हल्दीघाटी में राजपूतों ने हटाए ASI के बोर्ड, युद्ध में महाराणा प्रताप के हारने की लिखी थी बात

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  जून 23, 2021   16:21
हल्दीघाटी में राजपूतों ने हटाए ASI के बोर्ड, युद्ध में महाराणा प्रताप के हारने की लिखी थी बात

हल्दीघाटी में प्रवेश पर कुछ राजपूत संगठनों ने एक बोर्ड लगा दिया है। जिस पर लिखा गया है कि हल्दीघाटी की ऐतिहासिक लड़ाई मेवाड़ के राजा महाराणा प्रताप ने जीती थी। आपको बता दें कि भारतीय पुरातत्व सर्वेक्षण साइट राखतलाई पर एक बोर्ड को लेकर विवाद चल रहा था।

हल्दीघाटी में प्रवेश पर कुछ राजपूत संगठनों ने एक बोर्ड लगा दिया है। जिस पर लिखा गया है कि हल्दीघाटी की ऐतिहासिक लड़ाई मेवाड़ के राजा महाराणा प्रताप ने जीती थी। आपको बता दें कि भारतीय पुरातत्व सर्वेक्षण साइट राखतलाई पर एक बोर्ड को लेकर विवाद चल रहा था। 

इसे भी पढ़ें: रोजगार और राजस्व बढ़ाने के लिए करें नए खनन ब्लॉक की पहचान : अशोक गहलोत 

दरअसल भारतीय पुरातत्व सर्वेक्षण साइट पर जो बोर्ड लगा था, उसमें कहा गया था कि महाराणा प्रताप 1576 में अकबर की मुगल सेना के खिलाफ हल्दीघाटी की लड़ाई में 'पीछे हट गए' थे। इसको लेकर राजपूत संगठनों और इतिहासकारों ने राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत को चिट्ठी भी लिखी थी।

बोर्ड हटाने के लिए गहलोत को लिखी थी चिट्ठी

गहलोत को लिखी चिट्ठी में इन लोगों ने भारतीय पुरातत्व सर्वेक्षण साइट राखतलाई से इस बोर्ड को हटाने की मांग की गई थी। इस बोर्ड को लेकर ही पिछले काफी समय से विवाद चल रहा था। अब मेवाड़ के क्षत्रिय समाज के सदस्य हेमंत सिंह मोजावत ने कहा है कि हम हमारे महान योद्धा महाराणा प्रताप के सम्मान में फिर से बोर्ड लगा रहे हैं। 

इसे भी पढ़ें: कांग्रेस को सत्ता में लाने वाले कार्यकर्ताओं को सरकार में हिस्सेदारी मिले : नारायण सिंह 

साथ ही हेमंत सिंह मोजावत ने कहा कि पर्यटकों को तोड़-मरोड़ कर दिखाए गए इतिहास की जानकारी देने के लिए पूरे मेवाड़ में इतिहास को सही दिखाने वाले बोर्ड लगाएंगे। चेतक स्मारक समिति बलिचि के अध्यक्ष जगदीश राज श्रीमाली ने कहा कि इतिहासकारों के साथ विस्तृत चर्चा कर हमने बोर्ड पर लिखे जाने वाले विषय को तैयार कर लिया है।

स्थानीय लोगों की भावनाओं को दिखाएगी बोर्ड पर लिखी बातें

श्रीमाली ने कहा कि बोर्ड पर लिखी गई बातें स्थानीय लोगों की भावनाओं का प्रतीक होंगी। आपको बता दें कि इससे पहले उदयपुर के मीरा गर्ल्स कॉलेज के एसोसिएट प्रोफेसर चंद्रशेखर शर्मा ने कहा, "हाल के शोध और सबूतों के आधार पर, इतिहासकार इस निष्कर्ष पर पहुंचे हैं कि महाराणा प्रताप की सेना हल्दीघाटी की लड़ाई से कभी पीछे नहीं हटी। महाराणा प्रताप ने युद्ध जीता था।"





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।