गोरखपुर समाचार: आपदा काल में दूसरों के संकट को अपने कंधों पर ले रहा है आरएसएस

गोरखपुर समाचार:  आपदा काल में दूसरों के संकट को अपने कंधों पर ले रहा है आरएसएस

कोरोना कॉल में यूपी पुलिस की रिक्रूट महिला आरक्षियों को पुलिस लाइन में पासिंग आउट परेड शादे समारोह में मुख्य अतिथि वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक दिनेश कुमार पी ने महिला आरक्षियों को जिलों में ड्यूटी के लिए शपथ दिलाकर ट्रेनिंग के दौरान विशेष योगदान देने वालों को पुरस्कृत कर सम्मानित किया।

गोरखपुर:- आज नगर आयुक्त श्री अविनाश सिंह के निर्देशन पर कर विभाग के वसूली की समीक्षा बैठक  अपर नगर आयुक्त श्री डी के सिन्हा की अध्यक्षता में आहूत की गई। बैठक में उपनगर आयुक्त श्री संजय शुक्ला, मुख्य कर निर्धारण अधिकारी असीम रंजन, कर अधीक्षक श्री प्रीतम वर्मा, कार्यालय अधीक्षक श्री पवन मिश्र, पीआरओ अजय श्रीवास्तव एवम् कर समाहर्ता एवं कर/राजस्व निरीक्षक  उपस्थित हुए। साथ ही साथ कर विभाग के वार्ड लिपिक भी उपस्थित हुए । कर विभाग की वसूली समीक्षा में जोनवार निर्धारित लक्ष्य के आधार पर प्रत्येक कर समाहर्ता और कर निरीक्षकों के बीच वसूली के लक्ष्यों के बंटवारे के अनुसार समीक्षा की गई । जिसमें जिनकी वसूली लक्ष्य से कम पाई गई, उन्हें भविष्य के लिए सचेत करते हुए अधिक से अधिक वसूली निर्धारित अवधि में करके अपने लक्ष्यों को पूर्ण करने हेतु निर्देशित किया गया। 

जिन कर्मियों की विगत 10 दिनों की वसूली खराब रही है, उन्हें निर्देशित किया गया कि वसूली में सुधार लाए अन्यथा कड़ी कार्यवाही किए जाने में कोई संकोच नहीं किया जायेगा। जिनकी वसूली लक्ष्य से कम है उनमें पंकज श्रीवास्तव, याकूब खान, अमित शाही, अभिषेक चौधरी, अनुराग शाही, देवेंद्र मिश्रा, अश्विनी पांडे, धर्मेन्द्र गौड़, संदीप सिंह। जिनकी वसूली ज्यादा खराब है उनमें अविनाश गौड़, राहुल यादव से स्पष्टीकरण मांगे जाने हेतु निर्देशित किया गया। अशोक कुमार, विवेक कुमार, कामेश्वर चौधरी की वसूली ज्यादा खराब होने के कारण इनका वेतन अग्रिम आदेशों तक रोका गया।अपर नगर आयुक्त द्वारा यह कहा गया की प्रति दिवस क्षेत्र में जहा भी वसूली के लिए जाए अथवा संपर्क करें, उनकी सूची भी बनाए ताकि क्रॉस चेकिंग किया जा सके और आवश्यकता पड़ने पर उच्च अधिकारी करदाताओं से संपर्क कर सके।

इसे भी पढ़ें: पश्चिम बंगाल के मुख्य सचिव को बुलाना लोकतंत्र पर हमला, ऐसा कदम से अराजकता पैदा होगी: कांग्रेस 

कोरोना प्रोटोकॉल का पालन करते हुए समारोह में दिलाई गई शपथ

गोरखपुर:-  कोरोना कॉल में यूपी पुलिस की रिक्रूट महिला आरक्षियों को पुलिस लाइन में पासिंग आउट परेड शादे समारोह में मुख्य अतिथि वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक दिनेश कुमार पी ने महिला आरक्षियों  को जिलों में ड्यूटी के लिए शपथ दिलाकर ट्रेनिंग के दौरान विशेष योगदान देने वालों को पुरस्कृत कर सम्मानित किया दीक्षांत समारोह 2021 बैच का पुलिस लाइन गोरखपुर में 87 रिक्रूट महिला आरक्षी  गोरखपुर 29 अयोध्या 32 का गोंडा 26   का आधारभूत प्रशिक्षण 3 नवंबर 2020 से प्रारंभ हुआ था महिला रिक्रूट आरक्षी प्रशिक्षण सकुशल संपन्न कराने हेतु पांच टोलियां बनाई गई बाह्य प्रशिक्षण के रूप में पांच आरटीआई तथा पांच पीटीआई तथा अंतः विषय हेतु 4 उपनिरीक्षक  लगाए गए थे इन सभी ने कुशलतापूर्वक 87 रिक्रूट महिला आरक्षी को प्रशिक्षण देते हुए निपुण किया सभी 87 रिक्रूट महिला आरक्षी परीक्षा में सफल होते हुए पासिंग आउट परेड में आज शुक्रवार को सम्मिलित हो कर मुख्य अतिथि वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक दिनेश कुमार पी ने शपथ दिलाई दीक्षांत समारोह की परेड कमांडर प्रथम प्रियांशी देवी  परेड कमांडर निष्ठा सुमन  परेड कमांडर कंचन बाला मुख्य अतिथि को सलामी दी। बाह्य परीक्षा में उत्कृष्ट अंक प्राप्त करने वाली महिला आरक्षी प्रियांशी देवी को सर्वोत्तम महिला आरक्षी पदक से वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक ने पुरस्कृत किया। पासिंग आउट परेड में मुख्य रूप से पुलिस अधीक्षक नगर सोनम कुमार पुलिस अधीक्षक ट्रैफिक/लाइन रामसेवक गौतम सहायक पुलिस/ क्षेत्राधिकारी कैंट राहुल भाटी पुलिस अधीक्षक अपराध डॉक्टर महेंद्र पाल सिंह क्षेत्राधिकारी अनिल कुमार सिंह प्रसार निरीक्षक उमेश दुबे सहित आरटीसी प्रभारी उपनिरीक्षक मृत्युंजय राय पीटीआई राज नारायण यादव रंजना देवी चांदनी मौर्या शिवकुमार कुशवाहा भुवनेश कुमार उपनिरीक्षक श्रीनिवास चौधरी सुनील कुमार चौरसिया साधना  पिंकी रानी राजेश कुमार सरोज ओम प्रकाश यादव रामसूरत प्रसाद चंद्र प्रकाश सिंह आदि मौजूद रहे।

इसे भी पढ़ें: हिंदी पत्रकारिता दिवस पर IIMC में चर्चा, सकारात्‍मक खबरें देकर पाठकों में विश्वास पैदा करे मीडिया 

यास तूफान का दिखा असर रोजी-रोटी पर पड़ा असर

गोरखपुर:-  यास तूफान का असर गोरखपुर बस्ती आजमगढ़ मंडल सहित अन्य हिस्सों में बुधवार देर रात से असर दिखना शुरू हो गया है कोरोना प्रोटोकॉल का पालन न करने वाले अपने अपने घरों में रहने के लिए हुये मजबूर। लगातार बृहस्पतिवार से मूसलाधार बारिश की वजह से आम जीवन अस्त-व्यस्त हो गया है  रोजी रोटी के लिए गरीब तरसने  मजबूर हुये गोरखपुर सहित कई जिलों में बुधवार से ही मौसम का मिजाज बदला हुआ है।  कई जगह बूंदाबांदी के साथ तेज बारिश लगातार होने से रोजी-रोटी कर खाने वाले आमजन के लिए मुसीबत बना हुआ है अभी पिछले हफ्ते में महाराष्ट्र व गुजरात मे तापते चक्रवात के वजह से 4 दिन लगातार बारिश की वजह से जनजीवन अस्त व्यस्त हो गया था अब यास के वजह से मौसम वैज्ञानिकों के मुताबिक- शनिवार तक गोरखपुर सहित पूर्वांचल में यास तूफान का काफी असर देखने को मिलेगा।

बंगाल की खाड़ी से उठे यास तूफान का असर धीरे–धीरे पूर्वी उत्तर प्रदेश पर पड़ने लगा है इसको लेकर  आंचलिक मौसम विज्ञान विभाग ने चेतावनी जारी कर कहा कि शुक्रवार व शनिवार को प्रदेश के पूर्वी जिलों में 50 से 60 किमी प्रतिघंटे की रफ्तार से आंधी चलने व गरज–चमक के साथ भारी बारिश की संभावना है।मौसम विभाग के निदेशक जेपी गुप्ता का कहना है कि यह बरसात किसानों के लिए अच्छी है। फलों के लिए भी यह बरसात लाभकारी है। उन्होंने बताया कि साइक्लोन बनने की वजह से मौसम में परिवर्तन लगातार हो रहा है। फिलहाल, साइक्लोन का असर तो खत्म हो गया है, लेकिन पूर्वी उत्तर प्रदेश में भारी बरसात होने की संभावना है। जहां पर नुकसान हो सकता है। अभी छोटे दुकानदार व प्रतिदिन रोजी-रोटी कर खाने वाले लोगों के लिए कोरोना संक्रमण के वजह से लॉक डाउन लगने से खाने के लिए लाले पड़े हुए हैं अब दूसरी तरफ  यास की वजह से रोजी रोटी पर बुरा असर डालते हुए आम जनजीवन को अस्त-व्यस्त करते हुए अपने अपने घरों में दुबकने के लिए मजबूर कर दिया है।

समाज का मनोबल ​गिराने वाली सूचनाएं प्रसारित न करें पत्रकार : आलोक कुमार 

भारतीय जनमानस को मीडिया पर अटूट भरोसा व विश्वास है। इस नाते पत्रकारों का दायित्व बनता है कि  कोई ऐसी चीजें प्रसारित न करें, जिससे समाज का अहित हो या उनका मनोबल गिरे। शुक्रवार को यह बात राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस) के अखिल भारतीय सह प्रचार प्रमुख आलोक कुमार ने कही। वह आद्य पत्रकार देवर्षि नारद जयंती के अवसर पर विश्व संवाद केन्द्र अवध (लखनऊ) द्वारा आयोजित "आपदा में संवाद" विषयक वेबिनार को संबांधित कर रहे थे। उन्होंने कहा कि आद्य पत्रकार देवर्षि नारद जी हर समय लोक कल्याण व लोकमंगल की भाव से काम करते थे। उनका निजी स्वार्थ किनारे होता था। वर्तमान समय में उन्हें स्मरण करते हुए पत्रकारिता करनी की जरूरत है, ताकि नागरिकों का मनोबल हर परिस्थितियों में मजबूत बना रहे। 

आलोक जी ने कहा कि महामारियां कब पीछा छोड़ेंगी, कुछ नहीं कहा जा सकता है। कोरोना महामारी की थर्ड वेव आने वाली है। पहली वेव में सभी ने अनुशासन का पालन किया। लेकिन सेकेंड वेव में सभी ने कोताही बरती। सरकारों ने भी लापरवाही की। मुकाबला सही से नहीं कर पाए। इसका खामियाजा सभी को झेलना पड़ा। सभी ने अपने को खोया।

साथ ही आलोक जी ने कहा कि इस महामारी ने सभी को बड़ी अजीब स्थिति में खड़ा कर दिया है।  प्रकृति ने बहुत बड़ा झटका दिया है। यह महमारी पहली है, ऐसा नहीं है। लेकिन इस पीढ़ी के लिए यह पहली महमारी है। इस पृथ्वी ने ऐसी महामारियां बहुत देखी है। यह महामारी अंतिम है, ऐसा भी नहीं है। मानव को इन सभी से संघर्ष करना है। थर्ड वेव से बचाव की तैयारी अच्छी होनी चाहिए। वहीं, जैविक युद्ध के खिलाफ भी तैयारी रहनी चाहिए। उन्होंने कहा कि हॉलीवुड फिल्मों में भविष्य की घटनाओं की आहट है। महर्षि नारद की पत्रकारिता मूल्य पर बोलते हुए उन्होंने कहा कि उदंत मार्तंड 1826 में प्रकाशित हुआ। यहीं से भारत में आधुनिक पत्रकारिता की शुरुआत हुई। उसमें नारद जी का चित्र था। नारद जी की पत्रकारिता में लोकमंगल की भावना है। उनका प्रत्येक से संवाद है। उन्होंने कहा कि समाचार पत्र की परंपरा हमारे यहां नहीं थी। यहां सन्यासी, जोगी, भाट, प्रवचन आदि ही सामाचारों का संप्रेषण करते थे। जहां-जहां विचरण करते थे, समाचार ले जाते थे।

आपदा काल में दूसरों के संकट को अपने कंधों पर ले रहा है आरएसएस

अध्यक्षता कर रहे वरिष्ठ स्तंभकार नरेंद्र भदौरिया ने कहा कि आरएसएस गंभीरता से आपदा काल में सेवा कार्य में जुटा हुआ है। दूसरों के संकट को अपने कंधों पर ले लिया है। इस अवसर पर सैकड़ों पत्रकारों सहित अन्य लोग जुड़े। कार्यक्रम में संयुक्त क्षेत्र प्रचार प्रमुख कृपाशंकर जी, क्षेत्र प्रचार प्रमुख नरेंद्र सिंह, विश्व संवाद के सचिव अशोक सिन्हा, सह प्रान्त प्रचार प्रमुख दिवाकर अवस्थी आदि लोग कार्यक्रम में जुड़े। कार्यक्रम का संचालन अवध प्रान्त के प्रचार प्रमुख डा. अशोक दूबे जी ने किया।

गोरखपुर:-  इस समय कोरोना महामारी में उ0प्र0 पुलिस के यू0पी0-112 द्वारा लगातार आम जनमानस में आपात सहायता प्रदान की जा रही है । वैश्विक महामारी कोविड-19 के बढ़ते प्रसार को रोकने एवं आवश्यक वस्तुओं जैसे- ऑक्सीजन सिलेंडर, जीवन रक्षक, दवाएं इत्यादि की काला बाजारी पर अंकुश लगाने के उद्देश्य से 112-उत्तर प्रदेश पुलिस द्वारा कालाबाजारी व जमाखोरी करने वालों के खिलाफ अभियान चलाकर लोगों को जागरूक किया जा रहा है। 

यह अभियान अपर पुलिस महानिदेशक, 112-यू0पी उ0प्र0 लखनऊ के मार्गदर्शन में वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक जनपद गोरखपुर के निर्देशन में जनपद के 112 के पर्यवेक्षण/नोडल अधिकारी पुलिस अधीक्षक, यातायात एवं निरीक्षक वीरसेन सिंह, उ0नि0 नीरज कुमार यादव व आरक्षी राजनारायण पाल द्वारा नगर निगम के सहयोग से जनपद के रेलवे स्टेशन, बस स्टेशन, गोलघर, गोरखनाथ ओवर ब्रिज, कलेक्ट्रेट परिसर, नौसढ़ चौराहा, पैडलेगंज, कूडाघाट, असुरन आदि सार्वजनिक स्थानों पर आपात सहायता, पुलिस सहायता, एम्बुलेंस सहायता, अग्नि शमन सहायता, आपदा में मदद, कोरोना में काला बाजारी ,महिला अपराध एवं घरेलू हिंसा तथा वरिष्ठ नागरिकों की सहायता के लिए होर्डिंग एवं पोस्टर चस्पा एवं पम्पलेट वितरण कर नागरिकों को जागरूक किया जा रहा है । 

 इस विशेष अभियान में अब तक जनपद में कुल 26 होर्डिंग एवं 1620 पोस्टर चस्पा किया जा चुका है और 1000 पोस्टर एवं 15000 पम्पलेट्स का वितरण भी किया जाना है । आपदा की इस घड़ी मे 112 यू0पी0 लगातार जरुरतमन्द लोगों तक आपात सहायता के साथ कानून-व्यवस्था संभालने का कार्य कर रही है । गोरखपुर जिले मे संचालित 78  पीआरवी के कर्मियों द्वारा अपने- अपने पीए सिस्टम के माध्यम से गाँव, कस्बों और शहरी इलाकों मे नागरिकों को कोरोना संक्रमण के प्रति लगातार जागरूक किया जा । मिशन शक्ति अभियान के तहत महिलाओं तथा सवेरा अभियान के तहत वरिष्ठ नागरिकों के सूचनाओं पर पीड़ित को तत्काल मदद पहुंचायी जा रही है । घरेलू हिंसा के मामलो में महिलाओं को  112-यू0पी0 के तरफ से प्रबल प्रतिक्रिया दी जाती है । जनपद की पुलिस अपने स्लोगन  “शहर हो देहात, दिन हो रात, यू0पी0 पुलिस आपके साथ" चरितार्थ कर रही है ।





नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।