• PM मोदी की वैक्सीनेशन पर समीक्षा बैठक, दिसंबर तक पूरे देश का टीकाकरण करने का दिया लक्ष्य

अभिनय आकाश Jun 26, 2021 18:28

अब तक देश में अनुक्रमित (जीनोम) किये गये 45,000 नमूनों में से कोविड-19 के डेल्टा प्लस स्वरूप के 51 मामले 12 राज्यों में सामने आये हैं और उनमें से सबसे अधिक 22 मामले महाराष्ट्र से आये हैं। जिसके बाद से ही केंद्र और राज्य सरकारें सतर्क हो गई हैं।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने देश में चल रहे कोविड-19 वैक्सीनेशन के संदर्भ में वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए बैठक की। बैठक में नीति आयोग के सदस्य डॉ वीके पॉल, स्वास्थ्य सचिव और प्रधानमंत्री कार्यालय के अधिकारी मौजूद रहे। ज्ञात हो कि अब तक देश में अनुक्रमित (जीनोम) किये गये 45,000 नमूनों में से कोविड-19 के डेल्टा प्लस स्वरूप के 51 मामले 12 राज्यों में सामने आये हैं और उनमें से सबसे अधिक 22 मामले महाराष्ट्र से आये हैं। जिसके बाद से ही केंद्र और राज्य सरकारें सतर्क हो गई हैं। सरकार की कोशिश जल्द से जल्द बड़ी संख्या में लोगों के वैक्सीनेशन की है। जिसके लिए प्रधानमंत्री मोदी ने योग दिवस के दिन से सभी लोगों को मुफ्त में कोरोना वैक्सीन लगाने की घोषणा की थी।

दिसंबर तक पूरे देश का टीकाकरण करने का दिया लक्ष्य

इस सप्ताह टीकाकरण की रफ्तार पर संतुष्टि जताते हुए इसकी गति कायम रखने पर जोर दिया। संक्रमण का पता लगाने और उसे रोकने के लिए जांच को सबसे महत्वपूर्ण बताते हुए प्रधानमंत्री ने सभी हितधारकों को आगाह किया कि किसी भी सूरत में जांच की गति कम ना होने पाए। उन्होंने इस अभियान का विस्तार करने के प्रयासों में गैर सरकारी संगठनों (एनजीओ) और अन्य संगठनों को शामिल करने की आवश्यकता को भी रेखांकित किया। समीक्षा बैठक के बाद प्रधानमंत्री ने ट्वीट कर कहा, ‘‘भारत के टीकाकरण अभियान की प्रगति की समीक्षा की। पिछले सप्ताह के दौरान टीकाकरण के आंकड़े उत्साहवर्धन करने वाले हैं। हमें इस गति को बरकरार रखना है और अधिक से अधिक लोगों का जल्द से जल्द टीकाकरण सुनिश्चित करना है।’’ इस बीच, प्रधानमंत्री कार्यालय (पीएमओ) से जारी एक बयान में कहा गया कि पिछले छह दिनों में टीके की 3.77 करोड़ खुराक दी गई। बयान के मुताबिक, देश के 128 जिलों में 45 वर्ष से अधिक की आबादी के 50 प्रतिशत से अधिक लोगों का टीकाकरण किया गया है और 16 जिलों में इस आयु वर्ग के 90 प्रतिशत से अधिक लोगों का टीकाकरण किया गया है। पीएमओ ने कहा, ‘‘ छह दिनों में 3.77 करोड़ खुराक दी गई, जो मलेशिया, सऊदी अरब और कनाडा जैसे देशों की पूरी आबादी से अधिक है।’’ मोदी ने अधिकारियों को यह सुनिश्चित करने के लिए राज्यों के साथ काम करने का भी निर्देश दिया कि जांच की गति कम न हो क्योंकि यह संक्रमण का पता लगाने और इसे रोकने के लिए महत्त्वपूर्ण हथियार है। बैठक के दौरान अधिकारियों ने आने वाले महीनों में वैक्सीन की आपूर्ति और उत्पादन बढ़ाने के लिए किए जा रहे प्रयासों के बारे में प्रधानमंत्री को अवगत कराया। पीएमओ ने कहा कि मोदी ने टीकाकरण अभियान में गैर सरकारी संगठनों और अन्य संगठनों को शामिल करने की आवश्यकता को रेखांकित किया। अधिकारियों ने प्रधानमंत्री से कहा कि वे टीकाकरण के लिए लोगों तक पहुंचने के लिए नवीन तरीकों का पता लगाने और उन्हें लागू करने के लिए राज्य सरकारों के संपर्क में हैं। पीएमओ के अनुसार, मोदी को वैश्विक स्तर पर कोविन मंच में बढ़ती दिलचस्पी के बारे में भी बताया गया। पीएमओ के मुताबिक, मोदी ने कहा कि कोविन मंच के रूप में भारत की समृद्ध तकनीकी विशेषज्ञता के साथ सभी देशों की मदद करने का प्रयास किया जाना चाहिए। अधिकारियों ने देश में टीकाकरण की प्रगति पर मोदी को एक विस्तृत प्रस्तुति दी और उन्हें आयु-वार टीकाकरण कवरेज के बारे में जानकारी दी गई। भारत में शनिवार को कोविड-19 के 48,698 नए मामले सामने आने से संक्रमण के कुल मामलों की संख्या 3,01,83,143 हो गई और साप्ताहिक संक्रमण दर गिरकर 2.97 प्रतिशत रह गयी। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के शनिवार सुबह आठ बजे तक जारी आंकड़ों के अनुसार, इस संक्रामक रोग से एक दिन में 1,183 लोगों के जान गंवाने से मृतकों की संख्या बढ़कर 3,94,493 हो गयी। स्वास्थ्य मंत्रालय के आंकड़ों के अनुसार, कोरोना वायरस से स्वस्थ होने वाले मरीजों की राष्ट्रीय दर 96.72 फीसदी है जबकि साप्ताहिक संक्रमण दर कम होकर 2.97 प्रतिशत रह गयी है। दैनिक संक्रमण दर 2.79 प्रतिशत है। यह लगातार 19वें दिन पांच प्रतिशत से कम है। सुबह सात बजे तक जारी टीकाकरण आंकड़ों के अनुसार, भारत में एक दिन में 61.19 लाख कोविड-19 रोधी टीके लगने से अब तक देशव्यापी अभियान के तहत दी जाने वाली टीकों की खुराक 31.50 करोड़ हो गयी है। मंत्रालय के मुताबिक सरकार ने अब तक राज्यों व केंद्रशासित प्रदेशों को कोविड टीके की 31.17 करोड़ से अधिक खुराक मुफ्त श्रेणी और राज्यों द्वारा सीधी खरीद की श्रेणी के माध्यम से प्रदान की है। इसमें से कुल खपत (अपव्यय सहित) 29.71 करोड़ खुराक है। राज्यों व केंद्रशासित प्रदेशों के पास अब भी टीके की 1.45 करोड़ से ज्यादा खुराक उपलब्ध हैं, जिन्हें दिया जाना बाकी है।  

योगी संग अयोध्या विकास परियोजना की समीक्षा की

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के साथ अयोध्या विकास परियोजना की समीक्षा की और कहा कि राम की इस नगरी में ‘‘हमारी उत्कृष्ट परंपराओं’’ और ‘‘हमारे विकासात्मक परिवर्तनों’’ का प्रकटीकरण होना चाहिए। उन्होंने अयोध्या को एक ऐसा शहर बताया, जो हर भारतीय की सांस्कृतिक चेतना में अंकित है और कहा कि इसे आध्यात्मिक और वैश्विक पर्यटन केंद्र के साथ ही एक टिकाऊ स्मार्ट शहर के रूप में विकसित करना है। वीडियो कॉन्फ्रेंस के माध्यम से हुई इस समीक्षा बैठक में उत्तर प्रदेश के दोनों उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य और दिनेश शर्मा के अलावा उत्तर प्रदेश सरकार के कई वरिष्ठ अधिकारी मौजूद थे।