पांच दलों संग गठबंधन के सहारे मणिपुर में सत्ता पाने के सपने संजोने वाली कांग्रेस को लगा झटका, वरिष्ठ नेता खुरैजम रतनकुमार ने दिया इस्तीफा

पांच दलों संग गठबंधन के सहारे मणिपुर में सत्ता पाने के सपने संजोने वाली कांग्रेस को लगा झटका, वरिष्ठ नेता  खुरैजम रतनकुमार ने दिया इस्तीफा

कांग्रेस नेता खुरईजाम रतनकुमार सिंह ने इस्तीफा दे दिया। बताया जा रहा है कि वो इंफाल पूर्वी जिले के खुरई सीट के लिए प्रचार कर रहे थे। इस्तीफा देने का बाद उनकी अन्य किसी राष्ट्रीय पार्टी में जाने की संभावना है। मणिपुर प्रदेश कांग्रेस कमेटी से रतनकुमार के इस्तीफे के बाद खुराई ब्लॉक कांग्रेस कमेटी (बीसीसी) भंग कर दी गई है।

मणिपुर में कांग्रेस पार्टी ने पांच राजनीतिक दलों के साथ गठबंधन का ऐलान किया है। लेकिन इसके बाद राज्य में कांग्रेस पार्टी को बड़ा झटका लगा है। पार्टी के वरिष्ठ नेता ने इस्तीफा दे दिया है। पार्टी के टिकट पाने में असफल रहने के बाद कांग्रेस नेता खुरईजाम रतनकुमार सिंह ने इस्तीफा दे दिया। बताया जा रहा है कि वो इंफाल पूर्वी जिले के खुरई सीट के लिए प्रचार कर रहे थे। इस्तीफा देने का बाद उनकी अन्य किसी राष्ट्रीय पार्टी में जाने की संभावना है। मणिपुर प्रदेश कांग्रेस कमेटी से रतनकुमार के इस्तीफे के बाद खुराई ब्लॉक कांग्रेस कमेटी (बीसीसी) भंग कर दी गई है।

इसे भी पढ़ें: Manipur Assembly election 2022: बीजेपी से मुकाबले के लिए कांग्रेस का बड़ा दांव, पांच दलों के साथ किया गठबंधन

इसकी जानकारी देते हुए खुरई बीसीसी के एक प्रमुख पदाधिकारीने मीडिया को बताया कि जब कांग्रेस पिछले कुछ वर्षों से अच्छी स्थिति में नहीं थी, तब वे कड़ी मेहनत कर रहे थे। "लेकिन, सभी प्रयासों के बावजूद, वे टिकट पाने में असफल रहे। गौरतलब है कि गुरुवार को एमपीसीसी अध्यक्ष एन लोकेन सिंह ने राजनीतिक दलों के प्रतिनिधियों की मौजूदगी में भाकपा, माकपा, रिवोल्यूशनरी सोशलिस्ट पार्टी, जनता दल (एस) और फॉरवर्ड ब्लॉक के साथ चुनाव पूर्व गठबंधन की घोषणा की। खुरई सीट पर कांग्रेस अपने साझा उम्मीदवार (भाकपा उम्मीदवार) का समर्थन करेगी, जबकि काकचिंग सीट पर पार्टी का दोस्ताना मुकाबला होगा। 

इसे भी पढ़ें: बीजेपी ने मणिपुर चुनाव से पहले संभावित उम्मीदवारों के साथ सहयोग के समझौते पर किया हस्ताक्षर

 खुरईजाम रतनकुमार ने 2018 के चुनावों में एक राष्ट्रीय पार्टी के साथ पद के लिए दौड़ने की अपनी मंशा भी बताई। 2019 के मणिपुर विधानसभा चुनावों में, कांग्रेस पार्टी ने पांच अन्य दलों के साथ चुनाव पूर्व गठबंधन स्थापित किया और खुरई निर्वाचन क्षेत्र में एक भी उम्मीदवार का समर्थन करने का संकल्प लिया। 





नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।