• कांग्रेस प्रवक्ता बोले-भृष्टाचारियों को संरक्षण देने वाली भाजपा सरकार दूसरों को चरित्र प्रमाणपत्र बांट रही

प्रदेश कांग्रेस कमेटी के वरिष्ठ प्रवक्ता दीपक शर्मा ने कहा कि मुख्यमंत्री का बयान तथ्यहीन एवम शर्मनाक है।मुख्यमंत्री तथ्यों पर बात न करके मात्र राजनैतिक बयानबाज़ी कर रहे हैं।सरकार के चार साल के कार्यकाल में भृष्टाचारियों को संरक्षण प्राप्त हुआ है।सरकार द्वारा किए गए भ्र्ष्टाचार के मामलों को कांग्रेस पार्टी द्वारा उजागर करने के बाद अधिकारियों को जेल जाना पड़ा।

धर्मशाला  मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर द्वारा कांग्रेस के हर नेता के काले चिट्ठे होने के बयान पर कांग्रेस भड़क गई है। मुख्यमंत्री पर पलटवार करते हुए कांग्रेस ने जयराम सरकार पर भृष्टाचारियों को संरक्षण देने का आरोप लगाया है।

 

 

प्रदेश कांग्रेस कमेटी के वरिष्ठ प्रवक्ता दीपक शर्मा ने कहा कि मुख्यमंत्री का बयान तथ्यहीन एवम शर्मनाक है।मुख्यमंत्री तथ्यों पर बात  न करके मात्र राजनैतिक बयानबाज़ी कर रहे हैं।सरकार के चार साल के कार्यकाल में भृष्टाचारियों को  संरक्षण प्राप्त हुआ है।सरकार द्वारा किए गए भ्र्ष्टाचार के मामलों को कांग्रेस पार्टी द्वारा उजागर करने के बाद अधिकारियों को जेल जाना पड़ा।भाजपा के तत्कालीन प्रदेशाध्यक्ष को पद से इस्तीफा देना पड़ा।लेकिन सरकार ने आज दिन तक विजिलेंस विभाग को अभियोजन की स्वीकृति प्रदान नहीं की जिसके चलते आज तक चालान पेश नहीं हो पाया है। मामले को सरकार जानबूझकर ठंडे बस्ते में डाले हुए है।कांग्रेस प्रवक्ता ने कहा कि मुख्यमंत्री धमकियां देना छोड़ें और अगर कांग्रेस के किसी नेता के खिलाफ सबूत हैं तो कार्यवाही करें।इस तरह झूठ बोलकर जनता को गुमराह न करें।

 

इसे भी पढ़ें: हजारों की तादाद में पडोसी राज्यों से आये श्रद्धालु दुर्गाष्टमी पर ज्वालामुखी में नतमस्तक

 

उन्होंने कहा कि जलशक्ति विभाग, बागवानी विभाग,ज़ायका प्रोजेक्ट,करोना राहत फंड,फ़र्ज़ी डिग्रियां,मंत्रियों के ज़मीन घोटाले,पीपीई किट-मास्क-सेनेटाइजर-वेंटिलेटर घोटाला आदि ऐसे काले कारनामे हैं जो जयराम सरकार के मुख्य काले चिट्ठे हैं।कांग्रेस प्रवक्ता ने कहा कि 2022 में कांग्रेस सरकार आने के बाद मुख्यमंत्री समेत पूरा मंत्रिमंडल कटघरे में खड़ा होगा।सरकार द्वारा किए गए फंड के दुरुपयोग, भ्र्ष्टाचार की निष्पक्ष जांच करवाई जाएगी।

 

इसे भी पढ़ें: विकास के लिए अपना विधायक होना ज़रूरी, आओ भाजपा को जिताए जयराम को मजबूत बनाए : कश्यप

 

कांग्रेस नेता ने कहा कि मुख्यमंत्री बार बार कहते हैं कि कांग्रेस नेताओं के काले चिट्ठे उनके पास हैं लेकिन वो बदले की भावना से काम नहीं करते।लेकिन मुख्यमंत्री का यह बयान दर्शाता है कि वह या तो झूठ बोल रहे हैं या फिर भ्र्ष्टाचार से समझौता किए हुए हैं।एक मुख्यमंत्री को भ्र्ष्टाचार के मामलों पर बिना किसी समझौते और भेदभाव से कड़ी कार्यवाही करनी चाहिए।

 

इसे भी पढ़ें: शारदीय नवरात्रि में दुर्गा अष्टमी --नवरात्रि के आठवें दिन मां महागौरी की पूजा की जाती है

 

लेकिन जिस तरह मुख्यमंत्री धमकियां देते हैं उससे साफ है कि वह झूठ बोल कर सरकार की नाकामियों पर पर्दा डाल रहे हैं।दीपक शर्मा ने कहा कि मुख्यमंत्री शालीन होने का ढोंग रच रहे हैं जबकि वह कांग्रेस नेताओं के विरुद्ध झूठी,चरित्रहनन करने वाली बयानबाज़ी करके घटिया राजनीति का परिचय दे रहे हैं।उन्होंने कहा कि भृष्ट सरकार कांग्रेस नेताओं को चरित्र प्रमाणपत्र नहीं दे सकती।