• मध्य प्रदेश में गर्भवती महिला ने टैक्सी में दिया बच्ची को जन्म

दिनेश शुक्ल Nov 20, 2020 11:57

वही इस मामले में अस्पताल प्रबंधन कुछ भी कहने से कतरा रहा है। जबकि इस मामले में सिविल सर्जन और सीएमएचओ से अपना मुँह छिपाते घूम रहे है। वही जब उनसे इस मामले में बात करने की कोशिश की गई तो उन्होंने इस पर बोलने से ही मना कर दिया।

छतरपुर। मध्य प्रदेश के छतरपुर जिला अस्पताल में डिलीवरी के लिए आई एक महिला ने अस्पताल के बाहर टैक्सी में ही अपने बच्चे को जन्म दे दिया। फिलहाल जच्चा और बच्चा दोनों ही स्वस्थ बताए जा रहे हैं। लेकिन यह घटना सामने आने के बाद अस्पताल प्रबंधन की व्यवस्थाओं की पोल खुल गई है। दरअसल शहर के सटई रोड स्थित नई गल्ला मंडी में रहने वाला सुनील साहू अपनी पत्नी को टैक्सी से जिला अस्पताल लेकर आया था। वह काफी देर तक अस्पताल के गेट पर मेडिकल स्टाफ का इंतजार करता रहा, लेकिन कोई भी नहीं आया। 

इसे भी पढ़ें: वामपंथी अतिवाद प्रभावित क्षेत्रों में विशेष सुविधाएं देगी मध्य प्रदेश सरकार

आखिरकार गर्भवती महिला ने टैक्सी के अंदर ही बच्ची को जन्म दे दिया। गनीमत रही कि गर्भवती महिला एवं नवजात बच्ची को किसी भी प्रकार की कोई हानि नहीं पहुंची। टैक्सी के अंदर हुई यह डिलीवरी बताती है कि जिला अस्पताल प्रबंधन कितना लापरवाही है। यदि जरा सी चूक भी हो जाती तो उक्त गर्भवती महिला और नवजात बच्ची की जान भी जा सकती थी। वही इस मामले में अस्पताल प्रबंधन कुछ भी कहने से कतरा रहा है। जबकि इस मामले में सिविल सर्जन और सीएमएचओ से अपना मुँह छिपाते घूम रहे है। वही जब उनसे इस मामले में बात करने की कोशिश की गई तो उन्होंने इस पर बोलने से ही मना कर दिया।