मप्र: एमबीबीएस छात्र हॉस्टल में मृत पाया गया, परिजन ने रैगिंग के कारण आत्महत्या करने का आरोप लगाया

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  मार्च 31, 2022   08:37
मप्र: एमबीबीएस छात्र हॉस्टल में मृत पाया गया, परिजन ने रैगिंग के कारण आत्महत्या करने का आरोप लगाया

पीड़ित के करीबी रिश्तेदार विजय पाटीदार ने आरोप लगाया कि वरिष्ठ छात्र काफी समय से चेतन की रैगिंग कर उसे परेशान कर रहे थे और उसने कॉलेज अधिकारियों से शिकायत भी की थी।

इंदौर|  मध्य प्रदेश के इंदौर में निजी मेडिकल कॉलेज के 21 वर्षीय एमबीबीएस छात्र का शव हॉस्टल के कमरे में बुधवार सुबह लटकता हुआ पाया गया। मृतक के परिजनों ने आरोप लगाया है कि कॉलेज में रैगिंग से परेशान होकर उसने आत्महत्या की है।

खुड़ैल पुलिस थाने के सहायक उप निरीक्षक (एएसआई) सुरेश पवार ने बताया कि इंडेक्स मेडिकल कॉलेज में एमबीबीएस प्रथम वर्ष के छात्र चेतन पाटीदार (21) का शव संस्थान के हॉस्टल में उसके कमरे में फांसी के फंदे पर लटका मिला। उन्होंने कहा, ‘‘हमें पाटीदार के कमरे से अब तक कोई सुसाइड नोट नहीं मिला है। हालांकि, पहली नजर में यह आत्महत्या का मामला लग रहा है।’’

रैगिंग के कारण एमबीबीएस छात्र की आत्महत्या को लेकर परिजनों के आरोप पर एएसआई ने कहा कि पुलिस तमाम पहलुओं पर मामले की जांच कर रही है और उसके शव को पोस्टमार्टम के लिए भेजा गया है।

पीड़ित के करीबी रिश्तेदार विजय पाटीदार ने आरोप लगाया कि वरिष्ठ छात्र काफी समय से चेतन की रैगिंग कर उसे परेशान कर रहे थे और उसने कॉलेज अधिकारियों से शिकायत भी की थी।

विजय ने दावा किया कि चेतन ने कॉलेज के बाहर किराए के कमरे में रहने की अनुमति मांगी थी, लेकिन उसे अनुमति नहीं दी गई। उन्होंने यह भी आरोप लगाया कि कॉलेज के अधिकारियों ने परिवार को बहुत देर से घटना के बारे में सूचित किया।

इस मामले में कॉलेज के डीन से संपर्क करने के प्रयास किये गये, लेकिन संपर्क नहीं हो पाया।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

Prabhasakshi logoखबरें और भी हैं...

राष्ट्रीय

झरोखे से...