चुनाव जीतने के लिए भाजपा का स्टंट साबित साबित हुई PM किसान सम्मान निधि: दानिश अली

Danish Ali
अमरोहा से लोकसभा सदस्य अली ने कहा कि सरकारी आंकड़े मोदी सरकार के कथनी और करनी के फर्क को दर्शाते हैं। अपने ट्वीट में हापुड़ जिले में प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि के लाभार्थियों का आंकडों का हवाला देते उन्होंने कहा कि हापुड़ जिले मे पंजीकृत किसान1,27,292 हैं।
नयी दिल्ली। बसपा सांसद कुंवर दानिश अली ने शनिवार को उत्तर प्रदेश में अपने गृह जिले हापुड़ में प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि के लाभार्थियों की कम होती संख्या का हवाला देते हुए आरोप लगाया कि यह योजना 2019 का चुनाव जीतने के लिए भाजपा का स्टंट साबित साबित हुई है। अमरोहा से लोकसभा सदस्य अली ने कहा कि सरकारी आंकड़े मोदी सरकार के कथनी और करनी के फर्क को दर्शाते हैं। अपने ट्वीट में हापुड़ जिले में प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि के लाभार्थियों का आंकडों का हवाला देते उन्होंने कहा कि हापुड़ जिले मे पंजीकृत किसान1,27,292 हैं। 

इसे भी पढ़ें: किसान कांग्रेस के सदस्यों ने कृषि मंत्री के आवास के बाहर किया प्रदर्शन, कृषि कानूनों को वापस लेने की मांग की

उनके अनुसार लाभार्थियों के ये आंकड़े सरकारी हैं। अली ने दावा किया कि प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि की पहली किस्त 1,16,104 किसानों को, दूसरी 1,12,832 किसानों को, तीसरी1,10,882 किसानों को, चौथी1,00,614 किसानों को, पांचवीं 96,959 किसानों को, छठी 80,026 किसानों को और सातवीं 64,643 किसानों को मिली। उन्होंने कहा कि यह योजना 2019 का चुनाव जीतने के लिए महज स्टंट साबित हुई। उन्होंने लिखा, ‘‘ मोदी सरकार की कथनी और करनी के अंतर को दर्शाते हैं ये सरकारी आंकड़े। भारी शोर शराबे के साथ शुरू की गई किसान सम्मान निधि योजना के लाभार्थियों की संख्या में 50 प्रतिशत की गिरावट आ गयी है। यह योजना भी 2019 का चुनाव जीतने का स्टंट मात्र निकली। जैसा दो करोड़ रोजगार प्रति वर्ष देने का वादा था।

Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

अन्य न्यूज़