24 घंटे में कोविड-19 के 7,992 नए मामले सामने आए, 393 मरीजों की मौत

7,992 new cases of covid-19 were reported in 24 hours 393 patients died
देश में पिछले 24 घंटे में कोविड-19 के 7,992 नए मामले सामने आए हैं, जिसके बाद कोरोना वायरस से संक्रमितों की कुल संख्या 3,46,682,736 हो गई है तथा उपचाराधीन मरीजों की संख्या गिरकर 93,277 हो गई है, जो 559 दिनों में सबसे कम है।

नयी दिल्ली। देश में पिछले 24 घंटे में कोविड-19 के 7,992 नए मामले सामने आए हैं, जिसके बाद कोरोना वायरस से संक्रमितों की कुल संख्या 3,46,682,736 हो गई है तथा उपचाराधीन मरीजों की संख्या गिरकर 93,277 हो गई है, जो 559 दिनों में सबसे कम है। केन्द्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय की ओर से शनिवार सुबह आठ बजे जारी किए गए अद्यतन आंकड़ों के अनुसार, 393 और मरीजों की मौत के बाद मृतकों की संख्या बढ़कर 4,75,128 हो गई। देश में लगातार 44 दिन से संक्रमण के दैनिक मामलों की संख्या 15,000 से नीचे है।

इसे भी पढ़ें: हेलीकॉप्टर हादसे का शिकार हुए पांच और सैन्यकर्मियों के शवों की पहचान की गई

स्वास्थ्य मंत्रालय ने बताया कि उपचाराधीन मरीजों की संख्या गिरकर 93,277 हो गई, जो कि कुल मामलों का 0.27 फीसदी है। यह संख्या पिछले 559 दिन में सबसे कम है। वहीं, राष्ट्रीय स्तर पर मरीजों के स्वस्थ होने की दर 98.36 फीसदी है और यह मार्च, 2020 के बाद से सबसे ज्यादा है। पिछले 24 घंटे में उपचार करा रहे मरीजों की संख्या में 1,666 की कमी आई है। आंकड़ों के अनुसार, दैनिक संक्रमण दर 0.64 प्रतिशत दर्ज की गयी, जो पिछले 68 दिन से दो प्रतिशत से कम है। साप्ताहिक संक्रमण दर 0.71 प्रतिशत दर्ज की गयी, जो पिछले 27 दिन से एक प्रतिशत से कम है।

इसे भी पढ़ें: ओमीक्रोन का खतरा ! नाइजीरिया से इंदौर लौटे भाई-बहन कोरोना वायरस से संक्रमित मिले

देश में अभी तक कुल 3,41,14,331 लोग संक्रमण मुक्त हो चुके हैं और कोविड-19 से मृत्यु दर 1.37 प्रतिशत है। राष्ट्रव्यापी टीकाकरण अभियान के तहत अभी तक कोविड-19 रोधी टीकों की 131.99 करोड़ से अधिक खुराक दी जा चुकी है। देश में पिछले साल सात अगस्त को संक्रमितों की संख्या 20 लाख, 23 अगस्त को 30 लाख और पांच सितंबर को 40 लाख से अधिक हो गई थी। वहीं, संक्रमण के कुल मामले 16 सितंबर को 50 लाख, 28 सितंबर को 60 लाख, 11 अक्टूबर को 70 लाख, 29 अक्टूबर को 80 लाख और 20 नवंबर को 90 लाख के पार चले गए थे। देश में 19 दिसंबर को ये मामले एक करोड़ के पार, इस साल चार मई को दो करोड़ के पार और 23 जून को तीन करोड़ के पार चले गए थे।

Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


अन्य न्यूज़