स्थान हैं जहाँ लोग मास्क का इस्तेमाल उस तरह से नहीं करते हैं जैसा कि उम्मीद की जाती है। हम अब पुणे शहर, पिंपरी चिंचवाड़ और जिले में मास्क का उपयोग नहीं करने वालों पर 1,000 रुपये का जुर्माना लगाने की सोच रहे हैं।’’ उन्होंने कहा कि डॉक्टर, स्वास्थ्य कर्मी, जिला और नगर प्रशासन और निर्वाचित प्रतिनिधि महामारी के खिलाफ लड़ाई में बहुत अधिक प्रयास कर रहे हैं, लेकिन इसे लोगों के सहयोग के बिना नहीं जीता जा सकता। पिंपरी चिंचवाड़ नगर निगम ने चिंचवाड़ के ऑटोक्लस्टर में कोविड-19 अस्पताल को स्थापित किया है।

महाराष्ट्र में 14,361 नए मामले

महाराष्ट्र में शुक्रवार को कोरोना वायरस संक्रमण के 14,361 नए मामले सामने आए और इसके साथ संक्रमित लोगों की कुल संख्या बढ़कर 7,47,995 हो गयी। राज्य के स्वास्थ्य विभाग के एक अधिकारी ने यह जानकारी दी। उन्होंने कहा कि इस वायरस की वजह से राज्य में मृतकों की संख्या बढ़कर 23,775 तक पहुंच गयी। राज्य में एक दिन में 331 मरीजों की मौत हो गयी। राज्य में अभी 1,80,718 लोग वायरस से संक्रमित हैं। इस बीच स्वस्थ होने के बाद 11,607 लोगों को छुट्टी दे दी गई। स्वस्थ हो चुके मरीजों की संख्या 5,43,170 हो गई है। राज्य की राजधानी मुंबई में दिन में संक्रमण के 1,217 नए मामले सामने आए और 30 मरीजों की मौत हो गयी। शहर में संक्रमित लोगों की कुल संख्या 1,42,108 तक पहुंच गई वहीं मृतकों का आंकड़ा बढ़कर 7,565 हो गया। उन्होंने कहा कि मुंबई में अभी 19,407 लोग वायरस से संक्रमित हैं। पुणे शहर में शुक्रवार को 1,795 नए मामले सामने आए और 22 मरीजों की मौत हो गयी। राज्य में अब तक 39,32,522 परीक्षण किए गए हैं।

कर्नाटक में कोविड-19 के 8,960 नये मामले

कर्नाटक में शुक्रवार को कोविड-19 के 8,960 नये मरीज आने के साथ राज्य में कुल संक्रमितों की संख्या बढ़कर 3.18 लाख हो गई। स्वास्थ्य विभाग ने बताया कि शुक्रवार को कोरोना वायरस से 136 और लोगों की मौत हुई जिन्हें मिलाकर अब तक राज्य में 5,368 लोग अपनी जान गंवा चुके हैं। वहीं, इस अवधि में 7,464 मरीज ठीक हुए हैं। स्वास्थ्य विभाग के बुलेटिन के मुताबिक, राज्य में अब तक 2.27 लाख लोग संक्रमण मुक्त हुए हैं जबकि 86,347 मरीज उपचाराधीन हैं जिनमें से 754 मरीज गंभीर हालत होने की वजह से गहन चिकित्सा कक्ष (आईसीयू) में भर्ती हैं। इसके मुताबिक, शुक्रवार को सामने आए नए मामलों में से अकेले बेंगलुरु शहरी क्षेत्र में 2,721 नये मरीज सामने आए। संक्रमण के नए मामलों में से बेंगलुरु शहरी जिले में 2,721, मैसूर में 726, बेल्लारी में 484, दावणगेरे में 379, हसन में 357, शिवमोग्गा में 314, धारवाड़ 299 मामले सामने आए। राज्य में अब तक 27.13 लाख नमूनों की जांच की जा चुकी है।

जम्मू-कश्मीर में संक्रमण के 696 नए मामले

जम्मू-कश्मीर में बृहस्पतिवार को कोरोना वायरस संक्रमण के 696 नए मामले सामने आए जिसके बाद संक्रमितों की कुल संख्या बढ़कर 35,831 हो गई। इसके अलावा पिछले चौबीस घंटे में संघ शासित प्रदेश में कोविड-19 के सात मरीजों की मौत हो गई। अधिकारियों ने यह जानकारी दी। उन्होंने कहा, “जम्मू कश्मीर में शुक्रवार शाम पांच बजे तक पिछले चौबीस घंटे में कोरोना वायरस से संक्रमित सात लोगों की मौत हो गई।” उन्होंने कहा कि मृत सभी मरीज कश्मीर घाटी के थे। अब तक जम्मू कश्मीर में कोविड-19 के 678 मरीजों की मौत हो चुकी है। संक्रमण के नए मामलों में से 202 जम्मू क्षेत्र के हैं और 494 कश्मीर के हैं। अधिकारियों ने कहा कि श्रीनगर में 194 और जम्मू जिले में 109 मामले सामने आए। उन्होंने कहा कि वर्तमान में कोविड-19 के 7,781 मरीजों का इलाज चल रहा है और अब तक 27,372 मरीज ठीक हो चुके हैं।

केरल में सर्वाधिक 2,543 नये मामले

केरल में शुक्रवार को कोविड-19 के एक दिन में सर्वाधिक 2,543 नये मामले सामने आने से राज्य में संक्रमण के कुल मामले 69,303 पहुंच गये, वहीं संक्रमण से सात और लोगों की मौत के बाद मृतक संख्या 274 पहुंच गई। स्वास्थ्य मंत्री के के शैलजा ने यह जानकारी दी। नए मरीजों में 52 स्वास्थ्यकर्मी भी शामिल हैं। राज्य में शुक्रवार को कम से कम 2,097 लोग इलाज के बाद स्वस्थ हो गए। राज्य में अब तक कुल 45,858 लोग कोरोना वायरस संक्रमण से मुक्त हुए हैं। राज्य में फिलहाल 23,111 लोगों का इलाज चल रहा है। जो नए मामले सामने आए हैं उनमें से 75 लोग विदेश से लौटे हैं तथा 156 लोग दूसरे राज्यों से यहां आए हैं जबकि 229 लोगों के संक्रमित होने का स्रोत नहीं पता चल सका है। राज्य में फिलहाल संक्रमण से प्रभावित 599 निषिद्ध क्षेत्र हैं।

दिल्ली सरकार तेजी लाएगी

दिल्ली के स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन ने शुक्रवार को कहा कि दिल्ली सरकार अपनी 300 डिस्पेंसरी और अस्पतालों के माध्यम से कोविड-19 जांच की संख्या में वृद्धि करेगी और साथ ही ऐसे मरीजों के संपर्क में आए लोगों का पता लगाने के कार्य में तेजी लाएगी। जैन ने कहा कि आम आदमी पार्टी (आप) सरकार राष्ट्रीय राजधानी में एक सप्ताह के भीतर कोविड-19 की 20,000 जांच की वर्तमान क्षमता को बढ़ाकर 40,000 करने के लिए प्रतिबद्ध है। उन्होंने कहा कि हाल ही में कोरोना वायरस संक्रमण के मामलों में वृद्धि के कई कारण हैं। इनमें अन्य राज्यों से आकर यहां इलाज कराने वाले मरीजों के साथ ही लॉकडाउन के समय गए प्रवासी मजदूरों का लौटना और कोविड-19 जांच की संख्या में वृद्धि शामिल है। शहर में कोविड-19 जांच की संख्या दुगुनी करने की योजना के बारे में पूछे जाने पर स्वास्थ्य मंत्री ने कहा, ''लोग डिस्पेंसरी में निशुल्क कोविड-19 जांच करा सकते हैं। अगर डिस्पेंसरी में औसत 100 जांच और अस्पतालों में 200 जांच प्रतिदिन भी की जाती हैं तो जांच की वर्तमान संख्या 20,000 से बढ़ा कर 40,000 करने का लक्ष्य हासिल किया जा सकता है।’’ उन्होंने कहा कि अभी 300 डिस्पेंसरी और अस्पतालों में कोविड-19 की निशुल्क जांच की जा रही है। जैन ने संवाददाताओं से कहा कि अभी दिल्ली के अस्पतालों में भर्ती 3,700 मरीजों में से करीब 30 फीसदी मरीज अन्य राज्यों के हैं। उन्होंने कहा कि हालिया त्योहारों के चलते लोगों के घरों में ही रहने के कारण कम जांच की जा

इसे भी पढ़ें: UP में कोरोना संक्रमण के 2 लाख 13 हजार से ज्यादा मामले, अब तक 3,294 मरीजों की हुई मौत

कांग्रेस विधायक कोरोना वायरस से संक्रमित

पंजाब में कांग्रेस के एक विधायक विधानसभा के संक्षिप्त मानसून सत्र में हिस्सा लेने के बाद कोरोना वायरस से संक्रमित पाए गए हैं। शुक्रवार को वह कुछ समय के लिए विधानसभा में थे। सुतराना सीट से विधायक निर्मल सिंह की कोविड-19 जांच रिपोर्ट तीन दिन पहले भी आई थी और उसमें उनके संक्रमित होने की पुष्टि नहीं हुई थी। अब रिपोर्ट में संक्रमण की पुष्टि हुई। विधानसभा अध्यक्ष राणा केपी सिंह ने बताया, ''निर्मल सिंह ने 25 अगस्त को जांच कराई थी और उसमें संक्रमण की पुष्टि नहीं हुई। इस जांच रिपोर्ट के आधार पर वे सदन में (एक दिवसीय सत्र में हिस्सा) लेने आए।’’ अध्यक्ष ने बताया, ''लेकिन आज उन्हें बुखार महसूस हुआ।’’ उन्होंने बताया कि इसके बाद विधायक ने जांच कराई और वह संक्रमित पाए गए। अध्यक्ष ने कहा कि वह करीब 15 मिनट तक सदन में रहे। उनके संपर्क में आए लोगों का पता लगाया जा रहा है ताकि जांच की जा सके। अध्यक्ष ने मौजूदा विधानसभा के 12वें सत्र में हिस्सा लेने के लिए मंत्री, विधायकों, अधिकारियों और कर्मचारियों के लिए कोविड-19 की निगेटिव रिपोर्ट पेश करना अनिवार्य किया था। महामारी की वजह से एक दिवसीय सत्र में कड़े नियम लागू किए गए थे और सदन में प्रत्येक बेंच पर सिर्फ एक ही सदस्य को बैठने की अनुमति दी गई थी ताकि सामाजिक दूरी के नियम का पालन किया जा सके।

अहमदाबाद में कोविड-19 के 168 नये मामले

गुजरात के अहमदाबाद जिले में पिछले 24 घंटों में कोविड-19 के 168 नये मामले सामने आने के साथ वायरस से संक्रमित हुए लोगों की कुल संख्या बढ़कर 31,013 हो गई। राज्य के स्वास्थ्य विभाग ने शुक्रवार को यह जानकारी दी। विभाग द्वारा जारी एक विज्ञप्ति के मुताबिक 168 नये मामलों में 145 अहमदाबाद शहर से है, जबकि जिले के अन्य इलाकों से 23 मामले सामने आये हैं। जिले में इस अवधि के दौरान कोविड-19 के पांच और मरीजों की मौत हो जाने के साथ जिले में कुल मृतक संख्या बढ़कर 1,721 पहुंच गई। विज्ञप्ति के मुताबिक जिले के विभिन्न अस्पतालों में इलाजरत करीब 162 मरीज पिछले 24 घंटों में इस रोग से उबर गये और उन्हें अस्पताल से छुट्टी दी गई।

उप्र में कोविड-19 के 5,447 नए मामले

उत्तर प्रदेश में बीते 24 घंटे के दौरान कोविड-19 के 5,447 नए मामले सामने आए हैं जिससे संक्रमण के कुल मामलों की संख्या बढ़कर 2,13,824 हो गई है। इस अवधि में 77 और लोगों की मौत के साथ मृतकों की संख्या बढ़कर 3,294 हो गई है। अपर मुख्य सचिव, चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अमित मोहन प्रसाद ने बताया कि प्रदेश में पिछले 24 घंटे के दौरान कोरोना वायरस संक्रमण के 5,447 नए मामले सामने आए हैं। वर्तमान में 52,651 उपचाराधीन मामले हैं। प्रसाद ने बताया कि अब तक 1,57,879 लोग पूरी तरह ठीक होकर अस्पतालों से छुट्टी पा चुके हैं। प्रदेश में इस महामारी से अब तक 3,294 लोगों की मौत हुई है और संक्रमण के कुल मामलों की संख्या बढ़कर 2,13,824 हो गई है। उन्होंने बताया कि अब तक कोरोना वायरस संक्रमण की जद में आए लोगों में शून्य से 20 वर्ष तक की आयु के 14.15 प्रतिशत, 21 से 40 वर्ष तक की आयु के 48.85 प्रतिशत, 41 से 60 वर्ष तक की आयु के 28.43 प्रतिशत और 60 वर्ष से अधिक आयु के 8.57 प्रतिशत लोग संक्रमित हुए हैं। अपर मुख्य सचिव ने बताया कि बृहस्पतिवार को प्रदेश में 1,22,277 नमूनों की जांच की गई और अब तक कुल 52,02,557 नमूनों की जांच हो चुकी है। शुक्रवार देर शाम जारी सरकारी बुलेटिन के मुताबिक पिछले 24 घंटे में हुईं 77 मौतों में सर्वाधिक मौत लखनऊ और कानपुर में हुईं जहां बारह-बारह रोगियों की जान गई है। प्रयागराज और झांसी में चार -चार रोगियों की मौत हुई है। बुलेटिन के मुताबिक अब तक प्रदेश में सर्वाधिक 411 मौत कानपुर में, 335 लखनऊ में, 159 वाराणसी में, 143 प्रयागराज में, 133 मेरठ में, 125 गोरखपुर में, 111 बरेली में और 106 मौत आगरा जिले में हुई हैं। पिछले 24 घंटों में सामने नए मामलों में सर्वाधिक 707 लखनऊ में, कानपुर में 298, प्रयागराज में 276 और रामपुर में 182 मामले सामने आए हैं। प्रसाद ने बताया कि प्रदेश में छह मई को एक लाख जांच हुई थीं। अगली एक लाख जांच होने में 16 दिन का वक्त लगा यानी 22 मई तक जांच की संख्या दो लाख जांच हो गई। फिर कोरोना वायरस संक्रमण की जांच बढ़नी शुरू हो गयी। 25 दिन में तीन लाख नमूनों की जांच हुई और 16 जून को पांच लाख का आंकड़ा पार हो गया। उन्होंने बताया कि जांच में निरंतर वृद्धि के साथ आज हमने 52 लाख का आंकड़ा पार किया है और जांच की सर्वाधिक संख्या उत्तर प्रदेश की है।

इसे भी पढ़ें: हवाई यात्रा के दौरान फिर मिलेगा भोजन, मास्क नहीं लगाने वालों पर सख्ती

दिल्ली में कोरोना वायरस संक्रमण के 1,808 नए मामले

दिल्ली में शुक्रवार को कोरोना वायरस संक्रमण के 1,808 नए मामले सामने आने के साथ ही शहर में संक्रमित लोगों की कुल संख्या बढ़कर 1,69,412 तक पहुंच गई। अधिकारियों ने यह जानकारी दी। अगस्त महीने में शुक्रवार को लगातार दूसरे रोज एक ही दिन में 1800 से अधिक नए मामले सामने आए हैं। बृहस्पतिवार को 1,840 मामले सामने आए थे। दिल्ली स्वास्थ्य विभाग की ओर से जारी ताजा बुलेटिन के मुताबिक, पिछले 24 घंटे में कोविड-19 के 20 मरीजों की मौत के बाद इस घातक वायरस से अब तक 4,389 लोगों की मौत हो चुकी है। इसके मुताबिक, दिल्ली में वर्तमान में 13,550 मरीज उपचाराधीन हैं। राष्ट्रीय राजधानी में अब तक 23 जून को सबसे अधिक 3,947 मामले सामने आए थे।

अनुमति देने की तैयारी में जुटा ब्रिटेन

ब्रिटेन, कोविड-19 के किसी भी कारगर टीके को लाइसेंस प्राप्त होने से पहले उसके आपात उपयोग की अनुमति देने के लिये संबद्ध नियमों में बदलाव करने की तैयारी कर रहा है। हालांकि, ऐसे किसी टीके के सुरक्षा एवं गुणवत्ता मानदंडों पर खरा उतरने के बाद ही इस तरह के उपयोग की अनुमति दी जाएगी। प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन ने नेतृत्व वाली कंजरवेटिव सरकार ने शुक्रवार को एक बयान में कहा कि वह सुरक्षा एवं गुणवत्ता मानदंडों पर खरा उतरने वाले कोविड-19 के किसी भी टीके को अस्थायी रूप से अधिकृत करने की देश की औषधि नियामक एजेंसी को अनुमति देने को लेकर संशोधित सुरक्षा नियमों को अपना रही है। प्रस्तावित नियम लोगों के टीकाकरण का मार्ग प्रशस्त करेगा। हालांकि, आमतौर पर टीके का उपयोग तभी किया जा सकता है जब उसकी लाइसेंस समीक्षा पूरी हो चुकी होती है और इस प्रक्रिया में कई महीनों का वक्त लगता है। ब्रिटेन के उप मुख्य मेडिकल अधिकारी जोनाथन वान टाम ने एक बयान में कहा, ‘‘यदि हम कारगर टीका विकसित कर लेते हैं, तो यह अहम होगा कि हम उसे यथा शीघ्र मरीज को उपलब्ध कराएं, लेकिन इसके लिये सुरक्षा के कड़े नियमों का अनुपालन करना जरूरी होगा।’’

-नीरज कुमार दुबे





Related Topics
unlock 3 unlock 3 guidelines unlock 3 rules unlock 3 latest news lockdown news lockdown unlock 3 lockdown unlock 3 guidelines unlock 3 india unlock 3 phase 3 news lockdown latest news lockdown news lockdown unlock 3 guidelines lockdown news lockdown unlock 3 rules unlock 3 rules unlock 3.0 rules covid-19 test kit covid-19 test kit in India corona vaccine Unlock2 PM Modi coronavirus मोदी लॉकडाउन कोरोना वायरस कोरोना संकट कोरोना वायरस से बचाव के उपाय आरोग्य सेतु एप कोरोना टेस्ट नरेंद्र मोदी अर्थव्यवस्था भारतीय अर्थव्यवस्था एमएसएमई केंद्रीय मंत्रिमंडल Coronavirus India LIVE Updates COVID-19 recovery rate India Lockdown News Live Updates coronavirus coronavirus latest news india coronavirus cases lockdown news lockdown latest news coronavirus today news corona cases in india india news coronavirus news covid 19 india coronavirus live news corona news corona latest news india coronavirus coronavirus live news coronavirus latest news in india coronavirus live update covid 19 tracker india covid 19 tracker covid 19 tracker live corona cases in india corona cases in india delhi coronavirus news Union Health Minister Dr Harsh Vardhan केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय कोरोना वायरस संक्रमण कोविड-19 एच1एन1 फ्लू कोरोना वायरस महामारी व्हाइट हाउस ऑक्सफोर्ड डॉ. हर्षवर्धन अजीत पवार जम्मू-कश्मीर सत्येंद्र जैन