भारत के साथ भागीदारी का बहुत सम्मान करता हूं: जो बाइडेन

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  अक्टूबर 25, 2020   10:35
भारत के साथ भागीदारी का बहुत सम्मान करता हूं: जो बाइडेन

उन्होंने कहा कि वह बाजारों को खोलेंगे और अमेरिका तथा भारत में मध्य वर्ग के लिए काम करेंगे तथा जलवायु परिवर्तन जैसी अंतरराष्ट्रीय चुनौतियों का सामना भी साथ में करेंगे।

वाशिंगटन। भारत के वायु प्रदूषण पर अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप की टिप्पणी की आलोचना करते हुए डेमोक्रेटिक पार्टी के राष्ट्रपति पद के उम्मीदवार जो बाइडेन ने शनिवार को कहा कि वह और उप राष्ट्रपति पद के लिए उनकी पार्टी की उम्मीदवार कमला हैरिस, अमेरिका के साथ भारत की साझेदारी का बेहद सम्मान करते हैं। बाइडेन ने एक ट्वीट में कहा, ‘‘ राष्ट्रपति ट्रंप ने भारत को ‘गंदा’ देश बताया है। इस तरह से अपने मित्रों के बारे में बात नहीं की जाती है और इस तरह से जलवायु परिवर्तन जैसी वैश्विक चुनौतियों का सामना भी नहीं किया जाता है।’’

ट्रंप ने दो दिन पहले राष्ट्रपति चुनाव की बहस के दौरान चीन, भारत और रूस के बारे में कहा था कि ये देश अपनी ‘गंदी’ हवाओं का ध्यान नहीं रख रहे हैं। बृहस्पतिवार को टेनेसी के नैशविल में बाइडेन के साथ अंतिम बहस के दौरान ट्रंप ने कहा था, ‘‘ चीन को देखें, वह कितना गंदा है। रूस को देखें। भारत को देखें। वहां हवा बहुत गंदी है।’’ इंडिया वेस्ट साप्ताहिक के हालिया अंक में प्रकाशित अपने स्तंभ (लेख) को ट्वीट करते हुए उन्होंने शनिवार को एक ट्वीट में कहा, ‘‘कमला हैरिस और मैं हमारी साझेदारी को खूब महत्व देते हैं और हम हमारी विदेशी नीति में सम्मान को फिर से केंद्र में रखेंगे।’’ 

इसे भी पढ़ें: कोरोना वैक्सीन पर अब अमेरिका में राजनिति! बाइडेन ने फ्री टीका का किया वादा

उन्होंने कहा कि अगर वह राष्ट्रपति चुने जाते हैं तो अमेरिका और भारत आतंकवाद के सभी रूपों के खिलाफ और शांति और स्थिरता के ऐसे क्षेत्र को बढ़ावा देने के लिए साथ काम करेंगे, जहां चीन या कोई अन्य देश अपने पड़ोसी देशों को चेतावनी नहीं देता हो। उन्होंने कहा कि वह बाजारों को खोलेंगे और अमेरिका तथा भारत में मध्य वर्ग के लिए काम करेंगे तथा जलवायु परिवर्तन जैसी अंतरराष्ट्रीय चुनौतियों का सामना भी साथ में करेंगे।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।



Prabhasakshi logoखबरें और भी हैं...

अंतर्राष्ट्रीय

झरोखे से...