कोविड टीकाकरण पर दिया जाएगा जोर, धर्मगुरु- मुख्य चिकित्साधिकारी दूर करेंगे भ्रांतियां

कोविड टीकाकरण पर दिया जाएगा जोर, धर्मगुरु- मुख्य चिकित्साधिकारी दूर करेंगे भ्रांतियां
प्रतिरूप फोटो

सीएमओ ने बताया कि एक जुलाई से जनपद में वृहद रूप से कोरोना का टीकाकरण किया जाएगा। ग्रामीण क्षेत्र से लेकर शहरी क्षेत्र तक पूरे जिले में बिना रजिस्ट्रेशन के कोविड टीकाकरण किया जायेगा।

देवरिया। देवरिया सीएमओ डॉ. आलोक पाण्डेय शनिवार को सीएमओ कार्यालय के धन्वंतरि सभागार  में जनपद के हिन्दू और मुस्लिम धर्मगुरुओं के साथ बैठक कर कोविड संक्रमण से निजात के लिए टीकाकरण पर जोर दिया।आलोक पाण्डेय ने कहा कि धर्मगुरु समुदाय के लोगों में किसी भी तरह की भ्रांतियों को दूर कराने में मदद करें। कोविड रोकने वाले टीकाकरण का कोई दुष्प्रभाव नहीं है। सीएमओ ने बताया कि एक जुलाई से जनपद में वृहद रूप से कोरोना का टीकाकरण किया जाएगा। ग्रामीण क्षेत्र से लेकर शहरी क्षेत्र तक पूरे जिले में बिना रजिस्ट्रेशन के कोविड टीकाकरण किया जायेगा।

इसे भी पढ़ें: अपने जन्मस्थली पहुंचे राष्ट्रपति कोविंद ने कहा- सपने में भी नहीं सोचा था कि मुझे देश का सर्वोच्च पद मिलेगा

सीएमओ डॉ. पाण्डेय ने कहा कि कोरोना को लेकर कुछ लोगों के मन में भ्रांतियां हैं, जिन्हें दूर करने की आवश्यकता है। ताकि कोरोना के संभावित तीसरी लहर से बचा जा सके। एसीएमओ डॉ. सुरेन्द्र सिंह  ने मदरसों के धर्मगुरुओं तथा मौलवियों से अपील की है कि आप सभी प्रतिनिधि/ब्रांड एंबेसडर के रूप में शत-प्रतिशत टीकाकरण कराने में योगदान करें जिससे कोरोना महामारी को नियंत्रित किया जा सके। अर्बन के नोडल अधिकारी डॉ. बी पी सिंह  ने कहा कोरोना का टीका सेफ है, इसका कोई दुष्प्रभाव नहीं है। कोरोना की गाइड लाइन का पालन किया जाए, मास्क एवं सेनेटाइजर का प्रयोग तथा सामाजिक दूरी का पालन करते रहें। सभी एकजुटता का परिचय देते हुए बिना किसी शक/भ्रांति के शत-प्रतिशत टीकाकरण कराने में सहयोग करें। इस अवसर पर एसीएमओ डॉ. एसके चौधरी, यूनिसेफ के डीएमसी डॉ. हसन फईम, डीसीपीएम राजेश गुप्ता, सहायक मलेरिया अधिकारी सीपी मिश्रा, एआरओ राकेश चंद, मेडिकल अफसर डॉ विनीत, डॉ सुधाकर, डॉ धीरज दूबे, विश्वनाथ मल्ल, रविजीत सिंह, गुलाम साबिर, महबूब आलम, नियाज अहमद, मौलना हासिम क़ासिम, सहित अन्य लोग उपस्थित रहे।





नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।