सरकार ने टीकाकरण की जानकारी देने के लिए कोविड टीका ‘ट्रैकर’ विकसित किया

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  सितंबर 10, 2021   06:03
सरकार ने टीकाकरण की जानकारी देने के लिए कोविड टीका ‘ट्रैकर’ विकसित किया

ICMR के महानिदेशक बलराम भार्गव ने कहा कि टीका ‘ट्रैकर’ को को-विन पोर्टल, राष्ट्रीय कोविड-19 जांच आंकड़े और कोविड-19 इंडिया पोर्टल के आंकड़ों के तालमेल से विकसित किया गया है।

सरकार ने टीकाकरण के विभिन्न पहलुओं की जानकारी देने के लिए तीन मंचों के आंकड़ों का तालमेल करके एक कोविड टीका ‘ट्रैकर’ विकसित किया है। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय की एक ब्रीफिंग में भारतीय आयुर्विज्ञान अनुसंधान परिषद (आईसीएमआर) के महानिदेशक बलराम भार्गव ने कहा कि टीका ‘ट्रैकर’ को को-विन पोर्टल, राष्ट्रीय कोविड-19 जांच आंकड़े और कोविड-19 इंडिया पोर्टल के आंकड़ों के तालमेल से विकसित किया गया है।

इसे भी पढ़ें: ITR भरने वालों के लिए बेहद जरूरी सूचना, Income Tax Return भरने की ये है आखिरी तारीख 

उन्होंने कहा, ‘‘ आंकड़ों को आईसीएमआर पहचान संख्या और मोबाइल नंबरों के आधार पर समन्वित किया गया है। हम एक वैक्सीन ट्रैकर तैयार करने में सक्षम हुए हैं जो बहुत जल्द स्वास्थ्य मंत्रालय की वेबसाइट पर ऑनलाइन होने जा रहा है।”

इसे भी पढ़ें: किरीट सोमैया ने महाराष्ट्र के एक और मंत्री के भ्रष्टाचार में लिप्त होने का दावा किया 

‘ट्रैकर’ कोविड टीके की पहली और दूसरी खुराक तथा उनकी प्रभावशीलता के बारे में सप्ताह दर सप्ताह जानकारी देता है। उन्होंने 18 अप्रैल से 15 अगस्त तक कोविड ‘ट्रैकर’ के आंकड़ों का हवाला देते हुए कहा कि मृत्यु दर को रोकने में टीके की प्रभावशीलता 96.6 प्रतिशत और दूसरी खुराक के बाद 97.5 प्रतिशत है।

नीति आयोग के सदस्य (स्वास्थ्य) वी के पॉल ने कहा, यह स्पष्ट है कि दोनों खुराकों के बाद, बीमारी की गंभीरता और मृत्यु से लगभग पूरी सुरक्षा मिलती है।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।