MP में ओमिक्रॉन की दहशत, साउथ अफ्रीका से जबलपुर पहुंची एक महिला है गायब

MP में ओमिक्रॉन की दहशत, साउथ अफ्रीका से जबलपुर पहुंची एक महिला है गायब

रविवार को जबलपुर जिला प्रशासन को पता चला कि 18 नवंबर को साउथ अफ्रीका के बोत्सवाना की एक महिला जबलपुर पहुंची है। जिसके बाद से उसकी तलाश में स्वास्थ्य विभाग ने शहर के सभी होटलों और गेस्ट हाउस छान मारे लेकिन उसका पता नहीं चल पाया।

भोपाल। मध्य प्रदेश के भी अब कोरोना के नए वैरिएंट ओमिक्रॉन की दहशत है। अफ्रीकी देश बोत्सवाना से जबलपुर आई एक महिला की वजह से हड़कंप मचा हुआ है। यह महिला 18 नवंबर को दिल्ली एयरपोर्ट से एयर इंडिया की फ्लाइट से जबलपुर आई थी लेकिन अब तक उसका पता नहीं चल पाया है।

इसे भी पढ़ें:राकेश टिकैत ने मोदी सरकार को चेताया, कहा- MSP पर काम करे सरकार, वरना 26 जनवरी दूर नहीं 

वहीं स्वास्थ्य विभाग और प्रशासन के अधिकारी महिला की तलाश में जुटे हैं। एयर इंडिया ने सोमवार तक जानकारी शेयर करने की बात कही है। इसके साथ ही प्रशासन ने महिला की तलाश के लिए हेल्पलाइन नंबर भी जारी किया है।

आपको बता दें कि इस समय दुनिया भर में ओमिक्रॉन की वजह से चिंता बढ़ गई है। यह डेल्टा वैरिएंट से सात गुना तेजी से फैल रहा है। साउथ अफ्रीका समेत कई देशों में इस वैरिएंट के मरीज मिल चुके हैं। और यही वजह है कि विदेशों से आने वाले हर यात्री की मॉनिटरिंग और कॉन्टैक्ट ट्रैसिंग कर सैंपल लिए जा रहे हैं।

इसे भी पढ़ें:एक ही परिवार के 5 लोगों ने गवाई अपनी जान, ये है पूरा मामला 

दरअसल रविवार को जबलपुर जिला प्रशासन को पता चला कि 18 नवंबर को साउथ अफ्रीका के बोत्सवाना की एक महिला जबलपुर पहुंची है। जिसके बाद से उसकी तलाश में स्वास्थ्य विभाग ने शहर के सभी होटलों और गेस्ट हाउस छान मारे लेकिन उसका पता नहीं चल पाया।

वहीं इस मामला सामने आने पर 24 साल की खुमो ओरीमेट सेलिन को लेकर भोपाल से जबलपुर के अधिकारियों से पूछताछ शुरू हुई। एयर इंडिया ने पूरा ब्योरा सोमवार को देने की बात कही है। मसलन, फ्लाइट में कितने और कहां के यात्री थे? उनकी पूरी डिटेल साझा की जाएगी।

इसे भी पढ़ें:CM शिवराज के निर्देश के विपरीत जारी हुआ आदेश, स्कूल शिक्षा विभाग कर रहा है अपनी मनमानी 

उधर महिला के बारे में किसी को जानकारी हो, तो डॉ. प्रियंक दुबे-9111007776, डॉ. विभोर हजारी-9039095222 और डॉ. विवेक ठाकुर-8962548384 को इन मोबाइल नंबरों पर सूचना दें





नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

Prabhasakshi logoखबरें और भी हैं...

राष्ट्रीय

झरोखे से...