जहांगीरपुरी में हिंसा के बाद साथ आए हिन्दू-मुस्लिम समुदाय के लोग, गले मिलकर दूर किए गिले-शिकवे

जहांगीरपुरी में हिंसा के बाद साथ आए हिन्दू-मुस्लिम समुदाय के लोग, गले मिलकर दूर किए गिले-शिकवे
प्रतिरूप फोटो
ANI Image

उत्तर-पश्चिम दिल्ली की डीसीपी उषा रंगनानी ने बताया कि पुलिस ने जहांगीरपुरी इलाके में दोनों समुदायों के साथ सद्भावना बैठक आयोजित की। उन्होंने बताया कि सुझाव समुदाय की तरफ से ही आया था, लोगों में सद्भाव है। सब मिलकर रहना चाहते हैं। ये हमारी तरफ से लोगों के विश्वास को बढ़ावा देने का एक प्रयास था।

नयी दिल्ली। राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली के जहांगीरपुरी इलाके में शांति व्यवस्था बहाल हो रही है और माहौल भी धीरे-धीरे सामान्य हो चला है। हालांकि, इलाके में अभी भी भारी संख्या में पुलिस बल तैनात है। इसी बीच शुक्रवार को सद्भावना बैठक में हिन्दू और मुस्लिम समुदाय एकसाथ सामने आए और एक-दूसरे के गले मिलकर गिले-शिकवे दूर किए। इतना ही नहीं दोनों समुदायों ने मीडिया के समक्ष हिंसा को लेकर एक-दूसरे से माफी मांगी। 

इसे भी पढ़ें: जहांगीरपुरी में खूब हो रहा सियासी जुटान, धरती से आसमान तक...चप्पे-चप्पे पर पुलिस की नजर 

सद्भावना बैठक की आयोजित

समाचार एजेंसी एएनआई के मुताबिक, उत्तर-पश्चिम दिल्ली की डीसीपी उषा रंगनानी ने बताया कि पुलिस ने जहांगीरपुरी इलाके में दोनों समुदायों के साथ सद्भावना बैठक आयोजित की। उन्होंने बताया कि सुझाव समुदाय की तरफ से ही आया था, लोगों में सद्भाव है। सब मिलकर रहना चाहते हैं। ये हमारी तरफ से लोगों के विश्वास को बढ़ावा देने का एक प्रयास था।

इससे पहले विशेष पुलिस आयुक्त (सीपी) दीपेंद्र पाठक ने बताया था कि हिंसा प्रभावित क्षेत्र में स्थिति शांतिपूर्ण है और राजनीतिक दलों के नेताओं को मस्जिद के पास जाने की अनुमति नहीं है। हालांकि आम लोगों पर कोई पाबंदी नहीं लगाई गई है। उन्होंने बताया था कि अगले 24 से 36 घंटों में इलाके में सामान्य स्थिति लौट आएगी। फिलहाल स्थिति शांतिपूर्ण है। 

इसे भी पढ़ें: जहांगीरपुरी हिंसा से सनातनी सामाजिक ताने-बाने को बिगाड़ने की साजिश का खुलासा, NRC जरूरी: गिरिराज 

लोगों ने अदा की जुमे की नमाज

सी-ब्लॉक में भारी सुरक्षा के बीच स्थानीय निवासियों ने जुमे की नमाज अदा की। स्थानीय निवासी अनवर ने बताया कि पुलिस ने उस मस्जिद में नमाज अदा करने के लिए जाने का रास्ता बनाया, जहां पिछले सप्ताह सांप्रदायिक हिंसा हुई थी। हिंसा में 9 लोग जख्मी हो गए थे, जिनमें आठ पुलिस कर्मी थे। अनवर ने बताया कि हमारी तरफ हालात सामान्य है। आज जुमा है। हमारे पड़ोसी और अन्य लोग भी मस्जिद गए। मैंने भी मस्जिद जाकर नमाज अदा की। पुलिस ने हमें मस्जिद जाने से नहीं रोका।





नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।