कंपनियों के तिमाही परिणामों से तय होगी शेयर बाजार की दिशा, रह सकता है उतार-चढ़ाव

By प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क | Publish Date: Jul 21 2019 2:23PM
कंपनियों के तिमाही परिणामों से तय होगी शेयर बाजार की दिशा, रह सकता है उतार-चढ़ाव
Image Source: Google

सैमको सिक्योरिटीज एंड स्टॉकनोट के संस्थापक एवं मुख्य कार्यकारी अधिकारी जिमीत मोदी ने कहा कि बाजार अच्छी तिमाही नतीजों की उम्मीद कर रह है।

नयी दिल्ली। हिंदुस्तान यूनिलीवर (एचयूएल), मारुति सुजुकी और कोटक महिंद्रा बैंक जैसी बड़ी कंपनियों के तिमाही नतीजों से इस सप्ताह शेयर बाजारों की दिशा तय हो सकती है। विश्लेषकों का कहना है कि डेरिवेटिव अनुबंधों के निपटान की तिथि की वजह से सप्ताह के दौरान बाजार में उतार-चढ़ाव रह सकता है। विश्लेषकों का कहना है कि कराधान मुद्दों, कमजोर तिमाही नतीजों तथा उपभोग में कमी की वजह से बाजार की कुल धारणा कमजोर बनी हुई है। सरकार ने विदेशी पोर्टफोलियो निवेशकों (एफपीआई) को कर के मोर्चे पर किसी तरह की राहत से इनकार किया है। इससे शुक्रवार को बंबई शेयर बाजार के सेंसेक्स में इस साल की दूसरी सबसे बड़ी गिरावट आई। 



रेलिगेयर ब्रोकिंग लि. के उपाध्यक्ष (शोध) अजित मिश्रा ने कहा, ‘‘सोमवार को शुरुआती कारोबार में बाजार के लोग रिलायंस और एचडीएफसी बैंक जैसी बड़ी कंपनियों के तिमाही नतीजों को ध्यान में रख कर अपनी चाल तय करेंगे। हालांकि, बाजार के सामने घरेलू और वैश्विक मोर्चे पर कई चुनौतियां भी हैं।आगे के सत्रों में बाजार में गिरावट का सिलसिला बना रह सकता है।’’ रिलायंस इंडस्ट्रीज के जून तिमाही के नतीजे शुक्रवार को बाजार बंद होने के बाद आए हैं। समीक्षाधीन तिमाही में रिलायंस इंडस्ट्रीज का शुद्ध लाभ 6.8 प्रतिशत बढ़कर 10,104 करोड़ रुपये रहा है। शनिवार को एचडीएफसी बैंक का अप्रैल-जून तिमाही का परिणाम आया है। तिमाही के दौरन उसका एकीकृत शुद्ध लाभ 18.04 प्रतिशत बढ़कर 5,676.06 करोड़ रुपये पर पहुंच गया है। 
एक्सिस सिक्योरिटीज के प्रबंध निदेशक एवं मुख्य कार्यकारी अधिकारी अरुण ठुकराल ने कहा, ‘‘अमेरिकी फेडरल रिजर्व की 30-31 जुलाई को होने वाली बैठक, मानसून की प्रगति तथा विभिन्न कंपनियों के तिमाही नतीजों की वजह से बाजार में उतार-चढ़ाव रहेगा।’’ इस सप्ताह डीएचएफएल, कोटक महिंद्रा बैंक, एचयूएल, केनरा बैंक, बैंक आफ बड़ौदा, साउथ इंडियन बैंक, टाटा मोटर्स, बजाज आटो और मारुति के तिमाही नतीजे आने हैं। सैमको सिक्योरिटीज एंड स्टॉकनोट के संस्थापक एवं मुख्य कार्यकारी अधिकारी जिमीत मोदी ने कहा कि बाजार अच्छी तिमाही नतीजों की उम्मीद कर रह है। हालांकि, उन्हें निराशा का सामना करना पड़ सकता है। उन्होंने कहा कि ग्रामीण बाजारों में उपभोक्ता सामान की बिक्री सुस्त है। इससे अर्थव्यवस्था को लेकर चिंता और बढ़ी है। इसके अलावा मानसून की प्रगति भी अभी धीमी है। बीते सप्ताह बंबई शेयर बाजार का 30 शेयरों वाला सेंसेक्स 399.22 अंक या 1.03 प्रतिशत के नुकसान में रहा। शुक्रवार को सेंसेक्स 560.45 अंक या 1.44 प्रतिशत टूटकर 38,337.01 अंक पर आ गया। 


 

रहना है हर खबर से अपडेट तो तुरंत डाउनलोड करें प्रभासाक्षी एंड्रॉयड ऐप   


Related Story

Related Video