जैक डोर्सी ने 16 साल बाद Twitter का CEO का पद छोड़ा, पराग अग्रवाल संभालेंगे जिम्मेदारी

जैक डोर्सी ने 16 साल बाद Twitter का CEO का पद छोड़ा, पराग अग्रवाल संभालेंगे जिम्मेदारी

जैक डोर्सी ने ट्वीटर पर ऐलान करते हुए एक पोस्ट जारी किया जिसमें उन्होंने लिखा कि, कंपनी में को-फाउंडर और सीईओ तक की भूमिका निभाने के लगभग 16 साल बाद मैंने फैसला किया है कि आखिरकार मेरे लिए जाने का समय आ गया है।

ट्विटर के मुख्य कार्यकारी अधिकारी (CEO) जैक डोर्सी ने 16 साल बाद अपना पद छोड़ने का ऐलान किया है। अब इनकी जगह भारत के पराग अग्रवाल ट्वीटर के मुख्य कार्यकारी अधिकारी (ceo) के रूप में पदभार संभालेंगे।अग्रवाल, आईआईटी-बॉम्बे और स्टैनफोर्ड यूनिवर्सिटी के पूर्व छात्र है और वह ट्विटर के मुख्य प्रौद्योगिकी अधिकारी के रूप में पहले काम करते थे। अग्रवाल भारत में जन्मे कई कार्यकारियों जैसे आईबीएम के अरविंद कृष्णा, गूगल के सुंदर पिचाई और माइक्रोसॉफ्ट के सत्या नडेला की लीग में शामिल होंगे, जो विश्व स्तर पर मौजूद बड़ी अमेरिकी प्रौद्योगिकी कंपनियों का नेतृत्व करेंगे।

जैक डोर्सी ने ट्वीटर पर किया ऐलान

जैक डोर्सी ने ट्विटर पर ऐलान करते हुए एक पोस्ट जारी किया जिसमें उन्होंने लिखा कि कंपनी में को-फाउंडर और सीईओ तक की भूमिका निभाने के लगभग 16 साल बाद मैंने फैसला किया है कि आखिरकार मेरे लिए जाने का समय आ गया है। डोर्सी ने कहा कि पराग अग्रवाल हर महत्वपूर्ण निर्णय के पीछे रहे हैं जिसने इस कंपनी को बदलने में मदद की। वह जिज्ञासु, तर्कसंगत, रचनात्मक, और विनम्र इंसान है। वह दिल और आत्मा के साथ आगे बढ़ते है, और वह ऐसे व्यक्ति है जिसे मैं रोजाना सीखता हूं। हमारे सीईओ के रूप में उन पर मेरा भरोसा बहुत गहरा है,"।

 

पराग अग्रवाल जिन्होंने स्टैनफोर्ड विश्वविद्यालय से कंप्यूटर साइंस में पीएचडी की है ने अक्टूबर 2011 में एक सॉफ्टवेयर इंजीनियर के रूप में ट्विटर में शामिल होने से पहले याहू और एटी एंड टी लैब्स की आर एंड डी यूनिट में माइक्रोसॉफ्ट रिसर्च में अपना करियर शुरू किया। पराग ने ट्विटर के कर्मचारियों को एक पत्र में लिखा कि "मैं 10 साल पहले इस कंपनी में शामिल हुआ था जब वहां 1,000 से कम कर्मचारी थे। यह दिन मुझे कल की तरह लगते हैं। मैंने उतार-चढ़ाव, चुनौतियों और बाधाओं, जीत और गलतियों को देखा है। हमारे लोग और हमारी संस्कृति दुनिया में किसी भी चीज़ के विपरीत नहीं हैं। हम जो कुछ भी करते हैं उसकी कोई सीमा नहीं है एक साथ कर सकते हैं।"