कालीचरण महाराज की गिरफ्तारी के विरोध में हिंदू महासभा ने सीएम भूपेश बघेल का जलाया पुतला

कालीचरण महाराज की गिरफ्तारी के विरोध में हिंदू महासभा ने सीएम भूपेश बघेल का जलाया पुतला

प्रदर्शन के दौरान हिंदू महासभा ने बापू के हत्यारे नाथूराम गोडसे की जिंदाबाद के नारे लगाए। इस दौरान हिंदू महासभा के पदाधिकारी और कार्यकर्ता मौजूद रहे। हिंदू महासभा के इस विरोध प्रदर्शन की प्रशासन को अभी तक कानों कान खबर भी नहीं लगी है।

भोपाल। मध्य प्रदेश के ग्वालियर जिले में राष्ट्रपिता महात्मा गांधी के बारे में अभद्र टिप्पणी करने वाले कालिदास महाराज की गिरफ्तारी के बाद अब हिंदू महासभा उनके समर्थन में उतर आई है। ग्वालियर में हिंदू महासभा ने छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल का पुतला जलाकर संत कालीचरण की गिरफ्तारी का विरोध किया है।

इसके साथ ही प्रदर्शन के दौरान हिंदू महासभा ने बापू के हत्यारे नाथूराम गोडसे की जिंदाबाद के नारे लगाए। इस दौरान हिंदू महासभा के पदाधिकारी और कार्यकर्ता मौजूद रहे। हिंदू महासभा के इस विरोध प्रदर्शन की प्रशासन को अभी तक कानों कान खबर भी नहीं लगी है।

इसे भी पढ़ें:सड़क हादसे में खत्म हुआ पूरा परिवार, CM शिवराज ने जताया शोक 

हिंदू महासभा के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष जयवीर भारद्वाज कहा प्रदेश में एक संत की गिरफ्तारी हो जाती है और प्रदेश के मुख्यमंत्री गृहमंत्री सोते रहते हैं। हम साधु संतों का अपमान नहीं सहेंगे।

इसके साथ ही हिंदू महासभा ने सीएम भूपेश बघेल को चेतावनी दी है कि महात्मा गांधी हत्याकांड के आरोप में आजीवन सजा काटने बाले दत्तात्रेय परिचुरे की पुण्यतिथि पर हिंदू महासभा कार्य में उनकी तस्वीर लगाकर पूजा अर्चना की जाएगी। अगर छत्तीसगढ़ सरकार में हिम्मत है तो हमे रोक कर दिखाएं।

इसे भी पढ़ें:कालीचरण महाराज के समर्थन में उतरी हिंदू महासभा, छत्तीसगढ़ के सीएम भूपेश बघेल का करेगी पुतला दहन 

आपको बता दें ग्वालियर में स्थित हिंदू महासभा कार्यालय बापू के हत्यारे नाथूराम गोडसे का गढ़ है। और आज भी इस कार्यालय में नाथूराम गोडसे की पूजा अर्चना की जाती है इसके साथ ही उनकी पुण्यतिथि और जन्म दिन पर अलग-अलग कार्यक्रम की जाती है।

वहीं इस कार्यालय में कुछ साल पहले नाथूराम गोडसे की भी मूर्ति स्थापित की गई थी जिसको लेकर पूरे देश भर में बवाल मचा था। उसके बाद उस मूर्ति को जिला प्रशासन ने जप्त कर लिया था। लेकिन अभी तक मध्य प्रदेश सरकार और जिला प्रशासन हिंदू महासभा के पदाधिकारी और कार्यकर्ता पर कोई ठोस कार्रवाई नहीं कर पाया है।





नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।