हुवावेई प्रमुख ने कहा कंपनी पर अमेरिकी प्रतिबंधों को दूसरे देश मानने को बाध्य नहीं

By प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क | Publish Date: May 27 2019 1:04PM
हुवावेई प्रमुख ने कहा कंपनी पर अमेरिकी प्रतिबंधों को दूसरे देश मानने को बाध्य नहीं
Image Source: Google

इसके अलावा अमेरिका के वाणिज्य मंत्रालय ने चीन के साथ जारी व्यापार युद्ध के बीच सुरक्षा कारणों का हवाला देते हुए हुवावेई को प्रतिबंधित कर दिया। मंत्रालय ने अमेरिकी कंपनियों को भी हुवावेई से दूरसंचार उपकरण खरीदने पर रोक लगा दी।

बीजिंग। चीन की विवादित दूरसंचार कंपनी हुवावेई के संस्थापक रेन झेंगफेई ने अमेरिका के प्रतिबंधों को कमजोर बताते हुये कहा कि अन्य देश इस मामले में अमेरिका का अनुकरण करने को बाध्य नहीं होंगे। उन्होंने इस मौके पर ब्रिटेन के प्रधानमंत्री कार्यालय से अपनी कथित निकटता का भी जिक्र किया। ट्रंप प्रशासन अपने यूरोपीय सहयोगी देशों से चीन की इस प्रौद्योगिकी कंपनी से कारोबारी संबंधों में कटौती करने का आग्रह कर रहा है। रेन की बेटी और हुवावेई की मुख्य वित्तीय अधिकारी मेंग वांगझोउ अभी कनाडा में हिरासत में हैं। उन्हें ईरान पर अमेरिका द्वारा लगाये प्रतिबंधों का उल्लंघन करने के कारण गिरफ्तार किया गया है। इसके अलावा अमेरिका के वाणिज्य मंत्रालय ने चीन के साथ जारी व्यापार युद्ध के बीच सुरक्षा कारणों का हवाला देते हुए हुवावेई को प्रतिबंधित कर दिया। मंत्रालय ने अमेरिकी कंपनियों को भी हुवावेई से दूरसंचार उपकरण खरीदने पर रोक लगा दी।

इसे भी पढ़ें: ट्रंप ने कहा, चीन के साथ व्यापार वार्ता में हुआवेई को शामिल करने की संभावना

रेन ने चीन की सरकारी मीडिया से हाल ही में बात चीत करते हुए कहा कि अमेरिका के प्रतिबंध से हुवावेई की 5जी प्रौद्योगिकी की शुरुआत पर कोई असर नहीं पड़ेगा। उन्होंने ब्रिटेन के प्रधानमंत्री कार्यालय ‘दस डाउनिंग मार्ग’ से अपनी नजदीकी का जिक्र करते हुए कहा, ‘‘मैं अक्सर दोपहर की चाय 10, डाउनिंग मार्ग में पीया करता था।

इसे भी पढ़ें: गूगल के प्रतिबंध के बीच हुवावेई ने पेश किए एंड्राइड-9 आधारित ऑनर 20 श्रृंखला



उन्होंने मुझसे पूछा कि मैंने पूरी दुनिया को साथ चलाना कैसे सीखा, मैंने कहा कि यह दोपहर की चाय से हुआ। इस कारण उन्होंने डाउनिंग मार्ग में दोपहर की चाय के साथ मेरा अभिवादन किया।’’ उन्होंने कहा, ‘‘हमने विभिन्न देशों के नेताओं से बातचीत की है। हर देश के अपने स्वार्थ हैं। अमेरिका का अभियान इतना ताकतवर नहीं है कि वह हर किसी को अपना अनुसरण करने को कह सके।’’ हालांकि, ब्रिटेन की मीडिया की खबरों की मानें तो ब्रिटेन की सरकार अभी भी 5जी प्रौद्योगिकी की समीक्षा कर रही है और संभव है कि वह हुवावेई से एंटीना मास्ट जैसे नान-कोर 5जी उपकरणों की खरीद की ही मंजूरी दे।

रहना है हर खबर से अपडेट तो तुरंत डाउनलोड करें प्रभासाक्षी एंड्रॉयड ऐप   


Related Story

Related Video