आमजन की तकलीफें सुनकर जनता का घोषणा पत्र तैयार कर रही है कांग्रेस : सलमान खुर्शीद

Salman Khurshid
प्रतिरूप फोटो
सलमान खुर्शीद ने रविवार को कहा कि कांग्रेस एक जिम्मेदार दल है और उसकी सरकार जनता की भावनाओं का सम्मान करते हुए उसके लिये समर्पित रहेगी।

 कांग्रेस के चुनावी घोषणा पत्र समिति के अध्यक्ष सलमान खुर्शीद ने रविवार को सत्तारूढ़ भारतीय जनता पार्टी पर निशाना साधते हुए कहा कि हत्या और सत्ता जनित अपराध ने उत्तर प्रदेश को अंधेरे में धकेल रखा है, इसीलिए कांग्रेस आमजन के मन, उनकी तकलीफों को सुनकर जनता का घोषणा पत्र तैयार कर रही है।

कांग्रेस मुख्यालय द्वारा जारी बयान के अनुसार, खुर्शीद ने कहा कि पार्टी की राष्ट्रीय महासचिव व उत्तर प्रदेश प्रभारी प्रियंका गांधी वाद्रा की इच्छानुसार जनता से जुड़कर उनकी समस्याएं जानने व उनको घोषणापत्र में सम्मिलित करने के लिये चुनावी घोषणा पत्र समिति ने पिछले दिनों प्रदेश के 12 मंडलों में सीधे सभी वर्गों के बीच जाकर जमीनी जरुरतों को समझा और विभिन्न विषयों के विशेषज्ञों के साथ वर्चुअली संवाद किया है।

इसे भी पढ़ें: कांग्रेस नेता प्रियंका आज सुबह लखीमपुर खीरी जाएंगी

विज्ञप्ति के अनुसार, लखनऊ मंडल के सभी जनपदों के साथ मीडिया, अटेवा व रेलवे कुलियों के प्रतिनिधियों सहित लगभग दो दर्जन प्रतिनिधिमंडल से मुलाकात कर समिति ने उनकी बतें सुनीं।

खुर्शीद ने आरोप लगाया, ‘‘हर तरफ तबाही बर्बादी के किस्से ही नहीं उसके दृश्य साफ दिखाई दे रहे हैं। किसान आंदोलनरत है, बेरोजगार नौजवानों की भाजपा सरकार में पुलिस पिटाई कर रही है, रोजगार घटते जा रहे हैं, महिलाएं सुरक्षित नहीं हैं और बच्चियों के साथ दरिंदगी मानवता को शर्मसार कर रही है।’’

इसे भी पढ़ें: कंगना रनौत को योगी सरकार ने बनाया ओडीओपी का ब्रांड एम्बेसडर

उन्होंने कहा कि इसके विपरीत कांग्रेस एक जिम्मेदार दल है और उसकी सरकार जनता की भावनाओं का सम्मान करते हुए उसके लिये समर्पित रहेगी।

Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

अन्य न्यूज़