चुनाव की जल्दी ममता बनर्जी को है, BJP को नहीं, शुभेंदु अधिकारी बोले- मोदी फिर 400 से ज़्यादा सीटें लाएंगे

चुनाव की जल्दी ममता बनर्जी को है, BJP को नहीं, शुभेंदु अधिकारी बोले- मोदी फिर 400 से ज़्यादा सीटें लाएंगे

पश्चिम बंगाल में नेता प्रतिपक्ष शुभेंदु अधिकारी ने कहा कि ममता बनर्जी प्रधानमंत्री उम्मीदवार बनने की कोशिश कर रही हैं। 2019 में भी सारे दल के नेता एक साथ आए थे। उसका नतीजा हमने देखा था।

पश्चिम बंगाल विधानसभा चुनाव में शानदार जीत हासिल करने के बाद ममता बनर्जी अब 2024 के आम चुनाव को लेकर तैयारियों में जुट गई हैं। तृणमूल कांग्रेस ममता बनर्जी को अब राष्ट्रीय नेता के तौर पर पेश कर रही है। ममता बनर्जी भी लगातार विभिन्न राज्यों का दौरा कर रही हैं और तृणमूल कांग्रेस के विस्तार को लेकर प्रयासरत हैं। हाल में ही वह दिल्ली आई थी जिसके बाद वह मुंबई भी गईं जहां उन्होंने शरद पवार से मुलाकात की। अपने मुलाकात के बाद ममता ने कहा था कि भाजपा को हराने के लिए विपक्ष को एक साथ आना होगा। इसी को लेकर शुभेंदु अधिकारी ने ममता बनर्जी पर हमला बोला है।


ममता पर शुभेंदु अधिकारी का हमला

पश्चिम बंगाल में नेता प्रतिपक्ष शुभेंदु अधिकारी ने कहा कि ममता बनर्जी प्रधानमंत्री उम्मीदवार बनने की कोशिश कर रही हैं। 2019 में भी सारे दल के नेता एक साथ आए थे। उसका नतीजा हमने देखा था। नरेंद्र मोदी 400 से ज़्यादा सीटें लेकर फिर आएंगे। चुनाव की जल्दी ममता बनर्जी को है, BJP को नहीं। इसके साथ ही शुभेंदु अधिकारी ने कहा कि अगर जरूरत पड़ी तो हम राष्ट्रगान का अनादर करने के लिए ममता बनर्जी के खिलाफ एफआईआर दर्ज कराएंगे। वह अपने राजनीतिक सलाहकार के अनुसार काम कर रही हैं और अगला पीएम बनना चाहती हैं। 

इसे भी पढ़ें: ममता के बाद PK ने कांग्रेस को घेरा, कहा- 10 साल में 90% से ज्यादा चुनाव में मिली हार, नेतृत्व किसी शख्स का दिव्य अधिकार नहीं

पवार से मिलीं ममता

ममता बनर्जी ने राकांपा सुप्रीमो शरद पवार से मुलाकात की और कांग्रेस नेतृत्व पर परोक्ष रूप से निशाना साधते हुए भाजपा के खिलाफ एकजुट होकर लड़ने की बात कही। एक ओर बनर्जी ने टिप्पणी की कि ‘‘अब संप्रग जैसा कुछ नहीं है’’ और ‘ज्यादातर समय’ विदेश में रह कर कोई कुछ भी हासिल नहीं कर सकता है, वहीं, पवार ने कहा कि वर्तमान में नेतृत्व कोई मुद्दा नहीं है और भाजपा के खिलाफ लड़ाई में समान विचार रखने वाली सभी पार्टियों का स्वागत है। बनर्जी ने दावा किया कि विपक्ष को दिशा दिखाने के लिए सिविल सोसायटी के प्रतिष्ठित लोगों की एक सलाहकार समिति गठित करने की सलाह उन्होंने कांग्रेस को दी थी, लेकिन यह योजना परवान नहीं चढ़ी।





नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

Prabhasakshi logoखबरें और भी हैं...

राष्ट्रीय

झरोखे से...