दुर्ग-उधमपुर एक्सप्रेस में लगी आग, बड़ा हादसा टला

दुर्ग-उधमपुर एक्सप्रेस में लगी आग, बड़ा हादसा टला

ट्रैन की जिन दो बोगियों में आग लगी उसमें 100 यात्री सवार थे। सूचना मिलते ही दमकल की गाड़ियां मौके पर पहुंची। अधिकारी भी राहत और बचाव कार्य के लिए रवाना हुए। इस हादसे में किसी भी यात्री की मौत की खबर नहीं है।

दुर्ग-उधमपुर एक्सप्रेस की दो एसी बोगियों  A1 और A2 में आग लग गई। यह हादसा शुक्रवार दोपहर 4:00 बजे  हुआ। घटनास्थल मुरैना से करीब 15 किलोमीटर दूर धौलपुर की तरफ बताया जा रहा है। ट्रेन वैष्णो देवी से लौट रही थी। ट्रेन में आग हेतमपुर स्टेशन थाना सरायछोला के समीप लगी।

यह ट्रेन उधमपुर से रवाना होकर दुर्ग छत्तीसगढ़ जा रही थी, ट्रेन में आग लगते ही अफरा-तफरी मच गई। यात्री अपनी और अपने  परिजनों की जान बचाने के लिए ट्रेन से कूदने लगे। जिस तरह से ट्रेन में आग की लपटें उठ रही थी और यात्री जान बचाने के लिए ट्रेन से कूदे उससे उन्हें  थोड़ी चोट भी आई होगी। यात्रियों के सामान का भी नुकसान हुआ है।

ट्रैन की जिन दो बोगियों में आग लगी उसमें 100 यात्री सवार थे। सूचना मिलते ही दमकल की गाड़ियां मौके पर पहुंची। अधिकारी भी राहत और बचाव कार्य के लिए रवाना हुए। इस हादसे में किसी भी यात्री की मौत की खबर नहीं है।

मिली जानकारी के मुताबिक, किसी ने ट्रेन में बीड़ी पी कर फेंक दी थी। जिससे ज्वलनशील प्रदार्थ ने आग पकड़ ली। ट्रेन में आग की सूचना मिलते ही ड्राइवर ने ट्रेन को सरायछोला स्टेशन पर रोक दिया जहाँ आग लगी दोनों बोगियों को ट्रेन से अलग कर दिया गया।





नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।