• कश्मीर मुद्दा गर्माने अमेरिका पहुँचे पाकिस्तानी नेता शहरयार अफरीदी को पूरा नंगा करके की गयी पूछताछ

अमेरिका में तो मोदी-मोदी हो रहा है और मोदी देश और दुनिया को आगे बढ़ाने पर ध्यान केंद्रित किये हुए हैं लेकिन भारत का पड़ोसी पाकिस्तान क्या कर रहा है? अगर आपके मन में भी यही सवाल है तो बता दें कि पाकिस्तान की सुई अब भी कश्मीर पर ही अटकी हुई है।

भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का अमेरिका पहुँचने पर जोरदार स्वागत किया गया। यही नहीं प्रधानमंत्री और उनके प्रतिनिधिमंडल में शामिल मंत्रियों और अधिकारियों का अमेरिकी दौरा भी बेहद व्यस्त है क्योंकि एक के बाद एक मुलाकातों का दौर चल रहा है। भारत के प्रधानमंत्री का दौरा सिर्फ इस मायने में महत्वपूर्ण नहीं है कि भारत को आर्थिक और सामरिक रूप से क्या लाभ होने वाले हैं बल्कि मोदी का यह दौरा इसलिए भी महत्वपूर्ण है कि दुनिया को भारत से क्या सहयोग मिलने वाला है। आत्मनिर्भरता की राह पर तेजी से आगे बढ़ रहा भारत आज विश्व की उभरती महाशक्तियों में से एक है इसलिए चाहे अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडन हों या अन्य देशों के राष्ट्राध्यक्ष, सभी का प्रयास है कि संयुक्त राष्ट्र महासभा को संबोधित करने अमेरिका आये भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से पाँच मिनट बात करने का मौका मिल जाये।

इसे भी पढ़ें: प्रधानमंत्री मोदी ने अमेरिका की उपराष्ट्रपति कमला हैरिस से मुलाकात की

पाकिस्तान को ईंट का जवाब पत्थर से दे रहा भारत 

खैर... अमेरिका में तो मोदी-मोदी हो रहा है और मोदी देश और दुनिया को आगे बढ़ाने पर ध्यान केंद्रित किये हुए हैं लेकिन भारत का पड़ोसी पाकिस्तान क्या कर रहा है? अगर आपके मन में भी यही सवाल है तो बता दें कि पाकिस्तान की सुई अब भी कश्मीर पर ही अटकी हुई है और भले अपना खुद का हाल बुरा हो लेकिन पाकिस्तान कश्मीर राग गाना नहीं छोड़ रहा है और साथ ही तालिबान को मान्यता देने का सभी देशों से आग्रह भी कर रहा है। लेकिन पाकिस्तान के कश्मीर राग का भारत तगड़ा जवाब दे रहा है। हर मंच पर पाकिस्तान की कुटिल चालों को नाकामयाब करने के लिए भारत की टीमें पूरी तैयारी के साथ दिन-रात लगी हुई हैं। पाकिस्तान ने तुर्की के राष्ट्रपति से कश्मीर मुद्दा उठवाया तो भारत ने साइप्रस के संबंध में संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद के प्रासंगिक प्रस्तावों का पालन करने की आवश्यकता पर जोर दे दिया। बौखलाये पाकिस्तान ने इस्लामिक सहयोग संगठन (ओआईसी) के संपर्क समूह के माध्यम से भारत से जम्मू-कश्मीर का विशेष दर्जा समाप्त करने के फैसले को वापस लेने के लिए कह दिया तो भारत ने ओआईसी को स्पष्ट कर दिया कि भारत के अभिन्न अंग केंद्र शासित प्रदेश जम्मू-कश्मीर से संबंधित मामलों में टिप्पणी करने का उसे कोई अधिकार नहीं है।''

शहरयार खान अफरीदी के कपड़े उतरवाये

देखा जाये तो पाकिस्तान सिर्फ आर्थिक रूप से दिवालिया नहीं है बल्कि दिमागी रूप से भी दिवालिया है। उसके नेताओं की क्या इज्जत है यह एक बार फिर दुनिया के सामने आ गया है। अमेरिकी राष्ट्रपति बनने के बाद से जो बाइडन भले दुनिया के सभी नेताओं से बात कर चुके हों लेकिन उन्होंने अब तक पाकिस्तानी प्रधानमंत्री इमरान खान को फोन नहीं किया है। इस बात से मुँह फुलाये इमरान खान इस बार संयुक्त राष्ट्र महासभा को संबोधित करने प्रत्यक्ष रूप से नहीं आये हैं और उन्होंने अपने विदेश मंत्री और सांसद शहरयान खान अफरीदी को अमेरिका भेज दिया है। शहरयार खान पाकिस्तानी संसद की कश्मीर संबंधी विशेष समिति के चेयरमैन हैं। जाहिर है इमरान खान ने शहरयार खान को इसलिए अमेरिका भेजा ताकि वह कश्मीर मुद्दे पर जाकर दुष्प्रचार करें लेकिन शहरयार खान को अमेरिकी हवाई अड्डे पर उतरते ही जिस शर्मिंदगी का सामना करना पड़ा वह उन्हें आजीवन याद रहेगी। शहरयार खान के शरीर से एक-एक कपड़ा उतरवा कर उनकी जाँच की गयी और आव्रजन अधिकारियों ने तीन घंटे तक उनसे पूछताछ के बाद उनको वापस पाकिस्तान भेजने का फैसला किया। काफी आग्रह करने के बाद अमेरिकी अधिकारियों ने शहरयार खान अफरीदी को पाकिस्तान सरकार से फोन पर बात करने की इजाजत दे दी। शहरयार ने रोते हुए इमरान खान को सारा किस्सा सुनाया तो पाकिस्तानी प्रधानमंत्री ने वाशिंगटन स्थित पाकिस्तानी दूतावास के अधिकारियों को निर्देश दिया कि वह अफरीदी की मदद करें। इसके बाद पाकिस्तानी दूतावास के अधिकारियों ने एक हलफनामा देकर अफरीदी को अमेरिका में प्रवेश दिलवाया।

इसे भी पढ़ें: PM मोदी ने ऑस्ट्रेलियाई प्रधानमंत्री से की मुलाकात, कोरोना समेत इन मुद्दों पर हुई चर्चा

शहरयार अफरीदी बचाव में क्या कह रहे हैं?

पाकिस्तानी मीडिया में इस मामले की खूब चर्चाएं हो रही हैं। जैसे ही शहरयार अफरीदी के कपड़े उतरवाने की खबर पाकिस्तान पहुँची तो खूब मीम्स बनने लगे। उधर, जब एक स्थानीय पत्रकार ने अमेरिका में शहरयार अफरीदी से इस बारे में पूछा तो उन्होंने कह दिया कि ये फेक न्यूज है और ऐसा कुछ हुआ ही नहीं। लेकिन सोशल मीडिया पर शहरयार अफरीदी की वह फोटो वायरल हो रही हैं जब हवाई अड्डे पर उनके कपड़े उतरवाये जा रहे थे।

पाकिस्तान का बड़ा घोटाला सामने आया

संयुक्त राष्ट्र महासभा के वार्षिक सत्र को देखते हुए इस समय अमेरिका में खूब गहमागहमी है क्योंकि दुनियाभर के नेता वहां एकत्रित हो रखे हैं। इसलिए मेल-मुलाकातों का दौर भी चल रहा है। लेकिन पाकिस्तान की ओर से आये प्रतिनिधिमंडलों से कोई नहीं मिल रहा है। यही नहीं पाकिस्तान जिन लॉबिस्टों पर लाखों डॉलर प्रति वर्ष खर्च करता है उनके बारे में भी बड़े भ्रष्टाचार का खुलासा हुआ है। दरअसल जिन लोगों के नाम लॉबिस्टों के रूप में दर्ज हैं उनके वाशिंगटन स्थित पते गलत पाये गये हैं। ऐसे में सवाल उठता है कि पाकिस्तान सरकार आम जनता के पैसे का भुगतान किसको कर रही है। जब कोई लॉबिस्ट है ही नहीं तो पैसे किसको दिये जा रहे हैं इस पर पाकिस्तानी विपक्ष ने भी अपनी सरकार से सवाल किया है।

बहरहाल, शहरयार अफरीदी को कोई अमेरिका में पूछ तो रहा नहीं है। वह जिस कश्मीर राग को गाते फिर रहे हैं उसको भी कोई सुन नहीं रहा इसलिए अब वह अमेरिका को ही बदनाम करने पर तुल गये हैं। अपनी एक फेसबुक पोस्ट में यह दिखाते हुए उन्होंने एक वीडियो डाला है कि किस तरह अमेरिका में गरीबी छाई हुई है। इस वीडियो में अफरीदी एक तरह से गरीबी से निबटने में पाकिस्तान सरकार के कार्यों की अमेरिकी सरकार के कार्यों से तुलना करते दिख रहे हैं। इमरान खान ने शहरयार अफरीदी को बड़ी उम्मीद के साथ अमेरिका इसलिए भेजा था कि वह वहां एकत्रित हुए विश्व नेताओं के साथ मुलाकात करके कश्मीर कश्मीर करेंगे लेकिन अफरीदी तो टाइम्स स्कवॉयर पर व्लॉग बनाने में व्यस्त हैं।

-नीरज कुमार दुबे