एयर इंडिया के अनाउंसमेंट में भी हुआ बदलाव, फ्लाइट में आज से यात्रियों को सुनाई देगी यह खास घोषणा

एयर इंडिया के अनाउंसमेंट में भी हुआ बदलाव, फ्लाइट में आज से यात्रियों को सुनाई देगी यह खास घोषणा

1953 में एयर इंडिया का राष्ट्रीयकरण किया गया और अगले चार दशक तक यह भारत के घरेलू विमानन क्षेत्र पर राज करती रही। 69 साल बाद फिर से एयर इंडिया टाटा समूह के पास लौट गया है। इसके साथ ही एयर इंडिया में कई बदलाव देखने को मिल रहे हैं।

एयर इंडिया का एक बार फिर से टाटा समूह ने टेकओवर कर लिया है। जहांगीर रतनजी दादाभाई (जेआरडी) टाटा ने 1932 में एयरलाइन की स्थापना की और इसका नाम टाटा एयरलाइंस रखा। 1953 में एयर इंडिया का राष्ट्रीयकरण किया गया और अगले चार दशक तक यह भारत के घरेलू विमानन क्षेत्र पर राज करती रही। 69 साल बाद फिर से एयर इंडिया टाटा समूह के पास लौट गया है। इसके साथ ही एयर इंडिया में कई बदलाव देखने को मिल रहे हैं। इसी कड़ी में शुक्रवार से एयर इंडिया में यात्रा करने वालों को अब अलग अनाउंसमेंट सुनाई देने वाली है। इसके लिए टाटा समूह की ओर से एयरलाइन के पायलटों को एक संदेश भेजा गया है। आदेश के अनुसार अनाउंसमेंट में बड़े बदलाव किए गए हैं।

अनाउंसमेंट में बदलाव इस प्रकार है। डियर गेस्ट मैं आपका कैप्टन ... बोल रहा हूं। इस ऐतिहासिक उड़ान में आपका स्वागत है। आज एयर इंडिया आधिकारिक तौर पर 7 दशकों के बाद फिर से टाटा समूह का हिस्सा बन गई है। हम इस विमान पर वह एयर इंडिया की हर उड़ान में नई प्रतिबद्धता और जुनून के साथ आपकी सेवा करने के लिए तत्पर है। एयर इंडिया के भविष्य में आपका स्वागत है। हमें उम्मीद है कि आप यात्रा का आनंद लेंगे। धन्यवाद। आपको बता दें कि नमक से लेकर सॉफ्टवेयर तक बनाने वाले समूह ने घाटे में चल रही एयरलाइन का अधिग्रहण कर कई साल से इसकी बिक्री के लिए किए जा रहे असफल प्रयासों पर विराम लगा दिया है।

इसे भी पढ़ें: घाटे में चल रही Air India को कर्ज देने के लिए SBI का गठजोड़ तैयार, ऋण राशि की बैंकों को नहीं है जानकारी

इससे पहले टाटा संस के चेयरमैन एन चंद्रशेखरन ने कहा कि एयर इंडिया को वापस पाकर समूह उत्साहित है और इसे विश्वस्तर की विमानन कंपनी बनाने को पूरी तरह से प्रतिबद्ध हैं। निवेश और लोक संपत्ति प्रबंधन विभाग (दीपम) के सचिव तुहिन कांत पांडेय ने ट्वीट किया कि एयर इंडिया का रणनीतिक विनिवेश लेनदेन आज सफलतापूर्वक सम्पन्न हुआ, जिसमें एयर इंडिया के 100 प्रतिशत शेयर और प्रबंधन नियंत्रण मेसर्स टैलेस प्राइवेट लिमिटेड को हस्तांतरित किए गए। उन्होंने कहा कि एयर इंडिया का प्रभार रणनीतिक साझेदार की अगुवाई वाले नए निदेशक मंडल ने ले लिया है। उन्होंने कहा कि अब नई मालिक टैलेस है। टैलेस टाटा समूह की सहायक कंपनी है।