नामांकन पत्रों की जांच की गयी ,मंडी संसदीय क्षेत्र से चुनाव मैदान में 6 उम्मीदवार

नामांकन पत्रों की जांच की गयी ,मंडी संसदीय क्षेत्र से चुनाव मैदान में 6 उम्मीदवार

अब चुनावी मैदान में भाजपा उम्मीदवार ब्रिगेडियर (सेवानिवृत) खुशाल ठाकुर, भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस की प्रतिभा सिंह, हिमाचल जनक्रांति पार्टी के मुंशी राम, राष्ट्रीय लोक नीति पार्टी की अम्बिका श्याम हैं जबकि सुभाष स्नेही व अनिल कुमार आजाद उम्मीदवार हैं ।

मंडी । मंडी लोक सभा उप चुनाव-2021 के लिए   नामांकन पत्रों की जांच की गयी ।  निर्वाचन अधिकारी एवं उपायुक्त मंडी अरिंदम चौधरी ने जानकारी देते हुए बताया कि पहली से 8 अक्तूबर तक चली नामांकन प्रक्रिया में मण्डी संसदीय सीट के लिए कुल आठ उम्मीदवारों ने अपने नामांकन पत्र दाखिल किए थे, जिनमें 2 कवरिंग प्रत्याशी भी शामिल थे ।

 

इसे भी पढ़ें: नवरात्रि का सातवां दिन--- इस दिन मां कालरात्रि की पूजन का विधान है

 

उन्होंने बताया कि नामांकन पत्रों की जांच के बाद सभी उम्मीदवारों के नामांकन पत्र वैध पाए गए हैं । इस तरह अब मंडी संसदीय क्षेत्र में कुल 6 उम्मीदवार चुनाव मैदान में हैं और दोनों कवरिंग उम्मीदवारों के नामांकन पत्र स्वतः ही रद्द हो गए हैं ।

उन्होंने बताया कि अब चुनावी मैदान में भाजपा उम्मीदवार ब्रिगेडियर (सेवानिवृत) खुशाल ठाकुर, भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस की प्रतिभा सिंह, हिमाचल जनक्रांति पार्टी के मुंशी राम, राष्ट्रीय लोक नीति पार्टी की अम्बिका श्याम हैं जबकि सुभाष स्नेही व अनिल कुमार आजाद उम्मीदवार  हैं ।

इसे भी पढ़ें: खुद को बिन पेंदी का लोटा साबित करने में जुटे हैं विक्रमादित्य, मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर की लोकप्रियता से भी परेशान हैं कांग्रेस विधायक: भाजपा

उन्होंने बताया कि 13 अक्तूबर को प्रातः 10 बजे से सायं 3 बजे तक नाम वापिस लिए जा सकते हैं। 13 अक्तूबर को नाम वापिस लेने की समयावधि पूर्ण होने के उपरांत उम्मीदवारों को चुनाव चिन्ह आवंटित कर दिए जायेंगे । 30 अक्तूबर को वोट डाले जांएगे। 2 नवंबर को मतगणना होगी।

इसे भी पढ़ें: रतन सिंह पाल को विधानसभा भेजना आपके जिम्मे, विकास मेरे जिम्मे: जयराम ठाकुर

केन्द्रीय व्यय पर्यवेक्षक आईआरएस अधिकारी विमल कुमार मीणा ने  मंडी में चुनाव प्रबंधों को लेकर आयोजित बैठक में चुनावी खर्चे पर निगरानी के लिए गठित सभी टीमों और उड़नदस्तों को पूरी मुस्तैदी से काम करने के निर्देश दिए।  उन्होंने डीसी और एसपी को चुनावी व्यय की दृष्टि से संवेदनशील विधानसभा क्षेत्रों को सूचीबद्ध कर जानकारी उनसे साझा करने तथा ऐसे क्षेत्रों में निगरानी के लिए आवश्यक कदम उठाने को कहा। उन्होंने सभी अधिकारियों को चुनाव आयोग की ओर से चुनावी व्यय की निगरानी को लेकर  जारी दिशा निर्देशों का पूरा पालन सुनिश्चित बनाने के निर्देश दिए।





नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।