पश्चिम बंगाल चुनाव के लिए कांग्रेस ने हेमंत से काफी रुपये मंगाये : रघुवर दास

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  जनवरी 23, 2021   12:37
पश्चिम बंगाल चुनाव के लिए कांग्रेस ने हेमंत से काफी रुपये मंगाये : रघुवर दास

झारखंड के पूर्व मुख्यमंत्री रघुवर दास ने आज यहां आरोप लगाया कि पश्चिम बंगाल चुनाव के लिए कांग्रेस ने मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन से काफी रुपये मंगाये क्योंकि कांग्रेस झारखंड को अपना चरागाह समझती है।

रांची। झारखंड के पूर्व मुख्यमंत्री रघुवर दास ने आज यहां आरोप लगाया कि पश्चिम बंगाल चुनाव के लिए कांग्रेस ने मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन से काफी रुपये मंगाये क्योंकि कांग्रेस झारखंड को अपना चरागाह समझती है। पूर्व मुख्यमंत्री ने आज यहां भाजपा प्रदेश कार्यालय पर आयोजित एक संवाददाता सम्मेलन में आरोप लगाया, ‘‘इस बात की काफी चर्चा है कि कांग्रेस पार्टी ने पश्चिम बंगाल के चुनाव के लिए काफी रुपये (मुख्यमंत्री) हेमंत सोरेन जी से मंगाया है। इसीलिए हाल में विशेष विमान (चार्टर्ड प्लेन) से मुख्यमंत्री जी हड़बड़ा कर दिल्ली गये।’’

इसे भी पढ़ें: लालू यादव से संबंधित जेल नियमावली उल्लंघन मामले में सरकार और रिम्स से नाराज उच्च न्यायालय

दास ने अपने दावों के समर्थन में उद्धृत किया कि स्वयं कांग्रेस के पूर्व सांसद व वरिष्ठ नेता फुरकान अंसारी ने पिछले सप्ताह आरोप लगाया था कि झारखंड के कांग्रेस प्रभारी आरपीएन सिंह राज्य से कांग्रेस कोटे के चारों मंत्रियों से नियमित धन वसूली करते हैं। रघुवर दास ने व्यंग्य किया, ‘‘मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन इतनी हड़बड़ी में विशेष विमान से दिल्ली गये और बयान दे रहे हैं कि हम शिष्टाचार में भेंट करने गये थे।’’ उन्होंने सवाल उठाया, ‘‘शिष्टाचार भेट करने के लिए चार्टर्ड प्लेन की क्या जरूरत थी? जबकि वह खुद कहते रहते हैं कि राज्य सरकार का खजाना खाली है।’’ दास ने आरोप लगाया, ‘‘सबको मालूम है कि कांग्रेस को अगले चार महीनों में पांच राज्यों में चुनाव लड़ना है और उसके लिए वह झारखंड से कुछ दोहन नहीं करेगी, ऐसा कैसे हो सकता है?कांग्रेस का इतिहास है। झारखंड को कांग्रेस चरागाह बनाती है। यहां से लूट-लूट के दे दो।’’ दास ने झारखंड में मधुकोड़ा के शासन का उल्लेख करते हुए याद दिलाया कि उस समय कांग्रेस की झारखंड प्रभारी नूर बानो थीं।

इसे भी पढ़ें: हेमंत सोरेन ने सोनिया और राहुल से की मुलाकात, किसान आंदोलन और नए मंत्री बनाने समेत कई मुद्दों पर हुई चर्चा

उस समय भी तत्कालीन कांग्रेस नेतृत्व ने क्या-क्या किया यह सभी को याद है। उन्होंने कहा, ‘‘सभी को पता है कि किस तरह कांग्रेस और झारखंड मुक्ति मोर्चा ने एक निर्दलीय विधायक मधु कोड़ा को मुख्यमंत्री बनाया और कोड़ा के मुख्यमंत्री रहते कांग्रेस ने कैसे कितना मधु चाटा और कोड़ा किन-किन लोगों पर पड़ा, पूरा झारखंड जानता है। उस समय कांग्रेस की प्रभारी नूर बानो अपने हर झारखंड दौरे पर झारखंड से नूर और कोहिनूर बटोरकर ले जाती थी।’’ उन्होंने कहा, ‘‘अब आरपीएन सिंह कांग्रेस प्रभारी हैं, उनके बारे में कांग्रेस के वरिष्ठ नेता फुरकान अंसारी ने खुलेआम आरोप लगाया है कि वह अपने मंत्रियों के माध्यम से वसूली करते हैं।’’ पूर्व मुख्यमंत्री ने आरोप लगाया कि हेमंत सोरेन की सरकार तानाशाही की ओर जा रही है। पत्रकारों तथा अखबारों का गला घोंटने की कोशिश हो रही है। जो अखबार सरकार के खिलाफ कुछ भी लिखने का साहस करते हैं उनका विज्ञापन रोक दिया जा रहा है। उन्होंने कहा, ‘‘मैं मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन जी से अनुरोध करूंगा कि समाचार पत्रों का गला घोंटने का काम न करें। प्रतिदिन मेरी ही फोटो छपे, ऐसा न सोचें सत्ता किसी की स्थाई नहीं होती है।’’

दास ने कहा कि हेमंत सोरेन सरकार ने गरीब जनता का करोड़ों रुपये खर्च कर अपनी सरकार की वर्षगांठ मनाने का काम किया। अपने एक वर्ष के काम को बढ़ा चढ़ा कर बताने का काम किया। लेकिन वास्तविकता यह है कि यह सरकार न तीन में है न तेरह में है। उन्होंने कहा, ‘‘वर्तमान सरकार कमजोर और अक्षम सरकार है क्योंकि मुख्यमंत्री बुद्धि और योग्यता से अक्षम हैं।’’ इस सरकार ने जनता की आंखों में सिर्फ धूल झोंकने का काम किया है। दास ने आरोप लगाया कि यह सरकार एड़ी से चोटी तक भ्रष्टाचार में लिप्त है। जनता इन्हें सत्ता में बिठाकर पश्चात्ताप कर रही है। आज जनता ठगा सा महसूस कर रही है।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।