चेतेश्वर पुजारा और अजिंक्य रहाणे फिर हुए विफल, संकट नें भारत की पारी

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  नवंबर 28, 2021   03:33
चेतेश्वर पुजारा और अजिंक्य रहाणे  फिर हुए विफल, संकट नें भारत की पारी

पिच पर खेलना असंभव नहीं है लेकिन माना जा रहा है कि भारतीय स्पिनर 180 के आसपास के स्कोर का बचाव करने में सक्षम हो सकते हैं क्योंकि भले ही गेंद काफी टर्न नहीं हो रही हों लेकिन उम्मीद है कि काफी गेंद नीची रहेंगी। चौथी सुबह भारतीय बल्लेबाजों को टिम साउथी (27 रन पर दो विकेट) ने अपनी स्विंग से सबसे अधिक परेशान किया।

कानपुर। कार्यवाहक कप्तान अजिंक्य रहाणे और कार्यवाहक उप कप्तान चेतेश्वर पुजारा की विफलता का क्रम जारी रहा जिससे न्यूजीलैंड के गेंदबाजों ने पहले क्रिकेट टेस्ट के चौथे दिन लंच तक दूसरी पारी में भारत का स्कोर पांच विकेट पर 84 रन करके मेहमान टीम का पलड़ा भारी रखा। लंच के समय पहली पारी में शतक जड़ने वाले श्रेयस अय्यर (नाबाद 18) और रविचंद्रन अश्विन (नाबाद 20) क्रीज पर डटे हुए हैं। दोनों छठे विकेट के लिए 33 रन जोड़ चुके हैं जबकि भारत की कुल बढ़त 133 रन की हो गई है।

 पिच पर खेलना असंभव नहीं है लेकिन माना जा रहा है कि भारतीय स्पिनर 180 के आसपास के स्कोर का बचाव करने में सक्षम हो सकते हैं क्योंकि भले ही गेंद काफी टर्न नहीं हो रही हों लेकिन उम्मीद है कि काफी गेंद नीची रहेंगी। चौथी सुबह भारतीय बल्लेबाजों को टिम साउथी (27 रन पर दो विकेट) ने अपनी स्विंग से सबसे अधिक परेशान किया। उन्हें साथी तेज गेंदबाज काइल जेमीसन (21 रन पर दो विकेट) का अच्छा साथ मिला। जेमीसन ने चेतेश्वर पुजारा (22) की पसलियों को निशाना बनाया। निर्जीव पिच पर जेमीसन की उछाल लेती गेंद पुजारा के ग्लव्स को छूकर विकेटकीपर टॉम ब्लंडेल के हाथों में चली गई। मैदानी अंपायर ने उन्हें नॉटआउट दिया लेकिन डीआरएस लेने पर पुजारा को वापस लौटना पड़ा।

 खराब फॉर्म से जूझ रहे रहाणे एक चौके की मदद से 15 गेंद में चार रन बनाने के बाद बायें हाथ के स्पिनर एजाज पटेल (29 रन पर एक विकेट) की गेंद पर पगबाधा हो गए। सलामी बल्लेबाज मयंक अग्रवाल (17) ने पहले घंटे में न्यूजीलैंड के गेंदबाजों का डटकर सामना किया लेकिन साउथी ने आउटस्विंग होती गेंद पर उन्हें दूसरी स्लिप में टॉम लैथम के हाथों कैच करा दिया। साउथी ने इसी ओवर में रविंद्र जडेजा को पगबाधा करके भारत को दोहरा झटका दिया। जडेजा खाता भी नहीं खोल पाए। इस समय भारत का स्कोर पांच विकेट पर 51 रन था। अश्विन इसके बाद अय्यर का साथ देने उतरे और उन्होंने साउथी पर सीधा चौका जड़ने के अलावा कुछ आकर्षक शॉट खेलकर टीम पर बने दबाव को कुछ कम किया।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।



Prabhasakshi logoखबरें और भी हैं...

खेल

झरोखे से...