मुख्तार अंसारी का समर्थन करेगा सपा-सुभासपा गठबंधन : राजभर

Up
सपा और सुभासपा ने उत्तर प्रदेश का आगामी विधानसभा चुनाव गठबंधन कर लड़ने का ऐलान किया है। राजभर बहुल पूर्वांचल में सुहेलदेव भारतीय समाज पार्टी का असर माना जाता है।

बलिया (उत्तर प्रदेश)। उत्तर प्रदेश के आगामी विधानसभा चुनाव में समाजवादी पार्टी (सपा) के साथ गठबंधन कर चुकी सुहेलदेव भारतीय समाज पार्टी (सुभासपा) के अध्यक्ष ओम प्रकाश राजभर ने चुनाव में मऊ सीट से बाहुबली विधायक मुख्तार अंसारी को समर्थन देने की घोषणा की है। सुभासपा के अध्यक्ष राजभर ने बृहस्पतिवार को से बातचीत करते हुए कहा कि विधायक मुख्तार अंसारी से दो दिन पहले उनकी बांदा जेल में मुलाकात हुई थी। उन्होंने अंसारी का खुलकर समर्थन करते हुए कहा कि उत्तर प्रदेश के विधानसभा के होने वाले चुनाव में सपा और सुभासपा गठबंधन की तरफ से मुख्तार अंसारी को समर्थन दिया जाएगा।

राजभर ने कहा कि यह मुख्तार अंसारी पर निर्भर करता है कि वह सुभासपा के उम्मीदवार के रूप में चुनाव लड़ते हैं या फिर निर्दलीय प्रत्याशी के तौर पर। यह पूछे जाने पर कि क्या सपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव मुख्तार अंसारी को समर्थन देने को तैयार होंगे, उन्होंने कहा, ‘‘सरकार बनानी है तो समर्थन देने में कोई दिक्कत नहीं होनी चाहिए। जब अखिलेश यादव मायावती से गठबंधन कर सकते हैं तो फिर मुख्तार अंसारी को समर्थन देने में कोई समस्या नहीं होगी।’’ राजभर का यह ऐलान सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव के मुख्तार को लेकर पूर्व के रुख को देखते हुए काफी महत्वपूर्ण माना जा सकता है।

वर्ष 2016 में मुख्तार अंसारी और उनके परिवार को पार्टी में शामिल नहीं करने के अखिलेश के ऐलान के बाद उनकी अपने चाचा शिवपाल सिंह यादव से तनातनी हो गई थी।शिवपाल मुख्तार अंसारी और उनके परिवार को सपा में शामिल करना चाहते थे जबकि अखिलेश ने इसका मुखर विरोध किया था। गौरतलब है कि सपा और सुभासपा ने उत्तर प्रदेश का आगामी विधानसभा चुनाव गठबंधन कर लड़ने का ऐलान किया है। राजभर बहुल पूर्वांचल में सुहेलदेव भारतीय समाज पार्टी का असर माना जाता है।

Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

अन्य न्यूज़