यूपी में खूब बज रही सियासी धुन, 'आएंगे फिर योगी ही' के जवाब में अखिलेश ने लॉन्च किया 'खदेड़ा होइबे'

यूपी में खूब बज रही सियासी धुन, 'आएंगे फिर योगी ही' के जवाब में अखिलेश ने लॉन्च किया 'खदेड़ा होइबे'

समाजवादी पार्टी ने इस गाने को अपने ऑफिशियल टि्वटर हैंडल से साझा किया है। गाने में योगी आदित्यनाथ के नेतृत्व वाले भाजपा सरकार को घेरने के लिए महंगाई, बेरोजगारी, तानाशाही और अत्याचार जैसे मुद्दों का सहारा लिया गया है।

उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव को लेकर सभी राजनीतिक दल एड़ी-चोटी का दमखम लगाने में जुट गए हैं। वोटरों को लुभाने के लिए गीत-संगीत और नारे का भी खूब इस्तेमाल किया जा रहा है। पश्चिम बंगाल में जिस तरीके से 'खेला होबे' पर की धुन पर सवार होकर ममता बनर्जी ने भाजपा का रास्ता ब्लॉक किया था। ठीक वैसे ही उत्तर प्रदेश में अखिलेश यादव कर रहे हैं। अखिलेश यादव ने बंगाल के 'खेला होबे' के तर्ज पर उत्तर प्रदेश में 'खदेड़ा होइबे' का नारा दिया था जिसे अब गाने में तब्दील किया जा चुका है। समाजवादी पार्टी ने इस गाने को अपने ऑफिशियल टि्वटर हैंडल से साझा किया है। गाने में योगी आदित्यनाथ के नेतृत्व वाले भाजपा सरकार को घेरने के लिए महंगाई, बेरोजगारी, तानाशाही और अत्याचार जैसे मुद्दों का सहारा लिया गया है।

गाना अवधी और भोजपुरी में मिलाजुला है जो कि मध्य और पूर्वी उत्तर प्रदेश में वोटरों को लुभाने में मददगार साबित हो सकता है। 'खदेड़ा होइबे' का मतलब किसी को भगाना होता है। अखिलेश यादव अपनी चुनावी रैलियों में लगातार इस नारे का इस्तेमाल कर रहे हैं और इसी के आस-पास अपनी चुनावी रणनीति भी तैयार कर रहे हैं। अखिलेश यादव लगातार उत्तर प्रदेश में 400 से ज्यादा सीटें जीतने का दावा कर रहे हैं। इतना ही नहीं, वह नित्य नए भाजपा पर आरोप लगा रहे हैं। दूसरी ओर भाजपा की ओर से भी पलटवार किया जाता रहा है।

इसे भी पढ़ें: डबल इंजन की सरकार का क्या लाभ होता है, यह उत्तर प्रदेश में आकर देखिये

ऐसा नहीं है कि सिर्फ अखिलेश यादव ही सियासी धुन पर सवार हो रहे हैं। इससे पहले भाजपा ने भी योगी के गुणगान में एक गाना लांच किया था। इस गाने को पार्टी नेता और भोजपुरी सुपर स्टार दिनेश लाल यादव निरहुआ ने गाया था। गाने का इस्तेमाल योगी आदित्यनाथ के तकरीबन हर रैली में होता है और फिलहाल यह गाना उत्तर प्रदेश में भाजपा के लिए एंथम सा बन गया है। गाने के बोल हैं चाहे ज़ोर लगा लो… चाहे जितना शोर मचा लो आएँगे फिर योगी ही। 





नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।