• गडकरी ने ली सियासी चुटकी, कहा- CM लोग कब रहेंगे, कब जाएंगे भरोसा नहीं, नेहरू फॉर्मूले का भी किया जिक्र

अभिनय आकाश  Sep 14, 2021 11:51

नितिन गडकरी ने जयपुर के सेमीनार में कहा कि जो एमएलए थे वो इसलिए दुखी थे क्योंकि वो मंत्री नहीं बन पाए। मंत्री इसलिए दुखी थे कि उनको अच्छा डिपार्टमेंट नहीं मिला। जिनको अच्छा डिपार्टमेंट मिला वो इसलिए दुखी थे क्योंकि वे मुख्यमंत्री नहीं बन पाए।

बीजेपी की तरफ से इन दिनों मुख्यमंत्री बदलो अभियान चलाया जा रहा है। इसी क्रम में बीते दिनों विजय रुपाणी की विदाई हो गई और उनकी जगह भूप्रेंद्र पटेल को राज्य की कमान मिली। केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी वैसे तो अपने बेबाक बयानों के लिए जाने जाते हैं। लेकिन राजस्थान के एक कार्यक्रम में उन्होंने कुछ ऐसा कह दिया जिसकी खूब चर्चा हो रही है। केंद्रीय सड़क व परिवहन मंत्री नितिन गडकरी ने जयपुर के एक सेमीनार में राजनीति में महत्वकांक्षा और असुरक्षा को लेकर एक ऐसा बयान दिया जिसपर सियासत गर्मा सकती है।

इसे भी पढ़ें: सामाजिक बदलाव का प्रभावी उपकरण है राजनीति: गडकरी

उन्होंने कहा कि जो एमएलए थे वो इसलिए दुखी थे क्योंकि वो मंत्री नहीं बन पाए। मंत्री इसलिए दुखी थे कि उनको अच्छा डिपार्टमेंट नहीं मिला। जिनको अच्छा डिपार्टमेंट नहीं मिला वो इसलिए दुखी थे क्योंकि वे मुख्यमंत्री नहीं बन पाए। जो मुख्यमंत्री बन पाए वो इसलिए दुखी हैं कि कब रहेंगे कब जाएंगे इसका भरोसा नहीं है। 

 नेहरू फॉर्मूले का किया जिक्र

पंडित जवाहर लाल नेहरू जी का एक प्रसिद्ध वाक्य था। वो कहते थे इंडिया इज नॉट ए नेशन, इट इज ए पॉपुलेशन। इस बात में वो आगे कहते थे कि कम से कम इतना तो तय करें कि मैं इस देश के लिए समस्या नहीं रहूं। अगर एक-एक व्यक्ति ने ऐसा तय किया कि मैं देश के लिए समस्या नहीं बल्कि एक एसेट रहूंगा तो देश सफल हो जाएगा।