गैंगस्टर इकबाल मिर्ची के करीबी हुमायूं मर्चेंट को ED ने किया गिरफ्तार

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  अक्टूबर 22, 2019   17:01
गैंगस्टर इकबाल मिर्ची के करीबी हुमायूं मर्चेंट को ED ने किया गिरफ्तार

प्रवर्तन निदेशालय ने दिवंगत गैंगस्टर इकबाल मिर्ची के करीबी सहयोगी हुमायूं मर्चेंट को धन शोधन से जुड़े एक मामले में गिरफ्तार किया है। ईडी ने आरोप लगाया है कि सर मोहम्मद यूसुफ ट्रस्ट की वर्ली स्थित तीन संपत्तियों सी व्यू, मरियम लॉज और राबिया मैन्शन को अवैध तरीके से हथियाने के लिए मर्चेंट ने जानबूझ कर वहां ‘किराएदार’ रखे थे।

मुंबई। प्रवर्तन निदेशालय ने दिवंगत गैंगस्टर इकबाल मिर्ची के करीबी सहयोगी हुमायूं मर्चेंट को धन शोधन से जुड़े एक मामले में गिरफ्तार किया है। अधिकारियों ने मंगलवार को बताया कि मर्चेंट को सोमवार की रात धन शोधन निषेध कानून (पीएमएलए) के प्रावधानों के तहत गिरफ्तार किया गया। इकबाल मिर्ची ऊर्फ इकबाल मेमन अंडरवर्ल्ड के डॉन दाउद इब्राहिम का करीबी सहयोगी था। अधिकारियों ने बताया कि मर्चेंट को विशेष अदालत में पेश किया जाएगा। कहा जाता है कि मर्चेंट मिर्ची का करीबी दोस्त और सहयोगी है।

ईडी ने आरोप लगाया है कि सर मोहम्मद यूसुफ ट्रस्ट की वर्ली स्थित तीन संपत्तियों सी व्यू, मरियम लॉज और राबिया मैन्शन को अवैध तरीके से हथियाने के लिए मर्चेंट ने जानबूझ कर वहां ‘किराएदार’ रखे थे। एजेंसी की जांच में पता चला है कि तीनों संपत्तियों में रहने वाले किराएदार ‘फर्जी’ थे। मर्चेंट से जुड़ी कंपनी सनब्लिंक रियल एस्टेट प्राइवेट लिमिटेड ईडी की जांच के दायरे में है। इस कंपनी के प्रमोटर राकांपा के वरिष्ठ नेता प्रफुल्ल पटेल हैं। मिर्ची और उसके परिवार के कथित अवैध रियल एस्टेट संबंधी सौदों को लेकर ईडी मर्चेंट की जांच कर रहा है। केन्द्रीय जांच एजेंसी ने इस संबंध में महीने की शुरुआत में और दो लोगों हारुन अलीम यूसुफ और रणजीत सिंह बिन्दर को गिरफ्तार किया था। राकांपा के वरिष्ठ नेता प्रफुल्ल पटेल से भी इस मामले में पूछताछ हुई है।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।