कोरोना वायरस से संक्रमित बुद्धदेव भट्टाचार्य की हालत बिगड़ी, अस्पताल में कराया गया भर्ती

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  मई 25, 2021   14:10
कोरोना वायरस से संक्रमित बुद्धदेव भट्टाचार्य की हालत बिगड़ी, अस्पताल में कराया गया भर्ती

कोरोना वायरस से संक्रमित पश्चिम बंगाल के पूर्व मुख्यमंत्री बुद्धदेव भट्टाचार्य की हालत बिगड़ने के बाद उन्हें मंगलवार को यहां एक अस्पताल में भर्ती कराया गया।

कोलकाता। कोरोना वायरस से संक्रमित पश्चिम बंगाल के पूर्व मुख्यमंत्री बुद्धदेव भट्टाचार्य की हालत बिगड़ने के बाद उन्हें मंगलवार को यहां एक अस्पताल में भर्ती कराया गया। अधिकारियों ने बताया कि आज सुबह उनके ऑक्सीजन का स्तर 90 प्रतिशत पर पहुंच गया था, जिसके बाद चिकित्सकों की सलाह पर उन्हें अस्पताल में भर्ती कराया गया।

इसे भी पढ़ें: आर्थिक क्षेत्र में गिरावट को थामने के लिए रिजर्व बैंक ने जारी किए नए सुझाव

बुद्धदेव जिस निजी अस्पताल में भर्ती हैं, उसके एक चिकित्सक ने ‘पीटीआई-भाषा’ से कहा, ‘‘भट्टाचार्य घर पर ही पृथक रह रहे थे और उन्हें ‘बाईलेवल पॉजिटिव एयरवे प्रेशर’ (बीआईपैप) लगा था। इसके बावजूद उनके ऑक्सजन का स्तर 90 हो गया। इसलिए हम कोई जोखिम नहीं उठाना चाहते थे।’’

इसे भी पढ़ें: Cyclone Yaas Update: मौसम विभाग ने कहा- ओडिशा के धमरा बंदरगाह के पास दस्तक देने की आशंका

स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों ने बताया कि 77 वर्षीय राजनेता को ‘क्रॉनिक ऑब्सट्रक्टिव पल्मोनरी डिसीज’ (सीओपीडी) भी है और इसलिए उन्हें अन्य चिकित्सकीय जांच की जरूरत भी थी। भट्टाचार्य 18 मई को कोरोना वायरस से संक्रमित पाए गए थे और वह अस्पताल में भर्ती नहीं होना चाहते थे। उनकी पत्नी मीरा भट्टाचार्य भी पिछले सप्ताह संक्रमित पाई गई थीं और उन्हें शहर के एक अस्पताल में भर्ती कराया गया था। संक्रमण से उबरने के बाद सोमवार को उन्हें अस्पताल से छुट्टी दे दी गई।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

Prabhasakshi logoखबरें और भी हैं...

राष्ट्रीय

झरोखे से...