Hindi word processor
  मैं प्रधानमंत्री पद के प्रति आसक्त नहींरू राहुल गांधी
स्रोतः प्रभासाक्षी
स्थानः
वाराणसी
तिथिः
06 Qjojh 2012
 

   

कांग्रेस महासचिव राहुल गांधी ने आज कहा कि हिन्दुस्तान के अनेक श्बड़ेश् राजनेताओं के विपरीत वह प्रधानमंत्री पद के प्रति श्आसक्तश् नहीं हैं और उनका मानना है कि पद से कुछ नहीं होताए शक्ति तो जनता में होती है। राहुल ने यहां संवाददाता सम्मेलन में खुद के प्रधानमंत्री बनने की सम्भावना सम्बन्धी सवाल पर कहा श्श्हिन्दुस्तान के बड़े राजनेता इस बात के लिये आसक्त हैं कि वे प्रधानमंत्री बनें लेकिन मेरी ऐसी कोई आसक्ति नहीं है।श्श् उन्होंने कहा श्श्पद से कुछ नहीं होताए शक्ति जनता में होती है। मेरा मकसद उत्तर प्रदेश का विकास करना है। राहुल गांधी में कोई शक्ति नहीं है। मैं सिर्फ जनता की आवाज सुनता हूं और उसे लोकसभा तक ले जाता हूं। मेरा उत्तर प्रदेश में प्रगति लाने का मिशन है। जब तक उत्तर प्रदेश अपने पैरों पर खड़ा नहीं होगा तब तक राहुल गांधी आपकी झोपङ़ियों में किसानों के साथ दिखाई देगा।श्श् उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव में कांग्रेस की कामयाबी के प्रति विश्वास व्यक्त करते हुए राहुल ने कहा श्श्मेरा कहना है कि चुनाव में कांग्रेस पार्टी के लिये ठोस परिणाम आ रहे हैं। जनता कांग्रेस की तरफ देख रही है। मैं जहां भी जा रहा हूं वहां जनता हमसे कह रही है कि यहां की सरकारों ने उन्हें 22 साल बेवकूफ बनाया है।श्श् कांग्रेस सांसद ने कहा कि उत्तर प्रदेश में कांग्रेस के फिर से खड़े नहीं होने तक वह चैन से नहीं बैठेंगे। उन्होंने कहा श्श्सीधा आंकड़ा है। इस चुनाव में कांग्रेस पार्टी खड़ी हो जाएगी। वह 200 सीटों से भी खड़ी हो जाएगी और 100 सीटों से भी।श्श् राहुल ने दोहराया कि वह उत्तर प्रदेश में किसी राजनीतिक पार्टी से समझौता नहीं करने आए हैं। उनका समझौता राज्य की जनता के साथ होगा हालांकि चुनाव के बाद समाजवादी पार्टी से गठबंधन के सवाल का उन्होंने स्पष्ट उत्तर नहीं दिया। भ्रष्टाचार के मुद्दे पर कांग्रेस महासचिव ने भाजपा के वरिष्ठ नेता लालकृष्ण आडवाणी को खरी.खोटी सुनाते हुए कहा श्श्आडवाणी जी को झारखंडए छत्तीसगढ़ए उत्तराखंड और पंजाब समेत भाजपा शासित राज्यों में भ्रष्टाचार नहीं दिखता। हमें अपने यहां जब भी भ्रष्टाचार का कोई मामला सुनाई दिया हमने कार्रवाई की।श्श् लोकपाल को संवैधानिक दर्जा देने सम्बन्धी सवाल पर राहुल ने कहा श्श्मैंने संसद में कहा था कि हमें चुनाव आयोग की तरह वैधानिक लोकपाल गठित करने दीजिये। आडवाणी और विपक्षी नेताओं ने मेरे इस विचार की हंसी उड़ाई थी। अब आप जब उनसे पूछते हैं कि आपने संवैधानिक लोकपाल क्यों नहीं बनने दिया तो वे कहते हैं कि वह राहुल गांधी का विचार थाए मगर ऐसा नहीं हैए वह मेरा नहीं बल्कि देश का विचार था।श्श् राहुल ने विदेशी बैंकों में जमा कालेधन को भारत लाने की योग गुरु बाबा रामदेव की मांग सम्बन्धी सवाल का सीधा जवाब नहीं देते हुए कहा श्श्रामदेव जी अपने चार पांच लोगों को काले झंडे लेकर मेरी हर जनसभा में भेज रहे हैं। वे सोचते हैं कि चार झंडे देखकर राहुल भाग जाएगा। आप झंडे लगाओए गोली मारोए जूता मारोए मैं किसी से नहीं डरता।श्श् ज्ञान आयोग के अध्यक्ष सैम पित्रोदा की ओर से कांग्रेस के अहम कार्यक्रमों में खुद को श्बढ़ईश् का बेटा बताए जाने के औचित्य सम्बन्धी सवाल पर राहुल ने कहा श्श्उत्तर प्रदेश में जाति का महत्व है। सैम पित्रोदा कहते हैं कि इस देश में आशा की किरण बाकी है। वह लोगों को यह समझाते हैं कि कोई भी व्यक्ति देश को बदल सकता है। अगर आप सोचते हैं कि आप ऐसा नहीं कर सकते हैंए तो गलत सोचते हैं।श्श् उत्तर प्रदेश के विभाजन के मुद्दे पर पूछे गये सवाल के जवाब में उन्होंने कहा श्श्ऐसे फैसले लेना काफी जटिल काम हैए क्योंकि यह करोड़ों लोगों के भविष्य का सवाल होता है।श्श् राहुल ने कहा श्श्मायावती ने बिना सोचे.समझे विधानसभा में दो मिनट में राज्य विभाजन का प्रस्ताव पारित करा दिया। भारत में विशेषज्ञ लोग हैं जो इस मामले को देख समझ सकते हैं। मैं समझता हूं कि ऐसे गहरे मामले में विशेषज्ञों की राय लेना जरूरी है।श्श् कांग्रेस सासंद ने आरोप लगाया कि मायावती और मुलायम सिंह उत्तर प्रदेश को नहीं बदलना चाहते। उन्होंने कहा श्श्राज्य को एक ही चीज बदल सकती है और वह है आपके मुख्यमंत्री का दृढ़ निश्चय। मैं आदर के साथ मायावती और मुलायम सिंह के बारे में कहना चाहता हूं कि वे दोनों उत्तर प्रदेश को नहीं बदलना चाहते।श्श् राहुल ने कहा कि उत्तर प्रदेश को 100 प्रतिशत बदला जा सकता है। यह परिकल्पना छह महीने पहले नहीं थी लेकिन अब उनका दृढ़ विश्वास है कि यह प्रदेश बदल सकता है। उन्होंने कहा कि विकास के लिये सब लोगों को शामिल करना पड़ता हैए जनता की आवाज सुननी पड़ती है। राहुल ने कहा कि उत्तर प्रदेश के नेता जनता की आवाज की इज्जत नहीं करते जबकि कांग्रेस ऐसा करती है। राज्य में पिछले 22 सालों से ऐसी सरकारें रहीं जो सिर्फ 10 प्रतिशत लोगों के लिये काम करती रही हैं। श्श्प्रदेश में कभी गुंडे सत्ता में आते हैं तो कभी चोर।श्श् उन्होंने कहा श्श्अगर किसी प्रदेश में विकास नहीं हो रहा है तो उसका एक ही कारण है कि जनता की शक्ति का ठीक से इस्तेमाल नहीं हो रहा है।श्श् राहुल ने कहा कि वह बसपा संस्थापक कांशीराम का सम्मान करते हैं क्योंकि उन्होंने प्रदेश की राजनीति में योगदान किया है। कांग्रेस महासचिव ने मायावती और मुलायम सिंह का नाम लेते हुए कहा कि उन्हें उनसे काफी कुछ सीखने को मिला है लेकिन वे दोनों जनता से विमुख हो गये हैं। बसपा के प्रदेश अध्यक्ष स्वामी प्रसाद मौर्य की ओर से कांग्रेस की स्टार प्रचारक प्रियंका गांधी को बरसाती मेंढक करार दिये जाने के बारे में राहुल ने कहा श्श्अगर प्रियंका बरसाती मेंढक हैं तो मैं भी मेंढक हूंए क्योंकि मैं उनका भाई हूं।श्श् राहुल ने कहा कि आज मेरे पास कहने को सिर्फ इतना ही है कि इस देश के कुछ लोग मुझ पर विश्वास करते हैं और उत्तर प्रदेश के अगर एक प्रतिशत लोग भी हम पर विश्वास करते हैं तो वह हमारे लिये अच्छा है। उन्होंने कहा कि पार्टी को चाहे 200 सीटें मिलें या 400 या सिर्फ दो सीटें मिलेंए उनका काम तब तक पूरा नहीं होगा जब तक आम आदमीए किसान और मजदूरों को समुचित सम्मान नहीं मिल जाता। उन्होंने आरोप लगाया कि भाजपा भ्रष्टाचार के खिलाफ गम्भीर नहीं है। उन्होंने कहा कि भाजपा के प्रमुख नेता गुजरात के मुख्यमंत्री नरेन्द्र मोदी अपने राज्य में लोकायुक्त की नियुक्ति रोकने में लगे हुए हैं।


समयः
12%32