भागवत कथा वाचक तरुण मुरारी बापू ने किया राष्ट्रपिता का अपमान, पुलिस ने दर्ज किया मामला

Tarun murari bapu
सुयश भट्ट । Jan 04, 2022 1:27PM
तरुण मुरारी बापू ने महात्मा गांधी को लेकर कहा कि जो राष्ट्र के टुकड़े कर दें वो कैसे राष्ट्रपिता हो सकता है। मैं उसका विरोध करता हूं वह राष्ट्रद्रोही हैं। उन्होंने कहा कि महात्मा गांधी ना तो महात्मा है ना राष्ट्रपिता हो सकते बल्कि उन्होंने देश के टुकड़े कर दिए। वे देशद्रोही हैं उन्होंने अपने जीते जी भारत के टुकड़े करवा दिए।

भोपाल। राष्ट्रपिता महात्मा गांधी पर कालीचरण महाराज के विवादित बयान के बाद अब एक और बाबा ने बापू को लेकर विवादित बयान दे डाला है। नरसिंहपुर में सोमवार को भागवत कथा वाचक तरुण मुरारी बापू ने महात्मा गांधी को देशद्रोही बताया है।

आपको बता दें कि नरसिंहपुर स्टेशन गंज पुलिस ने विभिन्न धाराओं में तरुण मुरारी बापू पर मामला दर्ज कर लिया है। दरअसल नरसिंहपुर के छिंदवाड़ा रोड़ स्थित वीरा लॉन में श्रीमद्भागवत कथा का कार्यक्रम हो रहा था। इस में कथावाचक के रूप में तरुण मुरारी बापू शामिल हुए थे।

इसे भी पढ़ें:MP में बेकाबू हुआ कोरोना, पिछले 24 घंटो में मिले 308 मरीज, 1 की मौत 

दरअसल तरुण मुरारी बापू ने महात्मा गांधी को लेकर कहा कि जो राष्ट्र के टुकड़े कर दें वो कैसे राष्ट्रपिता हो सकता है। मैं उसका विरोध करता हूं वह राष्ट्रद्रोही हैं। उन्होंने कहा कि महात्मा गांधी ना तो महात्मा है ना राष्ट्रपिता हो सकते बल्कि उन्होंने देश के टुकड़े कर दिए। वे देशद्रोही हैं उन्होंने अपने जीते जी भारत के टुकड़े करवा दिए। इसलिए उन्हें देशद्रोही कहा जाना चाहिए।

इस बयान के बाद कांग्रेस ने इसे लेकर आपत्ति दर्ज कराते हुए पुलिस अधीक्षक को ज्ञापन दिया था। कांग्रेस ने ज्ञापन देते हुए तरुण बापू पर तत्काल मामला दर्ज करने की मांग की थी। इस मामले में संज्ञान लेते हुए जिला प्रशासन की ओर से थाना स्टेशन गंज में 153, 504, 505 आईपीसी के तहत मामला दर्ज कर लिया गया है।

इसे भी पढ़ें:कालीचरण महाराज की गिरफ्तारी को लेकर नरोत्तम मिश्रा ने जताई आपत्ति, कहा - यह इंटर स्टेट प्रोटोकॉल का उल्लंघन है 

वहीं इस कार्यक्रम के दौरान वहां बीजेपी के नेताओं के बैनर लगे होने से कई सवाल खड़े हो रहे हैं। ये पूरा मामला नरसिंहपुर के छिंदवाड़ा रोड पर वीरा लॉन की भागवत पंडाल के दौरान का है। जहां भागवत कथा वाचक हरिद्वार से आए संत तरुण मुरारी बापू भक्तों के बीच कथा कह रहे थे।

नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

अन्य न्यूज़