कराची धमाके ने उड़ा दी शहबाज की नींद? भागे-भागे पहुंचे चीनी दूतावास

कराची धमाके ने उड़ा दी शहबाज की नींद? भागे-भागे पहुंचे चीनी दूतावास
Creative Common

पाकिस्तान में बम धामकों की खबर अक्सर आती है। लेकिन इस घटना के बाद जो एक बात देखी गई वो अमूमन नहीं देखी जाती है। ब्लास्ट के बाद पाकिस्तान के प्रधानमंत्री नवाज शरीफ चीनी दूतावास पहुंचे और दुख जताया। पाक पीएम के इस कदम से पता चलता है कि उन पर चीन का कितना ज्यादा दवाब है।

पाकिस्तान के कराची में एक आत्मघाती धमाका हुआ जिसमें सुसाइड बॉम्बर के अलावा चार लोगों की मौत हो गई। इस हमले की जिम्मेदारी बलूच लिबरेशन आर्मी यानी बीएलए ने ली है। आत्मघाती महिला का नाम शैरी बलोच है। वो बलूच लिबरेशन आर्मी की मजीद बिग्रेड की सदस्य बताई जा रही हैं। पाकिस्तान में बम धामकों की खबर अक्सर आती है। लेकिन इस घटना के बाद जो एक बात देखी गई वो अमूमन नहीं देखी जाती है। ब्लास्ट के बाद पाकिस्तान के प्रधानमंत्री नवाज शरीफ चीनी दूतावास पहुंचे और दुख जताया।  पाक पीएम के इस कदम से पता चलता है कि उन पर चीन का कितना ज्यादा दवाब है।

 शहबाज शरीफ ने क्या कहा?

ये वही नवाज शरीफ हैं जो जब सत्ता में आए थे तो चीन को अपना सबसे भरोसेमंद दोस्त बताया था। चीनी नागरिकों की मौत पर दुख जताते हुए शहबाज शरीफ ने कहा कि हमारे कई चीनी दोस्तों की हत्या हुई है। मैं चीन की सरकार और चीन के लोगों के लिए अपनी संवेदनाएं व्यक्त करता हूं। मैं पाकिस्तानी सरकार की तरफ से भरोसा देता हूं कि हम दोषियों को ढूंढ़ निकालेंगे और तब तक चुप नहीं बैठेंगे।  

इसे भी पढ़ें: चीन ने दो करोड़ से अधिक लोगों की कोरोना वायरस संक्रमण की जांच के आदेश दिए

बीएलए के बारे में जानिए 

 कराची हमले की जिम्मेदारी लेने वाले बलूच लिबरेशन आर्मी की स्थापना 2000 में हुई थी। बलूचिस्तान को पाकिस्तान से अलग कर स्वतंत्र देश बनाना ही बीएलए का मकसद है। इसलिए ये एजेंडे के साथ वो पाकिस्तान में हिंसक हमले कर रहा है। बीएलए लगातार यह कहती रही है कि पाकिस्तान की सेना बलूचिस्तान प्रांत के लोगों के साथ अमानवीय व्यवहार करती है। पाकिस्तान इस प्रांत की संपदाओं का सिर्फ दोहन कर रहा है।

आत्मघाती हमले का सीसीटीवी फुटेज आया सामने 

कराची यूनिवर्सिटी के पास हुए धमाके में मारे गए  तीन चीन के नागरिक हैं। इस सुसाइड अटैक का सीसीटीवी वीडियो सामने आया है। जिसमें महिला सुसाइड बॉम्बर को साफ देखा जा सकता है। वीडियो यूनिवर्सिटी कैंपस का बताया जा रहा है। जहां महिला मानव बम सड़क के किनारे एक मोड़ पर घात लगाकर बस का इंतजार करती है और सीसीटीवी कैमरे की तरफ भी देखती है। तभी चीन के नागरिकों की वैन पास आ जाती है। ये महिला बस की तरफ बढ़ती है और इसके हाथों में रिमोट कंट्रोल होता है।  सफेद रंग की वैन जब महिला के करीब पहुंचती है वो रिमोट का बटन दबा देती है और फिर धमाका होता है। महिला खुद भी मारी जाती है और उसके साथ चार अन्य लोगों की भी मौत हो जाती है। 






Prabhasakshi logoखबरें और भी हैं...

अंतर्राष्ट्रीय

झरोखे से...