भारतीय बच्ची की मौत पर अमेरिका के रिचर्डसन में लोग दु:खी, भड़का आक्रोश

American girl dies in Richardson death mournful father
तीन वर्षीय भारतीय बच्ची शेरीन मैथ्यूज की मौत की खबर सुनकर अमेरिका के रिचर्डसन में लोग शोक में डूब गए हैं और बच्ची के पिता के इस दावे पर सवाल खड़े कर रहे हैं कि शेरीन दूध पी रही थी तभी गले में दूध अटकने के कारण उसका दम घुट गया।

ह्यूस्टन। तीन वर्षीय भारतीय बच्ची शेरीन मैथ्यूज की मौत की खबर सुनकर अमेरिका के रिचर्डसन में लोग शोक में डूब गए हैं और बच्ची के पिता के इस दावे पर सवाल खड़े कर रहे हैं कि शेरीन दूध पी रही थी तभी गले में दूध अटकने के कारण उसका दम घुट गया। शेरीन को दो साल पहले बिहार के एक अनाथालय से गोद लेने वाले उसके पिता ने दावा किया है कि दूध अटकने के कारण बच्ची का दम घुट गया।

इस दावे पर कई लोग यह सवाल कर रहे हैं कि जब बच्ची को सांस लेने में तकलीफ हो रही थी, तब उसने अपनी पत्नी को क्यों नहीं जगाया जो एक नर्स है। शेरीन को शारीरिक विकास संबंधी समस्या थी और उसे बात करने में दिक्कत होती थी। उसे दो सप्ताह से अधिक समय तक तलाश और जांच करने के बाद अमेरिका की पुलिस ने कल मृत घोषित किया। वह सात अक्तूबर से लापता थी। शेरीन के पिता 37 वर्षीय वेस्ले मैथ्यूज ने पुलिस को बताया कि उसकी बेटी दूध पी रही थी। उसी दौरान दूध अटकने के कारण उसका दम घुट गया और उसने उसका शव घर से बाहर निकाला क्योंकि उसे ‘‘लगा कि उसकी मौत हो गई है।’’

पुलिस को विरोधाभासी बयान देने के कारण मैथ्यूज को फिर से गिरफ्तार किया गया और उस पर प्रथम श्रेणी के संगीन अपराध के तहत आरोप लगाए गए हैं। इस गिरफ्तारी से एक दिन पहले उपनगरीय डलास में मैथ्यूज के घर के पास एक सुरंग में एक बच्ची का शव मिला था। मौत के कारण की अभी जांच की जा रही है लेकिन इस खबर से पूरे टेक्सास और आसपास के इलाकों में लोग स्तब्ध, दुखी एवं गुस्से में हैं और बच्ची के निधन पर शोक जाहिर कर रहे हैं। वेस्ले की पत्नी सिनी मैथ्यूज एक पंजीकृत नर्स है और वह घटना के समय अपने कमरे में कथित रूप से सो रही थी। वह शायद बच्ची की मदद कर सकती थी।

टेक्सास निवासी डियाना ने नम आंखों से कहा, ‘‘पहले लड़की को सजा देने और पेड़ के नीचे खड़ा करने की बात, बाद में गैरेज में देर रात तीन बजे दूध पीने के दौरान उसका दम घुटने की बात..... , सब झूठ है। यह दुखदायी एवं स्तब्ध करने वाला है।’’ उन्होंने कहा, ‘‘जब पुलिस को मौत का असल कारण पता चलेगा तो जल्द ही कोई और कहानी सामने आएगी।’’ एक अन्य निवासी बराबा डायमंड जॉनसन ने सवाल किया कि वेस्ले की पत्नी डलास में बच्चों के एक अस्पताल में नर्स है तो जब शेरीन को दूध अटकने के कारण सांस लेने में दिक्कत हो रही थी तो उसने अपनी पत्नी को क्यों नहीं जगाया।

पिछले रविवार से ही लोग दुखी दिल से बच्ची के लिए प्रार्थना कर रहे थे। इस घटना के बाद कई अनुत्तरित सवालों के साथ समुदाय स्तब्ध है। शेरीन ने पिछले दो सप्ताह में उपनगर में पूरे समुदाय को एकजुट कर दिया है। अनगिनत स्वयंसेवकों ने रिचर्डसन में और उसके आसपास उसे खोजने में मदद की। इस दु:खद घटनाक्रम का पता लगने के कुछ घंटों बाद रविवार शाम कई लोग बच्ची के लिए प्रार्थना करने को एकत्र हुए। इसका आयोजन करने वाले उमर सिद्दिकी ने कहा, ‘‘लोग स्तब्ध, गुस्से में और हताश हैं। हमें अपनी ऊर्जा एवं ध्यान अब बच्ची पर केंद्रित करना चाहिए और ऐसे तरीके खोजने चाहिए जिससे उसे जल्द से जल्द न्याय मिल सके।’’ इस बीच, रिचर्डसन पुलिस बच्ची के लापता होने और उसकी मौत के संबंध में जारी जांच की नई जानकारी साझा कर रही है।

रिचर्डसन पुलिस विभाग के सार्जंट केविन पेरलिच ने संवाददाताओं को बताया कि उन्होंने उस सुरंग के पास के इलाके में पहले तलाश की थी जहां शेरीन का रविवार को शव मिला, लेकिन उस समय उन्हें वहां कुछ नहीं मिला था। उन्होंने बताया कि शनिवार रात भर भारी बारिश के बाद पुलिस ने रविवार सुबह खोजी कुत्तों की मदद से फिर से इलाके में तलाश की क्योंकि बारिश के बाद गंध बढ़ जाती है। इसके बाद बच्ची का शव मिला। रिचर्डसन पुलिस ने कल सिनी से अपील की थी कि वह पुलिस के साथ बात करने पर सहमत हो। वह सात अक्तूबर से पुलिस के साथ कथित रूप से सहयोग नहीं कर रही है।

सिनी के वकील रहे केंट स्टार ने कहा कि वह अपनी बच्ची की मौत से ‘‘बहुत दु:खी’’ है और वह अपनी चार वर्षीय जैविक बच्ची का संरक्षण फिर से प्राप्त करने की कोशिश कर रही है जिसे उसकी बहन के लापता होने के बाद ‘फोस्टर केयर’ में भेज दिया गया है। स्टार ने कल एनबीसी5 को बताया कि वह मामले की पैरवी करने से पीछे हट रहे हैं और अब वह सिनी के वकील नहीं हैं। शेरीन के शव की कल पहचान कर ली गई थी। पोस्टमार्टम रिपोर्ट अभी आनी बाकी है। यह स्पष्ट नहीं है कि क्या प्राधिकारियों को वेस्ले मैथ्यूज के इस नए बयान पर विश्वास है या नहीं।

Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


अन्य न्यूज़