दिल्ली भाजपा कार्यकर्ताओं ने मनीष सिसोदिया के आवास के बाहर प्रदर्शन किया

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  दिसंबर 10, 2020   18:08
दिल्ली भाजपा कार्यकर्ताओं ने मनीष सिसोदिया के आवास के बाहर प्रदर्शन किया

प्रदर्शन में भाजपा युवा और अनुसूचित जाति प्रकोष्ठ के सदस्य भी शामिल हुए और उन्होंने मथुरा रोड स्थित सिसोदिया के आवास के निकट पुलिस अवरोध को पार करने की कोशिश की, जिसके बाद कुछ लोगों को हिरासत में ले लिया गया।

नयी दिल्ली। दिल्ली भाजपा के कार्यकर्ताओं ने उप मुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया के आवास के बाहर यहां बृहस्पतिवार को प्रदर्शन किया। इससे एक दिन पहले भाजपा नेताओं ने महापौर और पार्टी नीत नगर निगमों के नेताओं की ‘‘हत्या की साजिश’’ का आरोप लगाते हुए पुलिस में शिकायत दर्ज कराई थी। पार्टी कार्यकर्ताओं ने तीनों नगर निगम...उत्तरी दिल्ली नगर निगम (एनडीएमसी), दक्षिणी दिल्ली नगर निगम (एसडीएमसी) और पूर्वी दिल्ली नगर निगम (ईडीएमसी) - के बकाए का भी भुगतान करने की मांग राष्ट्रीय राजधानी की आम आदमी पार्टी सरकार से की

भाजपा की दिल्ली इकाई ने बुधवार को एक वीडियो क्लिप का हवाला देते हुए सिसोदिया और आम आदमी पार्टी के नेता दुर्गेश पाठक के खिलाफ भाजपा शासित नगर निगमों के नेताओं की ‘‘हत्या की साजिश’’ का आरोप लगाते हुए पुलिस में शिकायत दर्ज कराई थी। पाठक ने इन आरोपों को बकवास बताया और कहा कि भाजपा लोगों की छवि धूमिल करने के लिए दुष्प्रचार करती रहती है। पार्टी की दिल्ली इकाई के उपाध्यक्ष अशोक गोयल देवराहा ने कहा,‘‘ हम अपने महापौर की हत्या की साजिश के विरोध में प्रदर्शन कर रहे हैं और चेतावनी दे रहे हैं कि भाजपा इस प्रकार की चुनौतियां का जवाब देना जानती है।’’ 

इसे भी पढ़ें: TMC ने ममता बनर्जी सरकार के 10 वर्ष के शासन पर जारी किया रिपोर्ट कार्ड

प्रदर्शन में भाजपा युवा और अनुसूचित जाति प्रकोष्ठ के सदस्य भी शामिल हुए और उन्होंने मथुरा रोड स्थित सिसोदिया के आवास के निकट पुलिस अवरोध को पार करने की कोशिश की, जिसके बाद कुछ लोगों को हिरासत में ले लिया गया। प्रदर्शन का नेतृत्व कर रहे देवराहा ने दावा किया कि पुलिस ने भाजपा के चार से पांच कार्यकर्ताओं को हिरासत में ले लिया और उन्हें मंदिर मार्ग पुलिस थाने ले गए हैं। उन्होंने कहा,‘‘ महापौर और निगम के अन्य नेता चार दिन से मुख्यमंत्री के आवास के बाहर ठंड में धरना दे रहे हैं, क्योंकि दिल्ली सरकार 13,000 करोड़ रुपए के बकाए का भुगतान नहीं कर रही है। इससे सफाई कर्मचारियों, चिकित्सकों और नर्सों का वेतन देने में दिक्कतें आ रही हैं,जो कोरोना योद्धा के तौर पर लोगों को सेवाएं दे रहे हैं।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।