Prabhasakshi
रविवार, नवम्बर 18 2018 | समय 23:42 Hrs(IST)

घरेलू नुस्खे

दीवाली पर इस तरह बनाएं रंगोली, घर आंगन खिल उठेगा

By प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क | Publish Date: Nov 3 2018 4:07PM

दीवाली पर इस तरह बनाएं रंगोली, घर आंगन खिल उठेगा
Image Source: Google
दीवाली के अवसर पर घर को सजाने के लिए लोग दिए, कंदिल, बन्दनवार आदि का सहारा लेते हैं लेकिन अगर फर्श पर रंगोली न बनाई जाए तो दीवाली की सजावट अधूरी-सी ही लगती है। अगर आप भी अपने आंगन को रंगोली की मदद से सजाने का मन बना रहे हैं तो इन विभिन्न रंगोली का इस्तेमाल कर सकते हैं। तो चलिए जानते हैं इसके बारे में−
 
फूलों की रंगोली
फूलों की रंगोली देखने में बेहद ही खूबसूरत लगती है और इसे बनाना भी बेहद आसान होता है। इसके लिए आप फूलों की पंखुडि़यों को तोड़कर उसकी मदद से बेहतरीन रंगोली तैयार कर सकते हैं। इसके अतिरिक्त फूलों को सुखाकर व उसे पीसकर और पाउडर बनाकर भी रंगोली के लिए कलर्स तैयार किए जा सकते हैं।
 
चावल की रंगोली
रंगोली के अगर परपंरागत तरीके की बात की जाए तो इसमें चावलों का प्रयोग किया जाता है। आप भी चावल को हल्दी व कुमकुम की मदद से पीले व लाल कलर में रंग लें और उसकी मदद से रंगोली तैयार करें। इसके अतिरिक्त चावल के आटे को घोलकर भी रंगोली बनाई जा सकती है। गांवों में आज भी लोग इस तरह की रंगोली तैयार करते हैं। इसे मांडना कहकर पुकारा जाता है। वहीं चावल को बारीक पीसकर सिर्फ तीन उंगलियों की मदद से भी रंगोली तैयार की जाती है। इस तरह की रंगोली ज्यादा बंगाली लोग दुर्गा पूजा व दीवाली के अवसर पर तैयार करते हैं।
 
डॉट रंगोली
रंगोली के इस तरह के डिजाइन में डॉट बनाकर एकसमान लाइन, नबंर अलग−अलग शेप्स जैसे वर्गाकार या गोलाकार में तैयार किए जाते हैं। बाद में इन्हें खूबसूरत रंगों की मदद से भरकर सुंदर आकार दिया जाता है। दक्षिण भारत में इसी प्रकार की रंगोली बनाने का चलन है।
 
फ्री−हैंड रंगोली
इस तरह की रंगोली अधिकतर घरों में बनाई जाती है। इसमें किसी भी तरह की आकृति को बनाकर उसे अलग−अलग रंगों की मदद से कलरफुल बनाया जाता है।
 
फ्लोटिंग रंगोली
पानी में तैरती हुई यह रंगोली किसी का भी मन मोह लेने के लिए पर्याप्त है। फ्लोटिंग रंगोली बनाने के लिए सबसे पहले एक बड़े बर्तन में पानी भरा जाता है। इसके बाद फूलों, दीयों व कैंडल्स की मदद से रंगोली तैयार की जाती है। इस रंगोली को और भी अधिक खूबसूरत बनाने के लिए वाटर कलर्स का भी प्रयोग किया जाने लगा है।
 
ग्लास रंगोली
ग्लास रंगोली को बनाने में काफी वक्त लगता है, जिसके कारण अधिकतर लोग इसे बनाना कम ही पसंद करते हैं। इस रंगोली को जमीन के साथ−साथ दीवार पर भी बनाया जा सकता है। अगर आप भी ग्लास रंगोली बनाने में समय व मेहनत खर्च नहीं करना चाहते तो आजकल मार्केट में अलग−अलग तरह के शेप्स, साइज व डिजाइन में प्रिटेंड ग्लास मिलते हैं। उनकी मदद से भी एक बेहद कम समय में रंगोली बनाकर घर को सजाया जा सकता है।
 
नेचुरल रंगोली
यूं तो रंगोली बनाने के लिए मार्केट में हर तरह के कलर्स मौजूद हैं, लेकिन अगर आप चाहें तो घर में ही मौजूद सूजी, चावल के आटे, दाल, हल्दी, बेसन व अन्य मसालों की मदद से नेचुरल रंगोली तैयार कर सकते हैं। यह देखने में बेहद खूबसूरत लगती है।
 
फ्रेम रंगोली
यह रंगोली उन लोगों के लिए एक बेहतरीन उपाय है, जिन्हें रंगोली के डिजाइन बनाने में परेशानी होती है या फिर जो अपने घर को रंगोली की मदद से सजाना चाहते हैं लेकिन उन्हें इसे बनाना नहीं आता। दरअसल, आजकल मार्केट में रंगोली बनाने के लिए तरह−तरह डिजाइन व आकार के मोल्ड या फ्रेम मिलते हैं। बस आपको इन्हें जमीन पर रखना है और अंदर के हिस्से में आप कलर्स भरें। यह रंगोली बनाने का एक बेहद आसान व बेहतरीन तरीका है।
 
स्टिकर रंगोली
बहुत से लोगों के पास इतना समय नहीं होता कि वह अपने प्रवेशद्वार को रंगोली की मदद से सजाएं या फिर उनके मन में रंगोली खराब होने का डर बना रहता है। ऐसे लोगों के लिए स्टिकर रंगोली का प्रयोग करना एक अच्छा उपाय है। आजकल मार्केट में रंगोली डिजाइन के स्टिकर मिलते हैं। इन्हें झटपट तो लगाया जा सकता है ही, साथ ही यह स्टिकर रंगोली कई दिनों तक खराब नहीं होती।
 
-मिताली जैन

रहना है हर खबर से अपडेट तो तुरंत डाउनलोड करें प्रभासाक्षी एंड्रॉयड ऐप



Disclaimer: The views expressed here are solely those of the author in his/her private capacity and do not necessarily reflect the opinions, beliefs and viewpoints of Prabhasakshi and do not in any way represent the views of Prabhasakshi.

शेयर करें: