गर्मियों से बचने के लिए बरतें कुछ सतर्कता, हमेशा ताजे मौसमी फल व सब्जियां हल्के हल्के खाएं

गर्मियों से बचने के लिए बरतें कुछ सतर्कता, हमेशा ताजे मौसमी फल व सब्जियां हल्के हल्के खाएं

चिकित्सकों का कहना है कि बढ़ते तापमान से निर्जलीकरण, त्वचा में जलन, बुखार, हीटस्ट्रोक आदि का खतरा होता है। इसलिए आपको ठीक से संतुलित आहार लेना चाहिए। आपको अपने आहार में मौसमी खाद्य पदार्थों को शामिल करना चाहिए।

हमारे शरीर पर खान-पान के अलावा मौसम और जलवायु का भी प्रभाव पड़ता है। इसलिए किसी एक मौसम में कोई एक दोष बढ़ता है तो कोई दूसरा शांत होता है। जबकि दूसरे मौसम में कोई अन्य दोष बढ़ता घटता रहता है। आयुर्वेद में भी बताया गया है कि आपकी सेहत और मौसम में गहरा संबंध है। इसलिए आयुर्वेद में हर मौसम के हिसाब से रहन-सहन और खान पान के निर्देश दिए गए हैं। इन निर्देशों का यथेष्ठ पालन करके आप स्वस्थ और निरोग रह सकते हैं। 

अब गर्मी दस्तक दे चुकी है। यह दिन प्रतिदिन बढ़ती ही जाएगी। मानव शरीर के लिए यह मौसम ढेर सारी चुनौतियों को साथ लेकर आता है। इसलिए विभिन्न प्रकार की सावधानियां जरूरी हैं। इस मौसम में बाहर का वातावरण अपेक्षाकृत गर्म हो जाता है। जिसके चलते आपके शरीर को भी तापमान में बदलाव के साथ तालमेल बिठाना पड़ता है। 

इसे भी पढ़ें: गर्मियों में ताजगी देने वाला तरबूज है सेहत का खजाना, इसके ये 8 चमत्कारी फायदे जानकर रह जाएंगे दंग

चिकित्सकों का कहना है कि बढ़ते तापमान से निर्जलीकरण, त्वचा में जलन, बुखार, हीटस्ट्रोक आदि का खतरा होता है। इसलिए आपको ठीक से संतुलित आहार लेना चाहिए। आपको अपने आहार में मौसमी खाद्य पदार्थों को शामिल करना चाहिए। ऐसा इसलिए कि गर्मी के मौसम में एक मजबूत प्रतिरक्षा प्रणाली को बनाए रखने के लिए हाइड्रेटेड रहना चाहिए।

यही वजह है कि हमने आपके लिए चिकित्सकों से बातचीत करके यहां कुछ स्वस्थ सुझाव दे रहे हैं जिनका अनुपालन करके आप अपने स्वास्थ्य को किसी भी प्रकार का नुकसान पहुंचाए बगैर इस गर्मी का आनंद ले सकते हैं।

 # अपने नाश्ते व भोजन में लें मौसमी फल व सब्जियां 

इन दिनों अधिकांश सब्जियां और फल साल भर बाजार में उपलब्ध रहते हैं। फिर भी मौसमी फल, सब्जियों व अन्य उबले खाद्य पदार्थों का सेवन करने का अपना आकर्षण और स्वास्थ्य लाभ होता है। इसलिए आप इस मौसम में आम, आलूबुखारा, टमाटर, जामुन, तरबूज, संतरा, खीरा, खरबूजे, तोरी, कद्दू, नेनुआ, सहजन आदि का सेवन करें।

 # गर्मी के प्रकोप से बचने के लिए खुद को हाइड्रेटेड रखें

गर्मी में पानी पीना बेहद जरूरी है, क्योंकि यह आपके शरीर को फिर से हाइड्रेट करने में मदद करता है और इसे बेहतर तरीके से काम करने में काफी मदद करता है। इसलिए आप यह सुनिश्चित करें कि कम से कम 8-10 गिलास पानी पूरे दिन में पिएं और एक अच्छी तरह से हाइड्रेटेड शरीर को सुनिश्चित करें। यदि आपके पास हर समय पानी उपलब्ध नहीं हो सकता है, तो बेहतर स्वाद के लिए खस खस शर्बत, नींबू पानी, लेमनग्रास चाय, मिल्कशेक, गुलकंद, आम पन्ना, सत्तू, ताजा नारियल पानी, गन्ने का रस जैसे पेय पीने का प्रयास करें। आपको पता होना चाहिए कि सौंफ के पानी का सेवन शरीर को डिटॉक्सीफाई करता है, क्योंकि इसके अंदर कई उपयोगी फाइबर होते हैं जो शरीर से टॉक्सिन को बाहर निकालते हैं।

 # भोजन में भाग का आकार कम करें और प्रोटीन सामग्री बढ़ाएं

गर्मियों में भारी भोजन करने के बजाय हल्का भोजन करना अच्छा होता है, खासकर रात के समय में। वहीं, बेहतर पाचन के लिए और सूजन व एसिडिटी से बचने के लिए छोटा और बार-बार भोजन करें। आपके लिए यह जानना जरूरी है कि गर्मी अस्वास्थ्यकर वसा और साधारण कार्ब्स का समय नहीं है। इसलिए प्रोटीन वह है जो आपको ठंडा रखता है, जिससे आपकी त्वचा और बालों को प्राकृतिक, स्वस्थ चमक मिलती है। हालांकि चिकन, उबली हुई मछली और बीन्स जैसे लीन मीट हल्के होते हैं।

# गर्मियों में अधिक ठंडा, शीतल और सुरुचिपूर्ण भोजन करें

गर्मियों में शरीर को अधिक ठंडा करने वाले खाद्य पदार्थों और अधिक हाइड्रेटिंग करने वाले खाद्य पदार्थों का सेवन  करें, जो आपको इस गर्मी में चलने में मदद करेंगे, जैसे- तरबूज, नारियल पानी, ककड़ी, पुदीना, दही, खरबूजे, खसखस, सन, चिया आदि जैसे बीज। वहीं, सोते समय गुलकंद दूध लें। जो यह सुनिश्चित करता है कि आपको आराम से नींद आए और यह एक प्राकृतिक शीतलक पेय  पदार्थ है।

 # हमेशा शीतल पेय या कैफीनयुक्त पेय पदार्थों पर ताजा पेय चुनें

जब भी आपको प्यास बुझाने का मन हो, तो एयरेटेड पैकेज्ड ड्रिंक्स के बजाय खरबूजे का रस, सब्जियों का रस, नारियल पानी, नींबू पानी, छाछ वगैरह पीना पसंद करें। इस मौसम में अत्यधिक कैफीन, चाय या शराब पीने से बचें, क्योंकि वे निर्जलीकरण को बढ़ावा देते हैं।

इसे भी पढ़ें: रोजाना जरूर खाएं एक आँवला, मिलेंगे ये गजब के फायदे, पढ़कर रह जाएंगे दंग

 # गर्मियों के मौसम में हल्के स्नैक्स का सेवन करें, लाभदायक रहेगा

गर्मियों में हल्के तले हुए स्नैक्स का सेवन करें, जिन्हें आपने सर्दियों के दौरान पसंद किया था। क्योंकि यह हल्के नाश्ते के विकल्पों जैसे नट्स, ट्रेल मिक्स (ग्रेनोला, सूखे मेवे, नट्स का संयोजन), बीज, फल आदि का सेवन करने का समय है। फलों के राजा आम को हर रोज दोपहर के भोजन के साथ या दोपहर के नाश्ते के रूप में लें। दोपहर के भोजन के लिए या 4-6 बजे के नाश्ते के रूप में दही और चावल लें। यह रक्त शर्करा के स्तर को नियंत्रित करने में मदद करता है। यह एक अच्छा प्री-बायोटिकऔर प्रो-बायोटिक भोजन है।

 # स्वस्थ शरीर की कुंजी है स्वच्छता 

आप हमेशा यह सुनिश्चित करें कि आप जो कुछ भी खाते या पीते हैं, वह स्वच्छ और स्वास्थ्यकर है। आपको रेस्तरां और यहां तक कि घर के बर्तनों से जीवाणु संक्रमण होने का खतरा होता है। इसलिए हमेशा आप यह सुनिश्चित करें कि वे साफ हैं और खाने से पहले आप हमेशा अपने हाथ धोएं।

 # गर्मियों में बाहर जाने से बचें

गर्मियों के मौसम में जब बाहर बहुत गर्मी हो तो बाहर जाने से बचें, क्योंकि इससे सनबर्न और हीटस्ट्रोक हो सकता है।  वहीं, बाहर जाने से पहले अपने आप को अच्छी तरह से ढक लें। धूप में लंबे समय तक रहने से बचें और छाया में रहना पसंद करें। सन बर्न से बचने के लिए सनस्क्रीन लोशन भी लगाएं।

# गर्मियों के मौसम में खानपान एवं जीवनशैली

इस मौसम में तापमान काफी बढ़ जाता है जिससे सारा वातावरण रूखा और नीरस दिखाई देता है। इन दिनों गर्म हवाओं यानी लू से बचकर रहना चाहिए और अपने खानपान पर विशेष ध्यान देना चाहिए। इन दिनों गर्मी की वजह से पसीना ज्यादा निकलता है और शरीर में पानी की कमी होने लगती है। वहीं, इस मौसम में उल्टी, दस्त और पेचिश की समस्या ज्यादा होती है। इन सभी समस्याओं से बचने के लिए आयुर्वेद में इस मौसम के लिए आहार और रहन सहन से जुड़े ख़ास निर्देश दिए गए हैं।

# गर्मियों में यदि इन चीजों का सेवन करेंगे तो रहेंगे हमेशा स्वस्थ

गर्मियों के मौसम में हल्का, चिकना, आसानी से पचने वाला भोजन करना चाहिए। ठंडे तरल पदार्थों का सेवन करना इस मौसम में अधिक लाभकारी होता है। इसके लिए चीनी, घी, दूध व मट्ठे का सेवन करें। छाछ में पिसा जीरा व थोड़ा नमक मिलाकर पीना गर्मियों के मौसम में बहुत लाभकारी होता है। छाछ का सेवन सुबह और दोपहर में ही करें, रात में नहीं।

वहीं, सब्जियों में चौलाई, करेला, बथुआ, परवल, पके टमाटर, छिल्के सहित आलू, कच्चे केले की सब्जी, सहजन की फली, प्याज, सफेद पेठा, पुदीना, नींबू आदि का सेवन करें। वहीं, दालों में छिलका रहित मूँग, अरहर और मसूर की दाल का सेवन करें। वहीं, फलों में तरबूज, मीठा खरबूजा, मीठा आम, सन्तरा और अंगूर, हरी पतली ककड़ी, शहतूत, फालसा, अनार, आँवले के मुरब्बे का सेवन करें। 

वहीं, सूखे मेवों में किशमिश, मुनक्का, चिरौंजी, अंजीर व भिगोए हुए बादाम का सेवन करें। वहीं, तरल पदार्थों में नींबू की शिकंजी, आम का पन्ना, लस्सी, ठंडाई, चन्दन, खसखस, बेल का शरबत, नारियल पानी आदि का सेवन करें। मिश्री व घी मिला दूध, भैंस का दूध आदि का सेवन भी गर्मियों के मौसम में फायदेमंद होता है।

वहीं, अरहर की दाल में घी और जीरे का छौंक लगाकर खाएं। इसके अलावा, स्वास्थ्यबर्द्धक रसायन के रूप में हरड़ का सेवन समान मात्रा में गुड़ मिला कर करना चाहिए। इस मौसम में भोजन कम मात्रा में और खूब चबाकर-चबाकर खाना चाहिए। खाने को फ्रिज में रखकर बाद में खाने से परहेज करें। वहीं, फ्रिज की बजाय घड़े का पानी पिएं।

# गर्मियों में क्या क्या चीजें ना खाएं

गर्मियों के मौसम में ज्यादा खट्टे और मसालेदार चीजों का सेवन कम करना चाहिए। भारी, तले हुए, मिर्च मसालेदार और बासी खाना भी ना खाएं। उड़द की दाल, लहसुन, सरसों, खट्टी दही, शहद, बैंगन, बर्फ आदि का सेवन बिल्कुल ना करें। हालांकि, शहद को औषधि के अनुपात के रूप में लिया जा सकता है। बाजार में बिकने वाली चाट-चटनी आदि खट्टे पदार्थ, खोये के व्यंजन और उड़द की पिट्ठी से बने पदार्थ भी हानिकारक होते हैं। वहीं, एक बार में अधिक मात्रा में जल नहीं पीना चाहिए, इससे पाचक-अग्नि कमजोर होती है। कुछ-कुछ समय बाद एक-एक गिलास करके पानी पीना लाभकारी है।

# इस मौसम में रहन-सहन में ऐसे करें बदलाव

इस मौसम में गर्मी बहुत ज्यादा होती है। इसलिए रहने और सोने की जगह ठंडी होनी चाहिए। ऐसी जगहों को पंखे, कूलर, एसी आदि के प्रयोग से ठंडा रखें। वहीं, घर से बाहर निकलते समय ठंडा पानी पीकर निकलें। लू से बचने के लिए बाहर निकलते समय साथ में प्याज अवश्य रखें। रात में अगर आप देर तक जागते हैं तो थोड़ी थोड़ी देर में पानी पीते रहें। इससे वात और कफ दोष कुपित नहीं होंगे और कब्ज भी नहीं होगा। जो स्वस्थ शरीर का राज समझा जाता है। वहीं, रात का भोजन विशेष रूप से हल्का और सुपाच्य होना चाहिए। यदि हो सके तो इस समय सप्ताह में एक-दो बार खिचड़ी का सेवन अवश्य करें। रात का भोजन जितना जल्दी हो सके कर लेना चाहिए। इस ऋतु में दिन के समय थोड़ा सा सोया जा सकता है।

# गर्मियों में क्या क्या ना करें

गर्मियों के मौसम में ठंडी जगह से अचानक निकलकर धूप में ना आएं। वहीं, गर्मी में कहीं से आने के बाद थोड़ा रुक कर पसीना सूख जाने के बाद और शरीर का तापमान सामान्य होने पर ही पानी या कोई तरल पेय पदार्थ आदि पिएं। वहीं, फ्रिज के पानी में हमेशा ही सादा पानी मिला कर पियें। इस मौसम में शराब का सेवन कदापि ना करें।

- कमलेश पांडेय

वरिष्ठ पत्रकार व स्तम्भकार