मध्य प्रदेश : जनपद पंचायत सीईओ राजेश बाहेती ने फांसी लगाकर की आत्महत्या

Madhya Pradesh
मध्य प्रदेश के खरगोन जिले के भीकनगांव जनपद पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी (सीईओ) राजेश बाहेती (54) ने अपने सरकारी आवास पर कथित तौर पर फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली।

खरगोन (मध्य प्रदेश)। मध्य प्रदेश के खरगोन जिले के भीकनगांव जनपद पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी (सीईओ) राजेश बाहेती (54) ने अपने सरकारी आवास पर कथित तौर पर फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली। खरगोन के पुलिस अधीक्षक शैलेन्द्र सिंह चौहान ने सोमवार को बताया कि रविवार शाम पांच बजे से राजेश बाहेती के इंदौर निवासी परिजन उन्हें फोन लगा रहे थे, जब देर रात तक उन्होंने मोबाइल नहीं उठाया तो उसके परिजन ने कर्मचारियों को इसकी जानकारी दी।

इसे भी पढ़ें: जम्मू कश्मीर के राजनीतिक दलों ने पुलिसकर्मी, उनके परिवार पर हमले की निंदा की

उन्होंने कहा कि जब कर्मचारी सरकारी आवास पर पहुंचे तो वहां उन्होंने बाहेती को फंदे से लटका पाया। चौहान ने बताया कि कर्मचारियों की सूचना पर पुलिस भी मौके पर पहुंची और इस संबंध में मामला दर्ज कर जांच में जुटी है। उन्होंने कहा कि फिलहाल फांसी लगाने का कारण स्पष्ट नहीं हो पाया है। उन्होंने कहा कि बाहेती अपने सरकारी आवास में अकेले ही रहते थे, उनका परिवार इंदौर में रहता है।

Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

अन्य न्यूज़