सदन जितनी ज्यादा चलेगी, सरकार उतनी ही जवाबदेह और पारदर्शी बनेगी: लोकसभा अध्यक्ष

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  जुलाई 7, 2019   16:05
  • Like
सदन जितनी ज्यादा चलेगी, सरकार उतनी ही जवाबदेह और पारदर्शी बनेगी: लोकसभा अध्यक्ष
Image Source: Google

बिरला ने कहा कि विधानसभा और लोकसभा में कानून बनाते समय सार्थक चर्चा होनी चाहिए। उन्होंने कहा कि जब लोकसभा सही तरीके से चलेगी तो राज्य विधानसभाओं को भी उसका अवलोकन करना चाहिए।

जयपुर। लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला ने कहा कि विधानसभा और लोकसभा जितनी ज्यादा चलेगी, सरकार उतनी ही जवाबदेह और पारदर्शी बनेगी क्योंकि सदन के माध्यम से हर जिले, गांव, ढाणी की समस्याओं का सरकार को पता चलता है। राजस्थान विधानसभा में रविवार को विधानसभा सदस्यों के प्रबोधन कार्यक्रम को संबोधित करते हुए बिरला ने कहा कि देश और राज्य हित में विधानसभा और लोकसभा के सदस्यों को विधायी चर्चा के दौरान पार्टी लाईन से ऊपर उठकर भाग लेना चाहिए। राजस्थान विधानसभा के पूर्व में सदस्य रह चुके बिरला ने कहा कि सदन में विपक्षी सदस्यों का आसन के समक्ष जाना उचित नहीं है क्योंकि इसके चलते सदन को स्थगित करना पड़ता है। उन्होंने कहा ‘‘आसन के समक्ष जाने से कोई सदस्य नेता नहीं बन जाता। इसके बजाय जनता की आवाज को सदन ज्यादा ज्यादा से उठाना चाहिए।

बिरला ने कहा कि विधानसभा और लोकसभा में कानून बनाते समय सार्थक चर्चा होनी चाहिए। उन्होंने कहा कि जब लोकसभा सही तरीके से चलेगी तो राज्य विधानसभाओं को भी उसका अवलोकन करना चाहिए। लोकसभा अध्यक्ष ने कहा कि सदस्यों को नियमों के तहत अपने मुद्दे उठाने चाहिए और मर्यादा में रहकर तथ्यों के आधार पर आरोप लगाने चाहिए। उन्होंने सुझाव दिया कि सत्र लंबे होने चाहिए और सदस्यों को राज्य और देश हित में पार्टी लाईन से ऊपर उठकर सदन में चर्चा में भाग लेना चाहिए। लंबे सदनों की कार्यवाही सरकार को ज्यादा जवाबदेह बनाती है। इसी तरह उन्होंने कहा कि सदनों में ज्यादा प्रश्न उठाए जाने से संबंधित मंत्रियों को अपने विभागों की अच्छे तरीके से समीक्षा करने का अवसर मिलता है। उन्होंने सुझाव दिया कि जब सदन चल रहा हो तो सदस्यों को ज्यादा से ज्यादा समय सदन में व्यतीत करना चाहिए क्योंकि इससे ज्यादा सीखने को मिलता हैं

इसे भी पढ़ें: छोटे से राजनीतिक कार्यकाल में निर्मला सीतारमण ने हासिल की बड़ी उपलब्धि

राजस्थान विधानसभा के अध्यक्ष सी पी जोशी ने कहा कि प्रबोधन कार्यक्रम से सदस्यों की क्षमता बढे़गी और संसदीय प्रक्रियाओं के बारे में सीखने का अवसर मिलेगा। मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने कहा कि इस तरह के कार्यक्रमों से विधानसभा के सदस्यों को संसदीय परम्पराओं के बारे अपनी समझ बढाने में मदद मिलेगी। विधानसभा में प्रतिपक्ष के नेता गुलाब चंद कटारिया और संसदीय कार्य मंत्री शांति धारीवाल ने प्रबोधन उद्घाटन सत्र को संबोधित किया। कार्यक्रम के दौरान राजस्थान विधानसभा के सभी वर्तमान सदस्य और कई पूर्व सदस्य भी मौजूद रहे। 





नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।


भारत को भरोसेमंद और उभरते भागीदार के रूप में देखती है दुनिया: PM मोदी

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  दिसंबर 4, 2020   23:21
  • Like
भारत को भरोसेमंद और उभरते भागीदार के रूप में देखती है दुनिया:  PM मोदी
Image Source: Google

प्रधानमंत्री ने कहा कि कोविड-19 के इस चुनौतीपूर्ण समय में भारत में रिकॉर्ड निवेश हुआ और इस निवेश का ज्यादातर हिस्सा प्रौद्योगिकी क्षेत्र में आया है।

नयी दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शुक्रवार को कहा कि कोविड-19 के चुनौतीपूर्ण समय में भी भारत में रिकॉर्ड निवेश हुआ। उन्होंने जोर दिया कि दुनिया भारत को एक भरोसेमंद और उभरते हुए भागीदार के रूप में देखती है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने ‘आईआईटी 2020 ग्लोबल समिट’ को संबोधित करते हुए कहा कि उनकी सरकार ‘‘सुधार करने, कार्य करने और बदलाव करने’’ के सिद्धांत को लेकर पूरी तरह से प्रतिबद्ध है। उन्होंने कहा, कोई भी क्षेत्र सुधारों से वंचित नहीं रहा है। कृषि, परमाणु ऊर्जा, रक्षा, शिक्षा, स्वास्थ्य सेवा, बुनियादी ढांचा, वित्त, बैंकिंग, कराधान और यह सूची जारी है। 44 केंद्रीय कानूनों को सिर्फ चार संहिताओं में समाहित करते हुए हम श्रम क्षेत्र में व्यापक सुधार लाए हैं।’’

प्रधानमंत्री ने कहा कि कोविड-19 के इस चुनौतीपूर्ण समय में भारत में रिकॉर्ड निवेश हुआ और इस निवेश का ज्यादातर हिस्सा प्रौद्योगिकी क्षेत्र में आया है। उन्होंने कहा, ‘‘स्पष्ट तौर पर दुनिया हमें भरोसेमंद और उभरते हुए भागीदार के तौर पर देख रही है।’’ प्रधानमंत्री ने कहा कि भारत बदलावों का गवाह बन रहा है। उन्होंने कहा, ‘‘जिन चीजों के बारे में हमने कभी सोचा भी नहीं था, वे काम अब तेजी से पूरे हो रहे हैं।





नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।


धान बेचकर राजस्थान से लौट रहे श्योपुर जिले के पांच किसानों की सड़क हादसे में मौत

  •  दिनेश शुक्ल
  •  दिसंबर 4, 2020   23:02
  • Like
धान बेचकर राजस्थान से लौट रहे श्योपुर जिले के पांच किसानों की सड़क हादसे में मौत
Image Source: Google

सड़क हादसों में लोगों की जान जाने का सिलसिला विगत दिनों से श्योपुर जिले में बरकरार बना हुआ है। अभी गत दिवस आवदाडेम के पास हुए सड़क हादसे में जहां पति-पत्नी की मौत के साथ ही 11 लोग घायल हो गए।

श्योपुर। मध्य प्रदेश के श्योपुर जिले के निवासियों की  गुरूवार-शुक्रवार की दरम्यानी रात कोटा से धान बेचकर लौट रहे पांच किसानों की मौत हो गई। जानकारी के मुताबिक कोटा जिले के दीगोद थाना क्षेत्र के अन्तर्गत आने वाले उम्मेदपुरा के पास बोलेरो एक वाहन को बचाने के दौरान अनियंत्रित होकर नहर के ड्रेन में जा गिरी, रफ्तार अधिक होने के कारण बोलेरो में सवार पांच किसानों की मौत हो गई, वहीं तीन लोग गंभीर रूप से जख्मी हो गए। सड़क हादसों में लोगों की जान जाने का सिलसिला विगत दिनों से श्योपुर जिले में बरकरार बना हुआ है। अभी गत दिवस आवदाडेम के पास हुए सड़क हादसे में जहां पति-पत्नी की मौत के साथ ही 11 लोग घायल हो गए।

इसे भी पढ़ें: एक करोड़ के गांजे के साथ पांच अंतर्राज्यीय तस्कर गिरफ्तार

वही बुलेरो पलटने की खबर दीगोद थाना पुलिस की लगी तो वे मौके पर पहुंचे, जांच के बाद पाया गया कि मृतकों में से चार लोग जैनी एवं एक व्यक्ति ज्वालापुर गांव का निवासी है। वहीं इस सड़क हादसे में बीरबल पुत्र मोतीलाल उम्र कल्याण पुत्र मोतीलाल, चतर सिंह पुत्र गोपीलाल जाति मीणा निवासीगण जैनी घायल हो गए हैं। तो श्योपुर तहसील के ग्राम जैनी निवासी रामवीर (32) पुत्र बाबूलाल मीणा, हनुमान (35) पुत्र बाबूलाल मीणा, मांगीलाल उर्फ मामा (52) पुत्र रामनाथ मीणा, अजय (17) पुत्र रामभरत मीणा सभी निवासी ग्राम जैनी एवं जगदीश पुत्र राम किशन सुमन निवासी ज्वालापुर कोटा मण्डी में धान बेचकर वापस घर लौट रहे थे। राजस्थान के ग्राम उम्मेदपुरा थाना दीगोद के क्षेत्र में श्योपुर तहसील के ग्राम जैनी के 05 व्यक्तियों की सड़क दुर्घटना में हुई मृत्यु के परिवारों को रेडक्रॉस सोसायटी द्वारा 10-10 हजार रुपये की आर्थिक सहायता स्वीकृत की गई है। 

इसे भी पढ़ें: चिटफंड कंपनियों और उर्वरकों की कालाबाजारी पर सख्त कार्यवाही, जिला प्रशासन ने करवाई एफआईआर दर्ज

जिला कलेक्टर राकेश कुमार श्रीवास्तव ने बताया कि श्योपुर तहसील के ग्राम जैनी के रामवीर मीणा आयु 32, हनुमान आयु 35, मांगीलाल आयु 52, अजय आयु 17 और जगदीश सुमन निवासी ज्वालापुरा की मृत्यु कोटा से लौटते वक्त थाना दीगोद के क्षेत्र में ग्राम उम्मेदपुरा के पास बुलेरो गाडी पलट से हो गई थी। जिसमें मौके पर ही 04 व्यक्तियों की मृत्यु हो गई। जिनका सुल्तानपुर में पीएम कराया गया है। एक व्यक्ति की इलाज के कोटा एमबीएसएच में मृत्यु हो गई। इस प्रकार से सडक दुर्घटना में 05 व्यक्तियों की मृत्यु होने पर मृतकों के परिजनों को रेडक्रॉस के माध्यम से 10-10 हजार रुपये की आर्थिक सहायता स्वीकृत की गई।





नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।


एक करोड़ के गांजे के साथ पांच अंतर्राज्यीय तस्कर गिरफ्तार

  •  दिनेश शुक्ल
  •  दिसंबर 4, 2020   22:45
  • Like
एक करोड़ के गांजे के साथ पांच अंतर्राज्यीय तस्कर गिरफ्तार
Image Source: Google

पुलिस ने इनसे 100 किलो 185 ग्राम गांजा जब्त किया, जिसकी अंतरराष्ट्रीय कीमत एक करोड़ रुपए हैं। पुलिस ने स्विफ्ट कार, 5 मोबाइल और 30 हजार रुपये भी जब्त किए।

इंदौर। नशे के सौदागरों पर एक बार फिर एसटीएफ की टीम ने शिकंजा कसते हुए पांच अंतरराज्यीय तस्करों को गिरफ्त में लेकर इनके पास से करीब एक करोड़ रुपये कीमत का एक क्विंटल से अधिक अवैध गांजा बरामद किया है। आरोपित सेंधवा से किसी को गांजा देने के लिए निकले थे और रास्ते में पकड़ा गए। एसटीएफ एसपी मनीष खत्री ने शुक्रवार को बताया कि मुखबिर से सूचना मिली थी कि एक स्विफ्ट कार एमएच 04 डीआर 1910 सेंधवा से इंदौर के लिए निकली हैं, जिसमें बड़ी मात्रा में अवैध रुप से गांजा रखा है। ये किसी बदमाश को इंदौर में गांजा सप्लाय करने वाले हैं। इस सूचना के बाद एक टीम को उक्त कार की घेराबंदी के लिए लगाया गया। टीम ने घेराबंदी कर कार पकड़ी, तलाशी में कार से एक क्विंटल से अधिक गांजा जब्त हुआ। पुलिस ने पांच बदमाशों को पकड़ा।

इसे भी पढ़ें: चिटफंड कंपनियों और उर्वरकों की कालाबाजारी पर सख्त कार्यवाही, जिला प्रशासन ने करवाई एफआईआर दर्ज

ये तस्कर आए गिरफ्त में पूछताछ में बदमाशों ने अपना नाम शिवाजी पावरा पुत्र बिश्या पावरा निवासी ग्राम लाकड़िया हनुमान थाना सांगवी धुले महाराष्ट्र, अश्विन पावरा पुत्र लक्ष्मण पावरा निवासी ग्राम दुरबड़िया सांगवी धुले महाराष्ट्र, अविनाश पुत्र सुरेश पावरा निवासी ग्राम सुले सांगवी धुले महाराष्ट्र, सुमित जमरा पुत्र भुरसिंह जमरा निवासी चर्च कॉलोनी, एबी रोड़ सेन्धवा बड़वानी और अक्षय पुत्र हिम्मत आर्य निवासी ग्राम दुगानी वरला वरला बड़वानी बताया। पुलिस ने इनसे 100 किलो 185 ग्राम गांजा जब्त किया, जिसकी अंतरराष्ट्रीय कीमत एक करोड़ रुपए हैं। पुलिस ने स्विफ्ट कार, 5 मोबाइल और 30 हजार रुपये भी जब्त किए।

इसे भी पढ़ें: कोयला के अवैध परिवहन कर्ताओं के विरुद्ध हुई कार्रवाई

पुलिस अधीक्षक खत्री ने बताया कि मुखबिर से सूचना मिली थी कि दो लड़के एक माह से हर सप्ताह गांजा लेकर इंदौर आ रहे हैं। इस सूचना के बाद निरीक्षक एम.ए. सैयद, निरीक्षक संजय बघेल, प्रधान आरक्षक झनक लाल, आर. प्रशांत परिहार, आर विवेक द्विवेदी को जांच पड़ताल के लिए लगाया गया। इस पर टीम को सूचना मिली कि एक कार में कुछ लोग गांजा सप्लाय करने के लिए आ रहे हैं। इसके बाद ही उक्त कार्रवाई की गई।

इसे भी पढ़ें: किसानों की बेहतरी के लिए समर्पित शिवराज सरकार, गुमराह कर रही कांग्रेसः विष्णुदत्त शर्मा

उन्होंने बताया कि आरोपित शिवाजी पावरा महाराष्ट्र, मध्य प्रदेश, गुजरात, आदि राज्यों में बड़े पैमाने पर गांजे की सप्लाय उसके गाव के ही अविनाश पावरा, सुमित व अक्षय के माध्यम से करता है। शिवाजी स्वयं गांजा की खेती अपने गांव के पास दुरस्त दुर्गम स्थान में करता है। साथ ही वह अन्य लोगों से भी करवाता है। वह कई बार खरगोन एवं बडवानी जिले के लोगों से गांजा लेकर सप्लाय करवाता है। आरोपितों को न्यायालय में पेश किया गया, जहां से इन्हें 9 दिसम्बर तक पुलिस रिमांड पर सौंपा है।





नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।