इस तरह घर पर बनाएं टेस्टी कांजीवड़ा, हर कोई पूछेगा रेसिपी

इस तरह घर पर बनाएं टेस्टी कांजीवड़ा, हर कोई पूछेगा रेसिपी

कांजीवड़ा एक मारवाड़ी रेसिपी है, जिसे अक्सर लोग त्योहार या किसी विशेष अवसर पर बनाते हैं। यह डिश खाने में जितनी लाजवाब होती है, बनाने में उतनी ही आसान। आमतौर पर लोगों को इसे बनाने का तरीका नहीं पता होता।

कांजीवड़ा एक मारवाड़ी रेसिपी है, जिसे अक्सर लोग त्योहार या किसी विशेष अवसर पर बनाते हैं। यह डिश खाने में जितनी लाजवाब होती है, बनाने में उतनी ही आसान। आमतौर पर लोगों को इसे बनाने का तरीका नहीं पता होता। अगर आपका नाम भी ऐसे ही लोगों की लिस्ट में शुमार है तो इस लेख में जानिए इसे बनाने की विधि। एक बार अगर इस विधि से आप कांजीवड़ा बनाएंगे तो यकीन मानिए हर कोई आपसे इसकी रेसिपी अवश्य पूछेगा। तो चलिए शुरू करते हैं इसे बनाना−

सामग्री−

डेढ़ कप पीली मूंग दाल चार से छह घंटे पानी में भीगी हुई

आटा

अजवाइन

लाल मिर्च

साबुत धनिया

नमक

सरसों का तेल

कोयला स्मोकी फ्लेवर के लिए

राई का पाउडर

जीरा 

लाल मिर्च

विधि− कांजीवड़ा बनाने के लिए सबसे पहले भीगी हुई दाल से पानी निकालकर मिक्सी की सहायता से उसे पीस लें। दाल पीसते समय उसमें थोड़ा सा अदरक व हरी मिर्च भी अवश्य मिक्स करें। अब इसे एक परात में निकाल कर उसमें थोड़ा सा आटा डालें। साथ ही इसमें अजवाइन, लाल मिर्च, साबुत धनिया व नमक डालकर मिक्स करें। अब इसमें धनिया डालकर एक बार फिर से मिक्स करें। अब तड़के वाले पैन में थोड़ा सा सरसों का तेल डालकर अच्छी तरह गर्म करें। जब यह गर्म हो जाए तो इसे दाल वाले बैटर में डाल दें और किसी चम्मच की सहायता से मिक्स करें। ध्यान रखें कि इस बार हाथों का प्रयोग न करें, अन्यथा तेल गर्म होने के कारण हाथ जल जाने का डर रहेगा। इसके बाद लोहे की कड़ाही में कच्ची घानी का तेल डालकर गर्म होने दें। अब वड़ा बनाने के लिए पहले एक मलमल का कपड़ा लेकर उसे पानी में भिगोकर निचोड़ दें और एक कटोरी लेकर उसके ऊपर यह मलमल का कपड़ा अच्छी तरह लपेट कर टाइट कर लें। इसके बाद अपने हाथों को पानी की मदद से हल्का गीला करें। साथ ही कपड़े को भी हल्का गीला करें ताकि वड़ा कपड़े पर चिपके नहीं। अब अपने हाथों की मदद से थोड़ा सा मिश्रण लेकर हल्का उछाल कर गोलाकार करें। इसके बाद उसे कपड़े के ऊपर डालें और हाथों की मदद से चपटा करें। अब इस तैयार वड़े को गर्म तेल में डालकर गोल्डन होने तक फ्राई करें। इसी तरह सारे वड़े तैयार कर लें। अब एक बर्तन में करीबन दो लीटर पानी लेकर उसमें वड़े डाल दें।

अब बारी आती है वड़े का पानी तैयार करने की। इसके लिए सबसे पहले कोयला डालकर उसे पका लें। अब उसे एक कटोरी में डालकर उस कटोरी को एक बड़े बर्तन में रखें। अब कोयले के ऊपर थोड़ा घी व हींग डालें। ऐसा करने के तुरंत बाद बर्तन को प्लेट की सहायता से ढककर पांच मिनट के लिए छोड़ दें। इसके बाद हल्का सा ढक्कन हटाकर कटोरी निकालें और एक लीटर पानी डालकर दोबारा ढककर कुछ देर के लिए छोड़ दें। ऐसा करने से पानी में एक स्मोकी व बेहतरीन टेस्ट आता है। कुछ देर बाद ढक्कन हटाकर उसमें राई का पाउडर, नमक, जीरा, लाल मिर्च डालकर अच्छी तरह मिक्स करें।

अब वड़े का अतिरिक्त पानी निचोड़ कर उसे तैयार पानी में डालकर 24 घंटे के लिए छोड़ दें। याद रखें कि इस दौरान आपको इसे फ्रिज में नहीं रखना है। 24 घंटे बाद इसे चार−पांच घंटे के लिए फ्रिज में रखा जा सकता है ताकि यह ठंडा हो जाए।

कांजीवड़ा तैयार है। इसे सर्व करने के लिए कटोरी में कांजीवड़ा और पानी डालें। साथ ही इसमें भुना हुआ जीरा, काला नमक व लाल मिर्च डालें। इससे यह और भी अधिक चटाकेदार हो जाता है। 

-मिताली जैन