मानव जाति के समक्ष आतंकवाद और जलवायु परिवर्तन सबसे बड़ी चुनौतियां: PM मोदी

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  फरवरी 21, 2019   14:59
मानव जाति के समक्ष आतंकवाद और जलवायु परिवर्तन सबसे बड़ी चुनौतियां: PM मोदी

मोदी ने कहा ‘‘मेरे लिए आज कोरिया के प्रमुख विश्वविद्यालय में महात्मा गांधी की आवक्ष प्रतिमा का अनावरण करना बेहद सम्मान और सौभाग्य की बात है।’’

सियोल। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बृहस्पतिवार को कहा कि फिलहाल मानव जातिके समक्ष आतंकवाद और जलवायु परिवर्तन की दो सबसे बड़ी चुनौतियां हैं और महात्मा गांधी के बताए रास्ते ज्वलंत मुद्दों के समाधान में दुनिया की मदद कर सकते हैं। दक्षिण कोरिया के साथ भारत के रणनीतिक रिश्ते मजबूत करने के उद्देश्य से दो दिवसीय यात्रा पर सियोल पहुंचे प्रधानमंत्री मोदी ने दक्षिण कोरिया के राष्ट्रपति मून जेइ इन और संयुक्त राष्ट्र के महासचिव बान की मून के साथ यहां स्थित प्रतिष्ठित योनसेई यूनिवर्सिटी में महात्मा गांधी की एक आवक्ष प्रतिमा का अनावरण किया।

मोदी ने कहा ‘‘मेरे लिए आज कोरिया के प्रमुख विश्वविद्यालय में महात्मा गांधी की आवक्ष प्रतिमा का अनावरण करना बेहद सम्मान और सौभाग्य की बात है।’’ उन्होंने कहा ‘‘यह अवसर खास महत्व रखता है क्योंकि हम महात्मा गांधी की 150वीं जयंती मना रहे हैं और दुनिया के लिए वह सबसे महत्वपूर्ण मसीहा हैं।’’ प्रधानमंत्री ने कहा ‘‘आतंकवाद और जलवायु परिवर्तन दो सबसे बड़ी चुनौतियां हैं जिनका फिलहाल मानव जातिसामना कर रही है।’’ 


यह भी पढ़ें: नवाज शरीफ की सजा निलंबित करने पर कोर्ट का फैसला सुरक्षित

उन्होंने रेखांकित किया कि महात्मा गांधी के बताए रास्ते ज्वलंत मुद्दों के समाधान में दुनिया की मदद कर सकते हैं। मोदी, राष्ट्रपति मून जेइ इन के आमंत्रण पर दक्षिण कोरिया आए हैं। 2015 के बाद से प्रधानमंत्री मोदी की कोरिया गणराज्य की यह दूसरी यात्रा है और राष्ट्रपति मून जेइ इन के साथ यह उनकी दूसरी शिखर बैठक है।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।