• मथुरा वाणिज्य कर टीम के साथ हुई घटना में मामला दर्ज, वाहन चालकों से पूछताछ जारी

सीटीओ व सिपाही की मृत्यु तथा ज्वाइंट कमिश्नर व असिस्टेंट कमिश्नर सहित पांच अन्य लोगों को गंभीर रूप से घायल कर देने के मामले में वाणिज्य कर विभाग अलीगढ़ जोन के अतिरिक्त आयुक्त अनूप कुमार माहेश्वरी ने अज्ञात लोगों के खिलाफ हत्या और जानलेवा हमले का मामला बृहस्पतिवार देर रात थाना नौहझील में दर्ज कराया है।

मथुरा। उत्तर प्रदेश के मथुरा जनपद में बुधवार की रात एक्सप्रेस-वे पर चांदी ले जा रही पिकअप वैन की जांच करते समय आगरा की ओर से आ रहे कैंटर चालक द्वारा टक्कर मार दिए जाने से सीटीओ व सिपाही की मृत्यु तथा ज्वाइंट कमिश्नर व असिस्टेंट कमिश्नर सहित पांच अन्य लोगों को गंभीर रूप से घायल कर देने के मामले में वाणिज्य कर विभाग अलीगढ़ जोन के अतिरिक्त आयुक्त अनूप कुमार माहेश्वरी ने अज्ञात लोगों के खिलाफ हत्या और जानलेवा हमले का मामला बृहस्पतिवार देर रात थाना नौहझील में दर्ज कराया है।

इसे भी पढ़ें: भाजपा मुख्यालय में पार्टी के शीर्ष नेताओं के बीच मंथन, अमित शाह सहित कई मंत्री हुए शामिल

गौरतलब है कि बुधवार की रात 12 बजे के करीब जब यह घटना घटी तो उसमें दो लोगों की मौके पर ही मौत हो गई और उच्च अधिकारियों सहित पांच अन्य गंभीर रूप से घायल हो गए। इस मामले में अब पुलिस तथा वाणिज्य कर विभाग के अधिकारी इस लाइन पर भी जांच कर रहे हैं कि कहीं यह दुर्घटना कथित रूप से चांदी की तस्करी कर रही कोरियर कंपनी व माल को बचाने के लिए कराया गया प्रयास तो नहीं है। वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक डा. गौरव ग्रोवर ने बताया कि उक्त प्रकरण में जिस पिकअप वैन की जांच की जा रही थी, उसके चालक बिट्टू व टक्कर मारने वाले रद्दी के ट्रक चालक बनवारी लाल शर्मा को हिरासत में लेकर पूछताछ की जा रही है। बिट्टू ने बताया है कि पिकअप वैन में ले जाई जा रही चांदी आगरा के किनारी बाजार स्थित मोती प्लाजा से रवि नाम के व्यक्ति ने लोड कराई थी। चांदी के वजन की जानकारी उसे नहीं है। उन्होंने बताया, फिलहाल पुलिस पूरे मामले की गहनता से तहकीकात कर रही है तथा मामले के हर पहलू को देखते हुए जांच की जाएगी।

इसे भी पढ़ें: कोलकाता पुलिस ने फर्जी टीकाकरण अभियान मामले में जांच के लिए एसआईटी का गठन किया

कैंटर चालक चांदी ले जाने वाली वैन के लोगों से मिला हुआ भी हो सकता है, और वह कोई अलग व्यक्ति भी हो सकता है जो वास्तविकता में झपकी लग जाने से दुर्घटनावश ही ठीक उसी दौरान पिकअप से जा टकराया, जबकि वह वहां पहुंची ही थी और कर विभाग की टीम उसकी जांच करने लगी थी। एसपी ग्रामीण श्रीश चंद्र ने बताया, टीम के इंचार्ज ज्वाइंट कमिश्नर मनोज त्रिपाठी की हालत नाजुक बताई जा रही है। वे कोमा में हैं। आगरा में भर्ती हैं तथा वाणिज्य कर विभाग के अधिकारी व कर्मचारी उनकी देखभाल कर रहे हैं।

वाणिज्य कर विभाग के अधिकारियों के अनुसार यह कार्यवाही बहुत ही गोपनीय ढंग से अंजाम दी जा रही थी। इसलिए इस घटना से यही लगता है कि जांच प्रभावित करने के लिए ही ऐसा किया गया था। उन्होंने बताया, घटना का खुलासा करने के लिए मांट के पुलिस उपाधीक्षक धर्मेंद्र चैहान के नेत्रृत्व में तीन टीमें अलग-अलग दिशाओं में कार्य कर रही हैं। इस प्रकरण में सर्विलांस का भी सहारा लिया जा रहा है तथा रास्ते के सभी सीसीटीवी खंगाल कर दोनों वाहनों या अन्य किसी की भी उपस्थिति के लिंक तलाशे जा रहे हैं।