पंजाब कांग्रेस में एक और विवाद का जन्म! रावत बोले- सिद्धू के नेतृत्व में लड़ा जाएगा अगला चुनाव, सुनील जाखड़ ने जताई हैरानी

पंजाब कांग्रेस में एक और विवाद का जन्म! रावत बोले- सिद्धू के नेतृत्व में लड़ा जाएगा अगला चुनाव, सुनील जाखड़ ने जताई हैरानी

हरीश रावत के इस बयान के बाद पंजाब में अब नया विवाद शुरू हो गया है। पंजाब कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष सुनील जाखड़ ने हरीश रावत के बयान पर हैरानी जताई है। जाखड़ ने इस मामले को लेकर एक ट्वीट किया जिसमें उन्होंने नाराजगी जाहिर की और कहा कि रावत का यह बयान चौंकाने वाला है।

पंजाब कांग्रेस में एक विवाद सुलझा ही नहीं है कि दूसरा विवाद जन्म लेता दिखाई दे रहा है। दरअसल, पंजाब कांग्रेस के प्रभारी हरीश रावत ने कहा है कि आगामी विधानसभा चुनाव में उनकी पार्टी नवजोत सिंह सिद्धू की अगुवाई में चुनाव लड़ेगी। रावत ने समाचार एजेंसी एएनआई से बातचीत करते हुए कहा कि मौजूदा राजनीतिक परिस्थितियों में नवजोत सिंह सिद्धू बेहद लोकप्रिय हैं। हालांकि उन्होंने यह भी कहा कि राज्य विधानसभा चुनाव में कांग्रेस का चेहरा कौन होगा इसका निर्णय तो कांग्रेस अध्यक्ष लेंगी लेकिन मौजूदा स्थितियों में प्रदेश कांग्रेस कमेटी के तहत सीएम कैंडिडेट के साथ चुनाव लड़ा जाएगा जिसके प्रमुख नवजोत सिंह सिद्धू बेहद लोकप्रिय हैं।

इसे भी पढ़ें: न सिद्धू न जाखड़ और न ही रंधावा, चरणजीत सिंह चन्नी ने बाजी मारी, जानें इनके बारे में संपूर्ण जानकारी, पहली बार पंजाब में दलित नेता को मिली बागडोर

जाखड़ का बयान

हरीश रावत के इस बयान के बाद पंजाब में अब नया विवाद शुरू हो गया है। पंजाब कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष सुनील जाखड़ ने हरीश रावत के बयान पर हैरानी जताई है। जाखड़ ने इस मामले को लेकर एक ट्वीट किया जिसमें उन्होंने नाराजगी जाहिर की और कहा कि रावत का यह बयान चौंकाने वाला है। जाखड़ ने अपने ट्वीट में कहा कि मुख्यमंत्री के रूप में चरणजीत चन्नी के शपथ ग्रहण के दिन रावत का यह बयान कि 'चुनाव सिद्धू के नेतृत्व में लड़े जाएंगे' चौकाने वाला है ।उन्होंने कहा कि यह सीएम के अधिकार को ना सिर्फ कमजोर करने की कोशिश है बल्कि पद पर उनकी नियुक्ति के उद्देश्य को भी खारिज किए जाने का प्रयास है।

इसे भी पढ़ें: शपथ ग्रहण से पहले पंजाब के मनोनीत सीएम चरणजीत सिंह चन्नी ने गुरुद्वारे में की अरदास

चन्नी होंगे पंजाब के नए

पंजाब में कांग्रेस के भीतर लंबे समय तक चली तनातनी और अमरिंदर सिंह के इस्तीफे के बाद वरिष्ठ दलित नेता चरणजीत सिंह चन्नी को रविवार को पार्टी विधायक दल का नया नेता चुना गया। वह पंजाब के पहले दलित नेता हैं, जो राज्य का मुख्यमंत्री बनेंगे। कांग्रेस के पंजाब प्रभारी हरीश रावत ने चन्नी के कांग्रेस विधायक दल का नेता चुने जाने की जानकारी दी। रावत ने ट्वीट किया, ‘‘ यह घोषणा करते हुए मुझे बहुत खुशी हो रही है कि चरणजीत सिंह चन्नी को सर्वसम्मति से कांग्रेस विधायक दल का नेता चुना गया।’’ विधायक दल का नेता चुने जाने के बाद चन्नी, प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष नवजोत सिंह सिद्धू और प्रदेश प्रभारी हरीश रावत ने राजभवन पहुंचकर राज्यपाल बनवारीलाल पुरोहित से मुलाकात की और सरकार बनाने का दावा पेश किया। राज्यपाल से मिलने के बाद चन्नी ने संवाददाताओं को बताया कि राज्यपाल ने शपथ ग्रहण के लिए सोमवार सुबह 11 बजे बुलाया है। कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी, वरिष्ठ नेता अमरिंदर सिंह, मनीष तिवारी तथा कई अन्य पार्टी नेताओं ने चन्नी को बधाई दी।

 

 





नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

Prabhasakshi logoखबरें और भी हैं...

राष्ट्रीय

झरोखे से...