जयराम सरकार कर्मचारी हितैषी, हक में लिए बड़े निर्णय :भाजपा प्रदेश अध्यक्ष कश्यप

जयराम सरकार कर्मचारी हितैषी, हक में लिए बड़े निर्णय :भाजपा प्रदेश अध्यक्ष कश्यप

उन्होंने कहा इन निर्णयों से यह स्पष्ट है कि जयराम ठाकुर सरकार कर्मचारी हित और हर वर्ग के लिए सकारात्मक दृष्टि से कार्य करने वाली सरकार है। उन्हें कहा कि दैनिक वेतन भोगी कर्मचारियों, अंशकालीन कामगारों , जलरक्षकों और जलवाहकों के नियमितीकरण एवं दैनिक वेतनभोगी के रूप में रूपांतरण के लिए भी 1-1 वर्ष की अवधि को कम किया गया है यह अपने आप में एक ऐतिहासिक निर्णय है ।

शिमला । भाजपा प्रदेश अध्यक्ष एव सांसद सुरेश कश्यप ने कहा कि मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर की सरकार ने कल कर्मचारियों के हित में ऐतिहासिक फैसले लिया है , इन फैसलों से तकरीबन ढाई लाख कर्मचारियों को बड़ा लाभ मिलने जा रहा है।

उन्हें कहा कि अनुबंध कर्मचारियों के नियमितीकरण की अवधि 3 वर्ष से घटाकर 2 वर्ष करने की जय राम ठाकुर सरकार ने घोषणा की है यह प्रदेश के कर्मचारियों की लंबित मांग थी जो अब पूरी होने जा रही है ।

उन्होंने कहा इन निर्णयों से यह स्पष्ट है कि जयराम ठाकुर सरकार कर्मचारी हित और हर वर्ग के लिए सकारात्मक दृष्टि से कार्य करने वाली सरकार है। उन्हें कहा कि दैनिक वेतन भोगी कर्मचारियों, अंशकालीन कामगारों , जलरक्षकों और जलवाहकों के नियमितीकरण एवं दैनिक वेतनभोगी के रूप में रूपांतरण के लिए भी 1-1 वर्ष की अवधि को कम किया गया है यह अपने आप में एक ऐतिहासिक निर्णय है ।

उन्होंने कहा कि सभी पेंशन भोगियों और पारिवारिक पेंशन भोगियों को भी 1 जनवरी 2016 से संशोधित पेंशन और अन्य पेंशन का लाभ दिया जाएगा।

इसे भी पढ़ें: हिमाचल प्रदेश स्वर्ण जयंती मिडल मेरिट छात्रवृत्ति योजना से आएगा छात्रों की प्रतिभा में निखार

उन्होंने कहा कि प्रदेश में अनुबंध कर्मचारी अब 2 साल में रेगुलर होंगे इससे 19000 लोगों को फायदा पहुंचने वाला है।  कश्यप ने कहा कि राज्य सरकार अपने कुल बजट का लगभग 43 प्रतिशत कर्मचारियों और पेंशनभोगियों पर व्यय कर रही है , जोकि छठे वेतन आयोग के लागू होने के बाद 50 प्रतिशत तक बढ़ जाएगा।

 

इसे भी पढ़ें: आरोग्य भारती संस्था के प्रांत अधिवेशन में शामिल हुए राजेंद्र विश्वनाथ आर्लेकर

 

उन्होंने कहा कि गत चार वर्षों के दौरान राज्य सरकार ने प्रदेश के कर्मचारियों और पेंशनभोगियों के डीए में 22 प्रतिशत की वृद्धि की और 1320 करोड़ रुपये का वित्तीय लाभ प्रदान किया गया है , कर्मचारियों को12 प्रतिशत अंतरिम राहत की दो किस्तें भी प्रदान की गईं , जिससे कर्मचारियों को लगभग 740 करोड़ रुपये का लाभ हुआ है।

उन्होंने कहा की हमारी सरकार सकात्मक रूप से काम करती है और राजनीति से ऊपर उठाकर जनहित के निर्णय लेती है।





नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।