लोक संस्कृति एवं परम्परा के संरक्षण के लिए ऑनलाइन कार्यशाला जुलाई से प्रारंभ

लोक संस्कृति एवं परम्परा के संरक्षण के लिए ऑनलाइन कार्यशाला जुलाई से प्रारंभ

लोक गायक राकेश श्रीवास्तव ने बताया कि कोरोना संक्रमण को देखते हुए इस कार्यशाला को ऑनलाइन आयोजित किया जा रहा है जो 1 जुलाई से 10 जुलाई तक चलेगा।

गोरखपुर। संस्कृति विभाग उत्तर प्रदेश द्वारा लोकसंस्कृति एवं लोक परम्परा को संरक्षित एवं नई पीढ़ियों से परिचित कराने के उद्देश्य से अवधी/भोजपुरी पारंपरिक लोकगीतों की ऑनलाइन कार्यशाला 1 जुलाई से प्रारंभ होगी। कार्यशाला के निर्देशक लोक गायक राकेश श्रीवास्तव ने बताया कि कोरोना संक्रमण को देखते हुए इस कार्यशाला को ऑनलाइन आयोजित किया जा रहा है जो 1 जुलाई से 10 जुलाई तक चलेगा।

 

इस कार्यशाला के लिए उत्तर प्रदेश, बिहार, दिल्ली सहित थाईलैंड, साउथ अफ्रीका एवं त्रिनिदाद से कुल 42  प्रतिभागियों ने निःशुल्क पंजीकरण कराया है जो बढ़ कर 80 -85 तक होने की संभावना है। इस कार्यशाला में किसी भी उम्र के महिला पुरुष भाग ले सकते हैं जिनकी अभिरुचि अवधि/भोजपुरी लोकगीतों में हो। कार्यशाला प्रतिदिन प्रातः 8 से 9 बजे तक चलेगा। संस्कृति विभाग द्वारा पूर्व में भी इस तरह के कार्यशाला के आयोजन हुए हैं जो काफी लोकप्रिय रहे हैं।





नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।